आखिर क्या है उपेंद्र कुशवाहा का कशमकश !

आखिर क्या है उपेंद्र कुशवाहा का कशमकश !

उपेंद्र कुशवाहा के द्वंद्व ने आज उन्हें मझधार में लाकर खड़ा कर दिया है. न तो एनडीए से उनका मोह भंग हो रहा है, और ना ही महागठबंधन में उन्हें लेकर कोई उत्साह दिख रहा है. कुशवाहा एक तरफ नीतीश पर हमलावर हैं तो दूसरी तरफ एनडीए से अलग होने के एलान से भी बच रहे हैं. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि उपेंद्र कुशवाहा की यह राजनीति क्या उनके मंसूबो को पूरा कर पाएगी या फिर इस खेल में कुशवाहा खुद फंसकर रह जाएंगे.

पटना-दिल्ली-पटना-दिल्ली की लगातार दौड़... और हर यात्रा के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस. अलग होने की धमकी के साथ नई तारीख का एलान. उपेंद्र कुशवाहा आजकल अपनी इसी रणनीति के साथ नई चालें चल रहे हैं. मगर कुशवाहा आज खुद अपनी रणनीतियों के भंवर जाल में फंसते दिख रहे हैं. ना एनडीए में सहज हैं और न ही महागठबंधन के खेमे में उन्हें महत्व मिल रहा है.