वरिष्ठ अधिवक्ता एनपी सिंह पुनः बने BVM के लोकपाल

वरिष्ठ अधिवक्ता एनपी सिंह पुनः बने BVM के लोकपाल

झारखण्ड राज्य के पलामू जिलाध्यक्ष बने संतोष पासवान अधिवक्ता

प्रमंडलीय प्रभारी बने नितिन पाण्डेय अधिवक्ता

नई दिल्ली। भ्रष्टाचार विरोधी मोर्चा की एक बैठक कचहरी परिसर में हुई। बैठक में राष्ट्रीय महासचिव संजय पाण्डेय अधिवक्ता सह पत्रकार ने प्रधान कार्यालय से निर्गत लोकपाल का नियुक्ति पत्र वरिष्ट अधिवक्ता नागेन्द्र प्रसाद सिंह को सौंपा। लोकपाल के हाथों पलामू के पूर्व जिलाध्यक्ष नितिन कुमार पांडेय को प्रदेश कमिटी में सचिव सह प्रमंडलीय प्रभारी, पलामू ज़िला अध्यक्ष पद पर संतोष कुमार पासवान अधिवक्ता व आनंद कुमार को सदस्य सोशल मीडिया का मनोनीत पत्र दिया गया।  बैठक में राष्ट्रीय महासचिव संजय पाण्डेय ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप दुबे अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार संमय-संमय पर कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि सभी पदाधिकारी गण व सदस्य अनुशासन में रहकर कार्य करेंगे। इसके अधिकांश पदाधिकारी व सदस्य वकील व समाजसेवी हैं। संजय पाण्डेय ने कहा कि देश के 10 राज्यों में संगठन काफी सक्रिय रूप से कार्य कर रहा है। वर्ष 2019 में नई दिल्ली, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़ व गुजरात में प्रशिक्षण शिविर सह सेमिनार का आयोजन किया जाएगा। लोकपाल एनपी सिंह ने कहा कि झारखण्ड प्रदेश के पांच प्रमंडलों के प्रभारी नियुक्त किये जा चुके हैं। अधिकांश जिलों के अध्यक्ष नियुक्त किये जा चुके हैं। उन्हें उम्मीद है कि पलामू प्रमंडल में सशक्त संगठन का स्वरूप जल्द ही दिखना शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रमंडलीय प्रभारी नितिन पाण्डेय अधिवक्ता की अनुशंसा पर तीन जिलों के जिला अध्यक्ष नियुक्त किये जा चुके हैं। यहां पर आने वाले समय में यहां शीघ्र ही प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जाएगा। प्रभारी नितिन पाण्डेय ने कहा कि प्रमंडल के पंचायत स्तर तक संगठन को सशक्त किया जाएगा। जिलाध्यक्ष पंचायत स्तर से कार्य करना शुरू करेंगे। लोगों में जागरूकता पैदा करना संगठन का मुख्य मकसद है। नवनियुक्त पलामू ज़िला अध्यक्ष संतोष पासवान अधिवक्ता ने कहा कि उनपर जो ज़िम्मेदारी सौंपी गई है, पूरा प्रयास करेंगे कि यहां संगठन सशक्त हो, इसके लिए वे वर्ष 2019 में एक कार्यशाला आयोजित करेंगे जिसमे राष्ट्रीय टीम के पदाधिकरियों को आमंत्रित करेंगे। मौके पर दीपक कुमार, विक्रम त्रिपाठी, ओमकार तिवारी, ज्ञानू जी, जितेंद्र तिवारी, अजय पाण्डेय, अनिल कुमार, प्रदीप कुमार सभी अधिवक्ता सहित कई सदस्य उपस्थित थे।