विद्यापति स्मृति पर्व समारोह 16 को समेत पलामू की अन्य खबरें भी।

विद्यापति स्मृति पर्व समारोह 16 को

मेदिनीनगर: शहर के नूतन नगर भवन में आगामी 16 दिसम्बर को विद्यापति स्मृति पर्व समारोह का आयोजन किया जायेगा। यह जानकारी विद्यापति सेवासमिति के अध्यक्ष शीशीर कुमार झा, स्वागताध्यक्ष प्रो. सुर्यकांत चैधरी एवं सचिव प्रेमानन्द झा ने संयुक्त रूप से पत्रकारों को दी। उन्हांेने कहा कि इस मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम का उद्घाटन पलामू प्रमंडल के आयुक्त मनोज कुमार झा करंेगे। पलामू के क्षेत्रीय मुख्य वन संरक्षक यतीन्द्र कुमार दास मुख्य अतिथि होंगे। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता दुमका, एसपी काॅलेज के पुर्व प्राचार्य डाॅ. विद्यानाथ झा होंगे। इस कार्यक्रम में पलामू के पुलिस उपमहानिरीक्षक बिपीन शुक्ला, वन संरक्षक कुमार मनीष अरविंद और पलामू सिविल सर्जन डाॅ. कलानन्द मिश्र विशिष्ट अतिथि होंगे। इस कार्यक्रम में गायीका रंजना झा, ज्योति, विकास कुमार झा, परमरिया नृत्य के हिरा परमरिया एवं उनके साथी के अलावे कई कलाकार अपनी-अपनी प्रस्तुति देंगे। 

मनप्रीत सिंह बने कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला उपाध्यक्ष

मेदिनीनगर: पलामू जिला कांग्रेस कमिटी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष इमरान सिद्दकी ने मनप्रीत सिंह को संगठन का उपाध्यक्ष मनोनीत किया है। उन्होेंने श्री सिंह से कांग्रेस की नीतियों और सिद्धांतों में निष्ठा रखते हुए अल्पसंख्यकों के हितों के लिए कार्य करने और संगठन को मजबूत बनाने का आग्रह किया है।

बस मालिक बीरा सिंह के निधन पर शोक व्यक्त

मेदिनीनगर: पलामू जिला ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रवक्ता सह दुकानदार संघ के अध्यक्ष किरण कुमार सिंह ने सिंगरा ट्रांसपोर्ट के मालिक बाबू बीरा सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि स्व. बीरा सिंह ने अपने परिश्रम के बल पर बस व्यवसाय को काफी आगे बढ़ाया था। वे पिछले कुछ वर्षों से बीमार थे। उनके निधन से न केवल उनके परिवार को क्षति हुई है, बल्कि बस व्यवसायियों को भी अपूर्णिय क्षति हुई है। तमाम बस संचालक इस घड़ी में उनके परिवार के साथ है। 

अभिभावक संघ की अध्यक्ष ने डीसी से की 

शिक्षक के खिलाफ छात्रों को बिहार ले जाकर प्रताड़ित करने की शिकायत

मेदिनीनगर: अभिभावक संघ के अध्यक्ष सह अधिवक्ता किशोर कुमार पांडेय ने पलामू के उपायुक्त को आवेदन देकर बेलहारा के एक शिक्षक के खिलाफ गांव के बच्चों को शिक्षा दिलाने के नाम पर बिहार मंे ले जाकर उनसे घरेलू काम कराने एवं घर में बंद कर बच्चों की बेरहमी से पिटाई करने का आरोप लगाया है। श्री पांडेय ने उपायुक्त से पूरे मामले की जांच कराकर संबंधित शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पीड़ित बच्चों को न्याय दिलाने की मांग की है। अपने आवेदन में श्री पांडेय ने बताया है कि पांडू प्रखंड के बेलहारा गांव के गरीब हरिजन बच्चों को शिक्षा के नाम पर बिहार ले जाकर गांव में ही पदस्थापित शिक्षक ब्रजेश कुमार द्वारा उनसे घरेलू काम कराया जाता है। इतना ही नहीं काम नहीं करने पर बच्चों को कमरे मंे बंद कर उनकी पिटाई की जाती है। श्री पांडे ने कहा है कि जब ब्रजेश कुमार बेलहारा के स्कूल में पदस्थापित हैं तो उनके द्वारा गांव के बच्चों को बिहार में ले जाकर काम कराना कानूनी अपराध है। उन्होंने कहा है कि उग्रवादियों को मुख्यधारा में लाने के लिए शिक्षा व विकास पर विशेष ध्यान केंद्रीत किया जा रहा है। शिक्षक ब्रजेश के करतूतों से सरकार एवं जिला प्रशासन की नीतियों पर सवाल खड़ा हो रहा है। उन्होंने पीड़ित बच्चों को न्याय दिलाने की गुहार उपायुक्त से लगाई है। 

