बेतला महोत्सव 15 से होगा शुरू , एक माह तक जिले में सांस्कृतिक गतिविधियों की रहेगी बहार , महोत्सव के दौरान कला के विभिन्न आयामों से जूड़े प्रतियोगिताओं का होगा आयोजन

                                               बेतला महोत्सव 15 से होगा शुरू,एक माह तक जिले में सांस्कृतिक गतिविधियों की रहेगी बहार

                                                    महोत्सव के दौरान कला के विभिन्न आयामों से जूड़े प्रतियोगिताओं का होगा आयोजन

मेदिनीनगर: बेतला महोत्सव समिति के तत्वावधान में बेतला महोत्सव का आयोजन इस बार 15 दिसम्बर से 20 जनवरी 2019 तक किया जाएगा। इसकी शुरूआत 15 दिसम्बर को पेंटिंग एवं नाटक प्रतियोगिता से की जाएगी। इसमें पलामू प्रमंडल के मेदिनीनगर, लातेहार एवं गढ़वा के अलावे आसपास के कई गांव और कस्बों के कई स्कूल भी बढ़-चढ़कर  हिस्सा ले रहे है। प्रतियोगिता के सफल नन्हें कलाकारों के लिए बेतला मंे दो दिन कला शिविर का आयोजन किया जाएगा। जिसमें बाहर से आने वाले दक्ष कलाकारों द्वारा नन्हें कलाकारों को कला की बारिकियों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह शिविर खास तौर पर बच्चों के कलात्मक विकास को बढ़ाने के लिए किया गया है। इसके अलावा काॅलेज के विद्यार्थियों के लिए लेखन प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी। जिसमें सफलता अर्जित करने वाले विद्यार्थियों के लेख को प्रकाशित किया जायेगा। यह जानकारी बेतला महोत्सव समिति के संयोजक राजेश पांडेय, इप्टा के सचिव उपेंद्र मिश्रा, पंकज श्रीवास्तव व अजीत पाठक ने संयुक्त रूप से पत्रकारों को दी है। बताया है कि 16 दिसम्बर को भित्ति चित्रण का आयोजन किया जायेगा। जिसमें शहर के छोटे-बड़े कलाकार अपने हुनर से शहर को रंगीन बनाने की कोशिश करेंगे। महोत्सव का मुख्य आयोजन 17 जनवरी को बेतला में एवं 19 तथा 20 जनवरी को मेदिनीनगर में किया जायेगा। बताया गया कि इस बेतला महोत्सव के आयोजन में चेस आर्ट फाउन्डेशन, इप्टा, नई संस्कृति सोसाईटी, कशिश आर्ट, करण प्रकाशन, अवार्ड संस्था, प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के साथ-साथ प्रेम भसीन, नैयर जमाल, वंदना श्रीवास्तव एवं आशा जी सहयोगी है। वक्ताओं ने कहा कि बेतला महोत्सव के पहले संस्करण की सफलता के बाद कलाकार एवं साहित्यकारों के आग्रह पर समिति द्वारा यह महोत्सव दूबारा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। यह महोत्सव कला एवं साहित्य का संगम है। जिसके माध्यम से कला के सभी क्षेत्र के कलाकारों को एक प्लेटफाॅर्म देने की कोशिश होती है। इस महोत्सव मेें साहित्य, पेंटिंग, नृत्य, लोकगान, पारंपरिक संगीत, नाटक, भित्ति चित्रण, कवि सम्मेलन एवं कार्यशाला के साथ-साथ कई और कार्यक्रम आयोजित होते हैं। महोत्सव में बाहर के कलाकारों के साथ-साथ झारखंड के कई कलाकार हिस्सा लेंगे। कहा गया कि उपेक्षित कला एवं कलाप्रेमियों को इस मंच से जोड़ने की पूरी कोशिश की जा रही है। मौके पर साहित्यकार हरिवंश प्रभात, कलाकार प्रेम भसीन, वंदना श्रीवास्तव एवं अमर चक्र उपस्थित थे।

