भाजपा के किले में क्या सेंध लगा पाएंगे दिग्गी राजा, क्या भोपाल लोकसभा सीट पर कांग्रेस कब्ज़ा कर पाएगी।

भाजपा के किले में क्या सेंध लगा पाएंगे दिग्गी राजा, क्या भोपाल लोकसभा सीट पर कांग्रेस कब्ज़ा कर पाएगी।

शेख नसीम.                                                भोपाल 2019 के लोकसभा चुनाव धमाकेदार होने वाला हैं ये तो तय बात हैं लेकिन मध्य प्रदेश की सबसे चर्चित लोकसभा सीट भोपाल इस समय चर्चा का विषय बनी हुई है। यहाँ से कांग्रेस हाई कमान ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को चुनावी मैदान में उतारकर भाजपा ख़ेमे में हलचल मचा दी हैं।मध्य प्रदेश की राजनीति में चाणक्य समझ रखने वाले दिग्विजय सिंह भोपाल लोकसभा सीट से चुनावी समर में उतर रहे हैं। भोपाल लोकसभा सीट पर पिछले 30 वर्षो से भारतीय जनता पार्टी ने कब्ज़ा करके रखा हैं। भोपाल लोकसभा सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती हैं। कांग्रेस ने भी भोपाल सीट पर अपने तरकश में से दिग्विजय रुपी तीर निकालकर भाजपा के किले को भेदने के लिए निशाना लगा दिया हैं। जहाँ कांग्रेस कार्यकर्ताओ में भोपाल से दिग्विजय सिंह को लड़ाने पर ख़ुशी और उत्साह हैं वही भाजपा में हलचल मची हुई हैं। 

अब भारतीय जनता पार्टी को भोपाल सीट बचाने के लिए एड़ी छोटी का जोर लगाते हुए पूरी ताकत लगाना पड़ेगी। क्योंकि पिछले 30 वर्षो से कांग्रेस भोपाल से कोई दमदार प्रत्याशी नहीं उतार पाई थी। लिहाज़ा भाजपा ने भोपाल सीट आसानी से जीतते हुए 30 वर्षो से कब्ज़ा करके रखा हैं। पर अब भोपाल के चुनावी मैदान पर दिग्विजय सिंह जैसा दमदार पहलवान आ गया हैं। और भाजपा के लिए इस पहलवान को पटखनी देना आसान नहीं हैं। भारतीय जनता पार्टी के लिए भोपाल लोकसभा सीट प्रतिष्ठा का विषय बन गई हैं। और भोपाल सीट पर कब्ज़ा बरकरार रखने की चुनोती भी हैं। जो भाजपा के लिए आसान नहीं हैं।