सड़क पर उड़ती भयंकर धूल व गड्ढ़ों से नाराज 

भाजपा नेता ने सरकार व अधिकारियों की सोच पर उठाये सवाल

जनता के विश्वास को बचाने के लिए धरातल पर उतरने की जरूरत: अविनाश वर्मा

मेदिनीनगर: प्रमंडलीय मुख्यालय से सटे मेदिनीनगर-चैनपुर मार्ग की खस्ताहाल को लेकर भाजपा नेता ने न सिर्फ नाराजगी जतायी है बल्कि जनसुविधाओं से जुड़ी सरकारी व प्रशासनिक अधिकारियों की सोच पर सवाल भी खड़ा किया है। सड़क की हालत को देख भाजपा नेता ने यहां तक कहा है कि बंद गाड़ी में चलने वाले नेता, मंत्री, विधायक, सांसद व जनप्रतिनिधि या अधिकारी को यह भी चिंता होनी चाहिए की बदहाल सड़क पर चलने वाले अन्य राहगिरों की क्या स्थिति होती होगी। अपने ही सरकार व जिला प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करने वाले भाजपा के नेता कोई और नहीं बल्कि डालटनगंज विधानसभा कोर कमिटी के सदस्य अविनाश वर्मा है। श्री वर्मा भाजपा नेता होने के साथ-साथ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष भी है। श्री वर्मा ने बताया है कि मेदिनीनगर से चैनपुर की ओर जाने वाली पूरी सड़क में धूल की भरमार है। सड़क के दोनों तरफ धूल और बालू की मोटी परत जमी हुई है। वाहनों के आने-जाने से उड़ने वाली धूल व बालू दो पहिया वाहन चालकों या पैदल राहगिरों के लिए दुर्घटना का कारण तो बनते ही हैं, इन्सानी जिंदगी को बीमार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते। उन्होंने बताया है कि धूल के अलावे उक्त सड़क में शाहपुर मजार के पास, चैनपुर थाना के पास, भट्ठी मोड़ के पास, थाना मोड़ के पास एवं गरदा रोड में कई बड़े गढे़ उभर आये है। जिनके कारण हमेशा बड़ी दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। उन्होंने कहा है कि उक्त मार्ग पर प्रतिदिन हजारों छोटी-बड़ी गाड़ियों से लाखों लोगों का आना-जाना रहता है, लेकिन इन लाखों लोगों की सेहत एवं जिंदगी की चिंता सरकार या जिला प्रशासन द्वारा नहीं किया जाना घोर चिंता की बात है। श्री वर्मा ने प्रशासनिक कार्यशैली पर आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा है कि इस बाबत उन्होंने क्षेत्र के लगभग सभी जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों से बात कर इस ओर उनका ध्यान दिलाने का पूर्व में भी प्र्रयास किया है। लेकिन अब तक किसी ने भी जनसुविधा से जुड़े इस मुद्दे पर ध्यान नहीं दिया है। उन्होंने एक बार फिर से जिले के अधिकारी व क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से सड़क की दुर्दशा को सुधारने की दिशा में पहल करने का अनुरोध करते हुए यहां तक कहा  है कि ऐसा न हो कि लोगांे का विश्वास ही जनप्रतिनिधि या अधिकारियों से उठ जाय। श्री वर्मा ने इसी मार्ग पर कोयल पुल की टूटी रेलिंग एवं दोनों किनारों पर जमी भयंकर धूल की वजह से आने-जाने वाले स्कूली बच्चों को होने वाली परेशानियों की ओर भी जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया है। श्री वर्मा ने कहा है कि सरकार व प्रशासन के प्रति आम जनता का विश्वास बना रहे इसके लिए अधिकारी एंव जनप्रतिनिधियों को सड़क पर उतर कर आम लोगों की परेशानी व दर्द का एहसास करने की जरूरत है।