211 Views

झारखंड राज्य के कुड़मियों को मिलेगा एसटी का दर्जा- अर्जुन मुंडा

झारखंड राज्य के कुड़मियों को मिलेगा एसटी का दर्जा- अर्जुन मुंडा

मोदी कैबिनेट में जनजातीय मंत्रालय का प्रभार ग्रहण करने के बाद अर्जुन मुंडा ने कहा कि झारखंड के कुड़मियों को विधानसभा चुनाव के पहले एसटी का दर्जा दे दिया जाएगा। अगर ऐसा नहीं हो पाता है तो विधानसभा चुनाव में कुड़मियों के बीच वोट मांगने नहीं जाऊंगा। उन्होंने कहा कि कुड़मियों का यह मांग आजादी के बाद से ही रहा है, परंतु कांग्रेस की सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया। मेरे मुख्यमंत्री के कार्यकाल में मैंने अनुशंसा केंद्र को भेज दी थी लेकिन जनजातीय मंत्रालय के नकारात्मक रवैये से यह काम नहीं हो पाया था, अभी मैं इस मंत्रालय में आया हूं तो इस काम को 4 माह के अंदर में निपटा लूंगा। आदिवासियों के विरोध पर उन्होंने कहा कि झारखंड में संचालित इसाई मिशनरियां कुड़मियों का विरोध कर रही हैं,वे चाहती हैं कि ईसाइयों की तरह कुड़मियों को भी दोहरा लाभ ना मिले। इसके अलावे पूर्व में वैसे लोगों ने इसका विरोध किया था जो अभी सत्ता के शीर्ष पर बैठे हुए हैं। उनका तर्क था कि कुड़मियों को एसटी में शामिल होने से उनका जमीन औद्योगिकरण के लिए आसानी से नहीं लिया जा सकता है।

मैं हमेशा से कुड़मियों का शुभचिंतक रहा हूं और उनकी मांग को इस बार जरूर पूरा करूंगा। ऐसा नहीं कर पाने पर कुड़मी समुदाय के लोग 2014 के परिणाम को दोहरा सकते हैं, मुझे इसमें कोई आपत्ति नहीं होगी।

इसके अलावे घटवार जाति को भी एसटी की सूची में शामिल करने के लिए प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी। झारखंड में जिसको जितना हक अधिकार मिलना चाहिए, उतना हम देने के लिए तैयार है।

शपथ ग्रहण समारोह के उपरांत धनबाद से अधिवक्ता वीरेंद्र नाथ महतो की अध्यक्षता में दिल्ली गई हुई है प्रतिनिधिमंडल को मुंडा ने उपरोक्त बातें कही है।