64 Views

कुर्बानी का त्यौहार ईद उल अज़ा देशभर में अक़ीदत और हर्षोउल्लास से मनाया गया।


भोपाल हज़रत इब्राहिम अलै. की यादगार ईद उल अज़ा ( कुर्बानी) का त्योहार राजधानी भोपाल के साथ साथ देशभर में अक़ीदत और हर्षोउल्लास के साथ मनाया जा रहा हैं।इस्लामी कैलेंडर के हर साल हज के महीने की 10वी ज़िल्हिज़्ज़ा की तारीख को हज़रत इब्राहिम अलै. की याद में अल्लाह की तरफ से हर साहिबे निसाब पर जानवर की कुर्बानी करना वाजिब हैं कुर्बानी के जानवरों में उमूमन ऊंट,दुम्बा,भेड़, बकरा,बोदा और पड़े की कुर्बानी की जाती हैं।आज सुबह से ही राजधानी भोपाल की ईदगाह में हज़ारों मुस्लिमो ने पहुँचकर ईद उल अज़ा की दोगाना वाजिब नमाज़ अदा की भोपाल शहरकाज़ी सै. मुश्ताक़ अली नदवी ने ईदगाह में ईद उल अज़ा की नमाज़ अदा करवाई ईद की नमाज़ ईदगाह में 7 बजे हुई। इसके अलावा भोपाल की विभिन्न मस्ज़िदों में भी मुस्लिम समाज के लोगो ने नमाज़ अदा की। नमाज़ अदा करने के बाद मुस्लिम समाज के लोगो ने आपस मे गले मिलकर ईद की मुबारकबाद दी। इसके बाद जानवर की कुर्बानी का सिलसिला शुरू हुआ जो लगातार तीन दिनों तक चलेगा।राजधानी भोपाल में नगर निगम ने सफाई व्यवस्था के उचित इंतज़ाम किए हैं हर जगह कचरा डालने वाले कंटेनर रखवाए गए और पानी की सुचारू व्यवस्था करके हर इलाके में अस्थाई कुर्बान-गाह ( पशु-वध ) बनाए ताकि मुस्लिम समाज के लोगो को जानवर की कुर्बानी करने में किसी किस्म की कोई परेशानी न हो।इसी तरीके से राजधानी भोपाल में बकरो का मार्केट सुभाष नगर,जहांगीराबाद,बुधवारा, करोंद,भानपुर और गांधी नगर में लगाए गए थे बकरा मार्केट में 15 हज़ार से लेकर 50 हज़ार तक के बकरे उपलब्ध थे सबने अपनी अपनी हैसियत के मुताबिक बकरा खरीद कर कुर्बानी की और जिसकी गुंजाइश नही थी उन्होंने कुर्बानी के बड़े जानवर में अपना हिस्सा लेकर अपनी कुर्बानी के फ़र्ज़ की अदायगी की।