कमरे में आग लगने से राइस मिल के 4 कर्मचारी झुलसे, 1 की मौत

अंबिकापुर। शहर से लगे ग्राम सकालो में राइस मिल में काम करने वाले चार कर्मचारी धनतेरस की रात आग से गंभीर रूप से झुलस गए। सभी एक कमरे में गहरी नींद में सोए हुए थे।  राइस मिल का एक ऑपरेटर रात करीब एक बजे बाहर निकला तो देखा कि कमरे से धुआं निकल रहा है। वह दरवाजा तोड़कर चारों को बाहर निकाला और डायल ११२ की जानकारी दी। संजीवनी १०८ से सभी को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां इलाज के दौरान रविवार की रात एक की मौत हो गई। वहीं तीन युवकों का इलााज चल रहा है।
शहर के मुकुन्द केसरी का ग्राम सकालो में राज फ्लोर राइस मिल है। इस मिल में जशपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पंडरसीली के प्रेम कोरवा, विनोद, तुलसी व कलेश्वर काम करते हैं। धनतेरस के दिन गुरुवार की रात को खाना खाने के बाद चारों एक ही कमरे में सोए थे। रात करीब १ बजे राइस मिल का ऑपरेटर बाहर निकला तो कमरे से धुआं निकल रहा था। उसने कमरे के पास आकर कर्मचारियों को आवाज लगाई तो अंदर से एक कर्मचारी ने बचाने हेतु आवाज लगाई। इसके बाद ऑपरेटर ने मिल मालिक मुकुन्द केसरी को मोबाइल से जानकारी थी। मिल संचालक के कहने पर ऑपरेटर ने अन्य कर्मचारियों के साथ मिलकर कमरे का दरवाजा तुड़वाया और कमरे के अंदर सो रहे चारों को बाहर निकला। चारों आग से गंभीर रूप से जल चुके थे। डायल ११२ की मदद से चारों कर्मचारियों को इलाज के लिए मेडकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया और घटना की जानकारी इनके परिजनों को दी गई। यहां इलाज के दौरान रविवार की रात पे्रम कोरवा की मौत हो गई। वहीं विनोद, तुलसी और कलेश्वर का इलाज चल रहा है।
शराब के नशे में थे चारो
आग कैसे लगी कमरे के अंदर सो रहे कर्मचारियों को कुछ पता नहीं चला। वे गहरी नींद में थे। इस मामले में मिल संचालक मुकुन्द केसरी ने बताया कि गुरुवार को सकालो में साप्ताहिक बाजार लगता है। यह वहीं से शराब लेकर आए थे और कमरे में ही खा-पीकर सोए थे। मिल संचालक ने आग लगने का कारण बताया कि शराब के दौरान लोगों ने बिड़ी, सिगरेट पी कर कमरे में फेंक दिया होगा उसी से आग लग गई। सभी जमीन में ही चटाई व प्लास्टिक का बोरा बिछाकर सोए थे।