पीएम मोदी ने बैंकों को दी कड़े नियम बनाने की सलाह,प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि उनकी सरकार देश में आर्थिक अनियमितताओं के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है और आगे भी उठाएगी. साथ ही प्रधानमंत्री ने वित्तीय संस्थानों को और अधिक निष्ठा के साथ निगरानी का दायित्व निभाने की नसीहत भी दी.


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि उनकी सरकार देश में आर्थिक अनियमितताओं के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है और आगे भी उठाएगी. साथ ही प्रधानमंत्री ने वित्तीय संस्थानों को और अधिक निष्ठा के साथ निगरानी का दायित्व निभाने की नसीहत भी दी.  

  

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के बाद इस मुद्दे पर पीएम मोदी पहली बार बोले.पीएम मोदी ने कहा कि जिन वित्तीय संस्थानों को निगरानी और मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई है, वह पूरी ईमानदारी के साथ अपनी ज़िम्मेदारी निभाएं.  

  

हालांकि प्रधानमंत्री ने पीएनबी घोटाले या किसी भी अन्य आर्थिक अनियमितता के मामले का अपने संबोधन में सीधे ज़िक्र नहीं किया लेकिन उनका संकेत स्पष्ट रूप से इन मामलों से संबंधित मालूम दे रहा था.  

  

शुक्रवार की शाम प्रधानमंत्री मोदी एक आर्थिक समाचारपत्र के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे. इसी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने अपने ये विचार रखे. प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि ये सरकार आर्थिक विषयों से संबंधित अनियमितताओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई कर रही है, करेगी और करती रहेगी. जनता के पैसे का अनियमित अर्जन, इस सिस्टम को स्वीकार नहीं होगा.  

  

उन्होंने वित्तीय संस्थाओं को नसीहत देते हुए कहा 'एक अपील मैं ये भी करना चाहता हूं कि विभिन्न वित्तीय संस्थाओं में नियम और नीयत यानि एथिक्स बनाए रखने का दायित्व जिन्हें दिया गया है वो पूरी निष्ठा से अपना कर्तव्य निभाएं. विशेषकर जिन्हें निगरानी और मॉनीटरिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई है.'