रायपुर। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में रविवार को नक्सलियों से मुठभेड़ में दो जवान शहीद हो गए। सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच करीब पांच घंटे तक मुठभेड़ चली, जिसमें दो जवान शहीद हो गए और छह जवान घायल हो गए। इस मुठभेड़ में एक नक्सली भी मारा गया।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में रविवार को नक्सलियों से मुठभेड़ में दो जवान शहीद हो गए। सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच करीब पांच घंटे तक मुठभेड़ चली, जिसमें दो जवान शहीद हो गए और छह जवान घायल हो गए। इस मुठभेड़ में एक नक्सली भी मारा गया।


पुलिस ने बताया - नक्सलियों ने सुबह 11 बजे सड़क निर्माण की सुरक्षा में लगे जवानों पर घात लगा कर हमला किया। दोनों ओर से करीब पांच घंटे तक गोलीबारी हुई। इससे पहले नक्सलियों के एक गुट ने भेज्जी इलाके में सड़क निर्माण से जुड़े एक अधिकारी और कंपनी के एक कर्मचारी की गोली मारकर हत्या कर दी और करीब एक दर्जन गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया।


नक्सल विरोधी अभियान से जुड़े पुलिस अधिकारी डीएम अवस्थी ने इस घटना की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ सुबह 11 बजे शुरू हुई और पांच घंटे तक चई। एसटीएफ और डीआरजी का एक एक जवान शहीद हो गया। इनके नाम कांस्टेबल मड़कम हंदा और मुकेश कड़ती बताए गए हैं। मुठभेड़ में छह जवान भी जख्मी हुए हैं। इनमें से तीन की हालत गंभीर बनी हुई है। जवानों को इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से रायपुर भेजा गया है।


नक्सलियों के एक गुट ने सुकमा जिले में भेज्जी में जवानों पर हमला किया। यहां से चिंतागुफा के बीच सड़क बनाने का काम चल रहा है। सीआरपीएफ और पुलिस के जवान इसकी सुरक्षा में लगे हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक- नक्सली सड़क बनाने में लगे मजदूरों को बंधक बनाना चाह रहे थे। वे रोड बनाए जाने का विरोध कर रहे हैं। नक्सलियों ने हमले के दौरान कंपनी के मैनेजर और कर्मचारी को गोली मारी।