पलामू डीसी ने पदाधिकारियों को दिये टास्क अवैध खनन और बालू पर प्रशासन सख्त ,जन सामान्य को आसानी से मिले बालू और बालू के व्यवसायिक इस्तेमाल पर टिकाये निगाहे

पलामू डीसी ने पदाधिकारियों को दिये टास्क अवैध खनन और बालू पर प्रशासन सख्त ,जन सामान्य को आसानी से मिले बालू और बालू के व्यवसायिक इस्तेमाल पर टिकाये निगाहे

मेदिनीनगर: पलामू के उपायुक्त डाॅ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने आज जिला स्तरीय खनन टास्क फोर्स की बैठक में खनन विभाग को निर्देश दिया है कि किसी भी कीमत पर जन सामान्य को बालू मिलने में दिक्कत न हो। साथ ही साथ उन्होंने खनन विभाग को यह भी कहा है कि बालू का व्यवसायिक इस्तेमाल पर भी विभाग को कड़ी निगाहे रखनी है ताकि बालू के अवैध धंधेबाज बालू का दुरूप्रयोग न कर सकें। डीसी अग्रहरि ने माईंस डिपार्टमेंट को तत्काल प्रभाव से सरकार द्वारा स्वीकृत सभी बालू घोटों की सूची भी अविलंब अद्योहस्ताक्षरी को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। डीसी ने आज के इस महत्त्वपूर्ण बैठक में यह भी कहा कि हुसैनाबाद अनुमंडल में अवैध खनन एवं भंडारण की सूचनाएं मिल रही है। ऐसे में संयुक्त टीम बनाकर बड़े पैमाने पर छापामारी की कार्रवाई सुनिश्चित करें ताकि अवैध खनन पर रोक लगाते हुए सरकार को राजस्व के नुकसान से बचाया जा सके। इसके लिए डीसी ने छतरपुर के एसडीओ और जिला खनन पदाधिकारी एवं जिला परिवहन पदाधिकारी को संयुक्त रूप से अभियान चलाने को कहा है। इधर इस बैठक में टास्क फोर्स कमिटी के सचिव द्वारा बताया गया कि छतरपुर अनुमंडल में फिलहाल 11 अवैध क्रशरों को ध्वस्त कर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है एवं 38 क्रशर को सील कर दिया गया है। इस बैठक में पलामू के एसपी इंद्रजीत सिंह महथा, वन प्रमण्डल पदाधिकारी, सभी अनुमंडलों के अनुमण्डल पदाधिकारी एवं जिला खनन पदाधिकारी उपस्थित थे।

                                                      महिला शिशु समाज कल्याण समिति की बैठक में दिये गये कई निर्देश 

                                                               आंगनबाड़ी को चुस्त-दुरूस्त करने पर फोकस

मेदिनीनगर: जिला परिषद की महिला शिशु समाज समिति की बैठक आज जिला परिषद सदस्य लवली देवी की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इस बैठक में कई बिन्दुओं पर चर्चा की गयी। बैठक में सेविका एवं सहायिका के चयन में औपबंधिक प्रमाण पत्र निर्गत करने से पहले मूल प्रमाण पत्र देखने तथा चयन के पूर्व इसकी सूचना आवेदकों को देने का निर्देश दिया गया। बैठक में पांकी के कोल्हुआ में सेविका-सहायिका के चयन के मामले की पुनः जांच महिला शिशु समाज कल्याण की अध्यक्ष की उपस्थिती में कमिटी द्वारा कराने का निर्णय लिया गया। कहा गया कि जांच कमिटी के प्रतिवेदन के बाद ही औपबंधिक प्रमाण पत्र निर्गत किया जाय। बैठक में अध्यक्ष ने कहा कि सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों के संचालन की विस्तृत रिपोर्ट उपलब्ध करायेंगे। बैठक में मनातू की पर्यवेक्षिका ने बताया कि सोमवार, बुधवार एवं शुक्रवार को अंडा तथा मंगलवार, गुरुवार एवं शनिवार को हलवा दिया जा रहा है। बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों ने खराब अंडा आपूर्ति किये जाने की शिकायत की। बैठक में जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने अंडा आपूर्ति के समय सत्यापन प्रतिवेदन जिला को देने का निर्देश दिया और कहा कि अगर अंडा की गुणवता खराब है तो आपूर्तिकर्ता के विरूद्ध प्रतिवेदन सरकार को दिया जायेगा। बैठक में बताया गया कि पूरे जिले में 1881 आंगनबाड़ी केन्द्र चल रहे हैं, जिनके भवन का निर्माण मनरेगा के माध्यम से कराने की कार्रवाई की जायेगी। जिला कल्याण पदाधिकारी ने बताया कि 200 स्वीकृत बिरसा आवास में से 179 का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि पिछड़ी जाति के 51,738, एसटी के 11,285 और एससी के 32,215 छात्रों को प्री मैट्रिक छात्रवृति दी गयी है। बताया गया कि कब्रिस्तान मद में 90 लाख रुपये का आवंटन प्राप्त है। इसके कार्यान्वयन की प्रक्रिया उपायुक्त द्वारा की जा रही है। बैठक में बताया गया कि प्रखण्ड कल्याण पदाधिकारियों के सभी पद रिक्त हैं जिसके कारण कार्य संचालन में कठिनाई हो रही है।