मतदान कर्मियों को मिला दूसरे चरण का प्रशिक्षण

मेदिनीनगर: त्रिस्तरीय पंचायत उपचुनाव को लेकर 42 मतदान पदाधिकारियों को दूसरे चरण का प्रशिक्षण नये समाहरणालय के ब्लाॅक-सी के सभा कक्ष में आयोजित शिविर में दिया गया। बताया गया कि प्रत्येक मतदान दल में पीठासीन पदाधिकारी, प्रथम मतदान पदाधिकारी एवं द्वितीय मतदान पदाधिकारी शामिल होंगे। प्रशिक्षक मनु प्रसाद तिवारी ने मतदान कर्मियों को मतपेटीका को बैलेटिंग स्टेज में लाने की जानकारी देते हुए उनसे इसका अभ्यास कराया। उन्होंने मतपत्रों को वोट के लिए तैयार करने एवं उसे मोड़कर मतदाता को हस्तगत कराने के विधि की पूरी जानकारी दी। इस दौरान श्री तिवारी ने राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा मतदान के क्रम में मतदाताओं की पहचान स्थापित करने के लिए मान्य 12 दस्तावेजों से मतदान कर्मियों को अवगत कराया। साथ ही पीठासीन पदाधिकारी की डायरी के संधारण की बिंदुबार जानकारी दी। प्रशिक्षक परशुराम तिवारी ने चैलंेज वोट एवं टेंडर वोट की अवधारणा को स्पष्ट करते हुुए दोनों के बीच के अंतर को बताया ताकि इसके संचालन में कोई संशय नहीं रह जाए। उन्होंने चिन्हीत मतदाता सूची के उपयोग को बताते हुए कहा कि संबंधित मतदान केंद्रों पर सिर्फ वहीं मतदाता मतदान करेंगे जिनका नाम उस सूची में दर्ज हो। केवल पहचान पत्र रहने से किसी को वोट के लिए अनुज्ञात नहीं किया जायेगा। उन्होंने बताया कि मतदान केंद्र पर दिव्यांग मतदाताओं को मतदान करने में प्राथमिकता की जायेगी। उन्होंनें कहा कि समस्त चुनाव प्रक्रिया में मतदान पदाधिकारियों की निष्पक्षता अनिवार्य है। मौके पर सहायक महेश प्रसाद शर्मा एवं अनुसेवक अरूण कुमार भी उपस्थित थे।

नेतरहाट में आवासीय विद्यालय के प्रधानाध्यापकों की लगी क्लास

कमजोर वर्ग के विद्यार्थियों को निष्ठापूर्वक पढ़ाने का मिला संदेश

मेदिनीनगर: पलामू प्रमंडल के लातेहार जिला अंतगर्त नेतरहाट उच्च विद्यालय परिसर के प्रेक्षागृह में झारखंड सरकार के अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग द्वारा दो दिवसीय कार्यशाला आज संपन्न हुआ। विकास द्वारा संचालित उच्च विद्यालय एकलव्य माॅडल आवासीय विद्यालय एवं आश्रम विद्यालय के प्रधानाध्यापक इस कार्यशाला में शामिल हुए। इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य प्रधानाध्यापक, शिक्षक एवं आवासीय छात्र-छात्राओं की क्षमता संवर्धन करना था। इस दौरान प्रशिक्षण में शामिल प्रतिभागियों को नेतरहाट आवासीय विद्यालय की व्यवस्था एवं गतिविधियों से परिचित  कराते हुए उन्हें आवासीय विद्यालयों को नेतरहाट की तरह ही उन्नत बनाने को प्रेरित किया गया। बताया गया कि राज्य की कमजोर वर्गों के लिए संचालित इन विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के सर्वांगीण विकास के लिए पूरी निष्ठा के साथ प्रयास किया जाना चाहिए। बता दें कि 12 दिसम्बर से शुरू हुए इस कार्यशाला का उद्घाटन कल्याण विभाग के सचिव हिमानी पांडेय एवं लातेहार के उपायुक्त राजीव कुमार ने किया था। कार्यशाला के समापन समारोह में लातेहार के उपायुक्त राजीव कुमार द्वारा कार्यशाला में उपस्थित प्रतिभागी प्रधानाध्यापकों को आवासीय विद्यालय में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के चहुमुखी विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के प्रति प्रेरित किया। कार्यशाला में विशेष सचिव सुबोध कुमार सोरेंग, संयुक्त सचिव चंद्र कुमार सिंह, शैलेंद्र कुमार लाल, सलाहकार ब्रजेश कुमार दास, किशोर परियोजना के निदेशक, चंद्रशेखर प्रसाद, पलामू जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार एवं लातेहार कल्याण पदाधिकारी रमेेश कुमार चैबे समेत बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।

