आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मानसिक रोग पहचान का प्रशिक्षण

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का हुआ मानसिक रोग पहचान पर प्रशिक्षण

     कैसे होती है मानसिक रोगी की पहचान 

    कैसे मिलेगा मानसिक स्वास्थ्य का निशुल्क लाभ

बिलासपुर 26 मार्च 2019। राज्य मानसिक स्वास्थ्य चिकित्सालय बिलासपुर के तत्वावधान में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता एवं पहचान हेतु एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन सेंद्री स्थित राज्य मानसिक स्वास्थ्य चिकित्सालय बिलासपुर के प्रशिक्षण कक्ष में किया गया ।

प्रशिक्षण कार्यक्रम की अध्यक्षता अधीक्षक राज्य मानसिक स्वास्थ्य चिकित्सालय बिलासपुर के अधीक्षक डा. बी.आर.नंदा के द्वारा की गई। प्राशिक्षक के तौर पर मनोवैज्ञानिक एव प्रशिक्षक सोशल वर्कर प्रशांत रंजन पांडेय, क्लीनिकल मनोवैज्ञानिक एवं प्रशिक्षण नीरज शुक्ला, कम्युनिटी नर्स सह केस मैनेजर एंजलीना वी. लाल ने मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता एवं पहचान पर प्रशिक्षण दिया।

राज्य मानसिक स्वास्थ्य चिकित्सालय बिलासपुर के अधीक्षक डा. बी.आर.नंदा ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप जब भी किसी प्रशिक्षण में कहीं भी प्रशिक्षण लेने जाएं वहां ज्यादा से ज्यादा सवाल करें ताकि आपके ज्ञान में वृद्धि हो ओर आप एक अच्छे प्रशिक्षक के साथ‌‌‌-साथ एक सफल ज़मीनी कार्यकर्ता बने।

मनोवैज्ञानिक एवं प्रशिक्षक सह सोशल वर्कर प्रशांत रंजन पांडे ने मानसिक रोगी की पहचान हेतु सामान्य व्यवहार में आए बदलाव के लक्षणों पर प्रकाश डाला, उन्होंने बताया कि मानसिक स्वास्थ्य के रोगी की पहचान कैसे करते है, उसका चिकित्सालय मे कैसे उपचार करवाया जा सकता है ।क्लीनिकल मनोवैज्ञानिक एवं प्रशिक्षक नीरज शुक्ला ने आंगनबाड़ी  कार्यकर्ताओं को बताया कि मानसिक रोगी की पहचान उपचार कैसे होगा उसकी देखभाल कैसे होगी,  उसकी देखभाल के लिए परिवार के सदस्यो को क्या-क्या करना होगा, उसे सरकार द्वारा क्या-क्या सुविधाएं निशुल्क प्राप्त होगी।

कम्युनिटी नर्स सह केस मैनेजर एंजलीना वी. लाल ने मानसिक रोग पहचान करके क्या प्रक्रिया कि जायेगी, मानसिक रोगी को कैसे चिकित्सालय से जोड़ा जाता है। उसके परिवार उसकी किस प्रकार उसकी देखभाल के लिए प्रेरित किया जाता है ।

इस प्रशिक्षण में सेंद्री सेक्टर की 30 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया गया प्रशिक्षण को सफल बनाने में ट्रेंड जनरल नर्स अखिलेश डेविड का विशेष योगदान रहा ।