पुलिस ने छापा मारकर पकड़ी 6 लाख की अवैध शराब, आरोपी पिता-पुत्र को भेजा जेल

अंबिकापुर। आईजी रतनलाल डांगी के सख्त निर्देश के बाद नशे के अवैध कारोबारियों के खिलाफ  सरगुजा पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। इसी कड़ी में दरिमा पुलिस ने दीपावली से एक रात पहले उच्चाधिकारियों के साथ एक तस्कर के घर व दुकान में छापा मारकर 6 लाख रुपए की महंगी व ब्रांडेड शराब जब्त की है। मामले में पुलिस ने पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस की इस कार्रवाई पर सवाल भी उठ रहे हैं। बताया जा रहा है कि एडिशनल एसपी द्वारा मामले को दबाने की कोशिश की गई लेकिन सेटिंग विफल रही। वहीं कार्रवाई में महंगी शराब की कुछ पेटियों भी दर्शाया नहीं गया है। इससे पुलिस महकमे पर तरह-तरह के सवाल उठ रहे हैं।
13 नवंबर को दरिमा पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम करजी निवासी विनोद जायसवाल पिता मितल जायसवाल द्वारा अवैध अंग्रेजी शराब की बिक्री की जा रही है। वहीं भारी मात्रा में उसने शराब बेचने के लिए घर व दुकान में छिपाकर रखी है। आईजी के निर्देश व एसपी के मार्गदर्शन में एएसपी, सीएसपी व एसडीओपी ग्रामीण की टीम ने दरिमा पुलिस के साथ विनोद जायसवाल के घर व दुकान में छापा मारा। इस दौरान 6 लाख रुपए की अवैध अंग्रेजी शराब जब्त की गई। जब्त शराब में 11 पेटी गोवा शराब के अलावा ब्रांडेड सिमरन ऑफ, ब्लेंडर प्राइड, रेड लेवल, सिग्नेजर, वैट-39 सहित अन्य शराब मिलीं। वहीं शराब परिवहन में उपयोग की गई वैन क्रमांक सीजी 15 डीई 8759 को भी जब्त किया है। मामले में पुलिस ने आरोपी विनोद जायसवाल व उसके पुत्र सागर जायसवाल को गिरफ्तार कर शनिवार को न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया।
पुलिस महकमे पर उठ रहे कई सवाल
एडिशनल एसपी के नेतृत्व में की गई इस कार्रवाई में तरह-तरह के आरोप पुलिस महकमे पर लग रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस छापामार कार्रवाई के घंटों बाद तक रुपयों की लेन-देन की बात होती रही। जब मामाला नहीं जमा तो प्रकरण में अपराध पंजीबद्ध किए जाने की चर्चा है। ऐसे भी आरोप लग रहे हैं कि पुलिस ने मौके पर मिली शराब की पेटियों की संख्या कम बताई है। कार्रवाई में मौके से मिले महंगी शराब की पेटियों को दर्शाया नहीं गया है।