डीसी ने किया ’बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ जागरूकता रथ को रवाना 

मेदिनीनगर: केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना ’बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए पलामू में जिला प्रशासन द्वारा जागरूकता रथ निकाला गया है। यह रथ दस दिनों तक जिले के प्रखंडों, अंचलों व गांव कस्बों का भ्रमण कर लोगों को बेटीयों को शिक्षा दिलाने व भु्रण हत्या रोकने के प्रति जागरूक करेगा। इस ’बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ जागरूकता रथ को पलामू के उपायुक्त डाॅ. शांतनु कुमार अग्रहरि के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। बताया गया कि पलामू जिला में लिंगानुपात राष्ट्रीय औसत 940 की तुलना में 928 है। यानि 1000 पुरूषों पर 928 महिलाएं है। कहा गया कि लिंगानुपात में सुधार करने, भु्रण हत्या रोकने, सभी लड़कियों की शादी 18 वर्ष से अधिक आयु में करना सुनिश्चित करने, बालिकाओं के लिए समाज में सुरक्षित माहौल तैयार करने, बालिकाओं के लिए शिक्षा में आ रही रूकावटों तथा माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा में नामांकन दर बढ़ाने के प्रति रथ के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जायेगा। मौके पर उपायुक्त के अलावे उपविकास आयुक्त बिंदु माधव प्रसाद सिंह, डीएसपी प्रेमनाथ, शिशु एवं समाज कल्याण समिति के अध्यक्ष सह जिला पार्षद लवली गुप्ता, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी शत्रुन्जय कुमार एवं संरक्षण पदाधिकारी केडी पासवान आदि उपस्थित थे।

आठ वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

एसपी की पहल पर जैप-8 के जवानों ने अपना खून देकर पीड़िता की बचाई जान

मेदिनीनगर: शहर थाना क्षेत्र के पांकी रोड इलाके मंे बुधवार की शाम एक आठ वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म की मानवता को शर्मशार करने वाली घटना प्रकाश में आयी है। जानकारी के अनुसार पीड़ित मासूम बच्ची को गंभीरावस्था में सदर अस्पताल लाया गया। उसकी स्थिति बेहद नाजूक थी। उसे खून की तत्काल जरूरत थी। इसकी जानकारी मिलते पलामू के पुलिस कप्तान इंद्रजीत महथा ने लेस्लीगंज में स्थित जैप-8 के दो जवानों को तत्काल सदर अस्पताल भेजा। जैप-8 के नीतेश कुमार सिंह एवं संतोष कुमार नवीन ने अपना खून देकर पीड़ित मासूम की जान बचाई। जानकारी के अनुसार पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार पांकी रोड इलाके में रहने वाली आठ वर्षीय मासूम के साथ उसी के घर मेें किराये पर रहने वाले एक युवक ने दुष्कर्म किया। बताया जाता है कि आरोपी युवक ने बच्ची को नई काॅपी देने के बहाने अपने कमरे में बुलाया और उसके साथ जबरन मुंह काला किया। बच्ची की हालत बिगड़ने पर परिजनों ने तत्काल उसे सदर अस्पताल पहुंचाया। परिजनों की शिकायत पर शहर थाने में मामला दर्ज किया गया है।