मशहूर आलीम ए दीन मौलाना मुसवी रज़ा के पिता का इंतकाल, 16 दिसंबर को हुसैनाबाद कब्रिस्तान में नमाज ए जनाजा अदा की जाएगी व वही सुपुर्द ए खाक किया जाएगा

मशहूर आलीम ए दीन मौलाना मुसवी रज़ा के पिता का इंतकाल

16 दिसंबर को हुसैनाबाद कब्रिस्तान में नमाज ए जनाजा अदा की जाएगी व वही सुपुर्द ए खाक किया जाएगा

हुसैनाबाद: मशहूर आलीम ए दीन  मौलाना हज़रत मुसवी रज़ा के पिता मशहूर समाज सेवी सैयद अली रज़ा का  रांची के रिम्स में शुक्रवार की रात 11:55 बजे इंतकाल हो गया। सैयद अली रज़ा को जानने और चाहने वालों को थोड़ी देर के लिए यकीन ही नहीं हुआ कि वह अब नहीं रहे। पूरे इलाके में मातम छा गया। सैयद अली रज़ा का नमाज ए जनाजा 16 दिसंबर को हुसैनाबाद कब्रिस्तान में अदा की जायेगी। वही उन्हें सुपुर्द ए खाक किया जाएगा। नमाज जनाजा राजधानी रांची के मशहूर आलीम ए दीन मौलाना हाजी सैयद तहजिबुल हसन रिज़वी इमाम व खतीब मस्जिद जाफरीया पढाएंगे। ज्ञात हो कि सैयद अली रज़ा 40 वर्सो तक उर्दू स्कूल में बच्चों को पढ़ाते रहे। उन्होंने अपने शुरुआती दौर में काफी संघर्ष किया। 18 वर्ष तक रांची के पंडरी स्कूल में काम करते रहे। इनके जानने वालों की माने तो गरीबो, यतीमो, जरूरतमन्दो की मदद करना इनका दिनचर्या में शुमार था। उनके इंतेक़ाल की खबर पर हुसैनाबाद शहर में गम का माहौल है।