207 Views

रांची में बने लॉन्चिंग पैड से चांद पर पहुंचा चंद्रयान अपनी रांची के HEC ने बनाया चंद्रयान-2 का लांचिंग पैड..

रांची में बने लॉन्चिंग पैड से चांद पर पहुंचा चंद्रयान अपनी रांची के HEC ने बनाया  चंद्रयान-2 का लांचिंग पैड.. 

इसरो ने जिस लांचिंग पैड से चंद्रयान टू का प्रक्षेपण किया उसका निर्माण हेवी इंजीनियरिंग लिमिटेड (एचईसी)  ने किया है। इस जटिलतम लांटिंग पैड के निर्माण में एचईसी को छह माह से अधिक समय लगा था। लांचिंग पैड का निर्माण नौ चरणों में किया गया है। एचईसी में बने लांचिंग पैड से ही चंद्रयान वन और अन्य उपग्रहों का प्रक्षेपण इसरो कर रहा रहा है। 

एचईसी के अधिकारियों के अनुसार यह काफी चुनौती भरा टास्क था। इसका डिजाइन तैयार करने से लेकर हर कदम  पर गुणवत्ता बनाये रखने में काफी कठिनाईयो का सामना  करना पड़ा है। इसरो ने हर तरह की जांच के बाद उपकरणों की गुणवत्ता पर संतुष्टि जाहिर की थी। 

  • 80 मीटर की ऊंचाई पर लगा है क्रेन

लांचिंग पैड की ऊंचाई  करीब 80 फीट है। पैड के सबसे ऊपर 10 टन क्षमता का क्रेन लगा है। इस जटिलतम क्रेन का निर्माण एचईसी ने किया है। 80 मीटर की ऊंचाई से यह उपग्रह को खींच कर उसके निर्धारित स्थान तक स्थापित करता है। होरिजेंटल डोर की ऊंचाई 47 मीटर है जो कि उपग्रह को तेज तूफान में भी सुरक्षित रखता है। 

  • इसरो से एचईसी को एक और कार्यादेश मिला है। इसरो ने अपने पीएसएलवी प्रोजेक्ट के लिए कई उपकरणों के निर्माण का कार्यादेश दिया है। इसमें फोल्डिंग प्लेटफॉर्म और होरिजेंटल स्लाइडिंग डोर प्रमुख हैं।