फरियादियों के नहीं आने से जनता दरबार हुआ फ्लाॅप। अन्य खबरें भी ।

फरियादियों के नहीं आने से जनता दरबार हुआ फ्लाॅप

डालटनगंज, 5 दिसंबर: ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले आम लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ लेने में परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े, इसे लेकर सरकार की ओर से महीने में एक बार जनता दरबार का आयोजन प्रखंड मुख्यालय में करना है। साथ ही लाभुकों के मामलों का आॅन स्पाॅट निपटारा करने का स्पष्ट निर्देश दिया गया है। 

इसके ठीक उलट बुधवार को जिला मुख्यालय सदर प्रखंड परिसर में जनता दरबार लगा तो जरूर, लेकिन उचित प्रचार-प्रसार के अभाव में सुपर फ्लाॅप हो गया। पदाधिकारियों को छोड़कर ग्रामीण क्षेत्रों के एक भी लाभुक लगभग दो घंटा के इंतेजार के बाद भी नहीं पहुंच सके। पदाधिकारी लाभुकों के आने का बेसब्री से आसरा देखते रहें। अंत में दो घंटे की मशक्कत  के बाद जो तीन-चार लाभुक आये, उनके ही आवेदन लेकर जनता दरबार का समापन कर दिया गया।

प्रखंड परिसर के बाहर सरकारी तामझाम के साथ लगायी गयी कुर्सियां खाली रही। इससे पूर्व जनता दरबार का उदघाटन सदर सीओ और प्रखंड प्रमुख रीमा देवी ने संयुक्त रूप से किया। हालांकि खाली पड़ी कुर्सियों को देख कर सीओ ने भी अपनी नाराजगी प्रकट की। 

मौके पर मौजूद प्रमुख रीमा देवी ने जनता दरबार फ्लाॅप होने का ठीकरा सदर प्रखंड के पदाधिकारियों को माथे पर फोड़ा। उन्होंने कहा कि जनता दरबार मात्र खानापूर्ति का साधन भर बन कर रह गया है। नियम के तहत जनता दरबार आयोजन से कम से कम तीन चार दिन पूर्व ग्र्रामीण क्षेत्रों में व्यापक तौर पर प्रचार-प्रसार करना है, लेकिन सदर प्रखंड प्रशासन जनता दरबार से पूर्व किसी भी प्रकार का प्रचार-प्रसार नहीं करता है, जिससे प्रखंड के विभिन्न पंचायतों के लोगों को जनता दरबार के संबंध में पता नहीं होता है। 

उन्हांेने कहा कि वह तो मात्र रबर स्टाॅप बनकर रह गयी है। कोई पदाधिकारी उनकी सुनता ही नहीं है। कई बार जिला प्रशासन के पास शिकायत की, लेकिन कोई सार्थक परिणाम नहीं निकला है। 

मौके पर मेदिनीनगर ग्रामीण सीडीपीओ नीता चैहान, प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी रवींद्र सिंह, ब्लाॅक मैनेजर अभिषेक कुमार, जेपीएस रामकेश्वर राम, पंयायत समिति सदस्य सतीश कुमार तिवारी सहति अन्य मौजूद थे।

दिलीप कुमार, पलामू, 5.12.18 


         नौ लाख की लूट मामले में बाईक बरामद

डालटनगंज, 5 दिसम्बर: पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के जीएलए काॅलेज के पास से मंगलवार की दिनदहाड़े हुई 9.22 लाख रूपये लूट मामले में 24 घंटे से अधिक समय बीत जाने के बाद भी अपराधियों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है। बुधवार को कार्रवाई के दौरान लुटेरों द्वारा वारदात के बाद घटनास्थल से करीब 3 किलोमीटर दूर छोड़ी गयी मोटरसाइकिल बरामद की गयी है।  

सर्च अभियान के दौरान सदर थाना क्षेत्र के पोखराहा के इलाके से बाईक को बरामद किया गया। पुलिस मोटरसाइकिल को जब्त कर शहर थाना ले आई है। शहर थाना प्रभारी आनन्द कुमार मिश्रा ने बरामद मोटरसाइकिल अपराधियों के होने का दावा किया है। 

गौरतलब हो कि मंगलवार की शाम जब फाइनेन्स कंपनी के मैनेजर उपेन्द्र कुमार व एक कर्मी रुपया लेकर बाईक से बैंक में जमा करने जा रहे थे तो इसी दौरान पीछे से आए मोटरसाइकिल सवार अपराधियों मैनेजर की मोटरसाइकिल को धक्का मार कर उनके हाथ से रुपयों से भरा बैग छीन लिया था और भाग गये थे। 

घटना की सूचना मिलते एसपी इंद्रजीत महथा एवं डीएसपी प्रेमनाथ घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जानकारी लेते हुए अपराधियों को दबोचने के लिए पुलिस पदाधिकारियों को कई निर्देश दिये। आज अपराधियों को पकड़ने निकली पुलिस को बाईक बरामद हुआ है।