179 Views

उसकी तल्खी में हुआ कैसा तरन्नुम पैदा उसने गुस्से में मेरा ख़त चबा लिया होगा