तीन राज्यों के चुनाव को लेकर सख्त हुए मोदी, कर सकते हैं बड़े बदलाव

तीन राज्यों के चुनाव को लेकर सख्त हुए मोदी, कर सकते हैं बड़े बदलाव


भले ही अभी त्रिपुरा, मेघालय और कर्नाटक के विधानसभा चुनाव पर लोगों की नजरें हों लेकिन बीजेपी ने इस साल के अंत में होने वाले तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी इन तीन राज्यों को इसलिए गंभीरता से ले रही है, क्योंकि इन तीनों ही राज्यों में बीजेपी की लंबे समय से सरकार है और इन चुनावों के बाद सीधे लोकसभा चुनाव होंगे। ऐसे में पार्टी की चिंता यह है कि इन तीन राज्यों में चुनावी नतीजे बीजेपी के खिलाफ न जाएं, वरना इसका सीधा असर लोकसभा चुनाव पर पड़ सकता है।   

  

पार्टी सूत्रों का कहना है कि पार्टी नेताओं की चिंता कर्नाटक से ज्यादा साल के अंत में मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों की है। यही वजह है कि अब पार्टी इन राज्यों के लिए संगठन में बदलाव भी कर सकती है। पार्टी नेताओं का मानना है कि ये तीनों राज्यों की स्थिति लगभग गुजरात वाली ही है, जहां पार्टी की साख दांव पर है। यही वजह है कि पार्टी अब इन राज्यों के लिए अपने संगठन में कुछ बदलाव कर सकती है।   

  

पार्टी सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय नेतृत्व फिलहाल चाहता है कि इन तीनों ही राज्यों में सरकार और संगठन के बीच तालमेल और बेहतर हो ताकि जिन कमियों को महसूस किया जा रहा है, उन्हें राज्य सरकारें वक्त रहते दुरुस्त करें। इसके अलावा पार्टी इन तीनों राज्यों में न सिर्फ सरकार के कामकाज बल्कि विधायकों के बारे में सर्वे करा रही है ताकि जिन क्षेत्रों में पार्टी की स्थिति कमजोर हो, वहां अभी से काम शुरू कर दिया जाए।