इस्लामिक क्वीज प्रतियोगिता संपन्न-प्रतिभागी हुए पुरस्कृत, सदर प्रखण्ड के 21 विद्यालय खुले, 41 बंद

इस्लामिक क्वीज प्रतियोगिता संपन्न-प्रतिभागी हुए पुरस्कृत

मेदिनीनगर: रामगढ़ थाना के भभंडी गांव स्थित मदरसा में इस्लामिक क्वीज प्रतियोगिता संपन्न हो गया। इस प्रतियोगिता में शामिल मदरसा के बच्चों के तीन ग्रुप मक्की, मदनी और बगदादी में बांटा गया था। सभी ग्रुप के बच्चों से बारी-बारी से सवाल पूछे गए। सबसे अधिक सवालों का जवाब देने वाले तीन बच्चों को पुरस्कृत किया गया, इनमें सानिया खातुन को पहला, रविना खातुन को दूसरा और सैफ रजा को तीसरा पुरस्कार मिला। इसके साथ ही कार्यक्रम के आयोजन के लिए बभंडी इंतेजामियां कमिटी को शील्ड प्रदान किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि तंजीम के सदर अस्फाक अहमद ने कहा कि इससे बच्चों मंे शिक्षा के प्रति लगाव बढ़ेगा। इस मौके पर नसीम अहमद, मो. कलाम आजाद, अमीन रहबर, अनवर हुसैन, अब्दुल खालिक, मो. युनूश, डाॅ. मोबिन, जान मो. अंसारी, शौकत अलि, मो. समीद, इकरामुद्दीन अंसारी, याद अलि, इस्लाम अंसारी, मोइनुद्दीन अंसारी, महबूब आलम, नूर आलम, जियाउद्दीन समेत कई लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मदरसा के मौलाना जसीमुद्दीन नूरी ने किया।


सदर प्रखण्ड के 21 विद्यालय खुले, 41 बंद

विभाग ने की है बंद स्कूलों को संचालन के लिए टेट पास शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति

हड़ताली पारा शिक्षक नहीं चलने दे रहे हैं वैकल्पिक व्यवस्था 

मेदिनीनगर: सदर प्रखण्ड में पारा शिक्षकों के हडताल के कारण बंद पड़े विद्यालयों को संचालित करने की वैकल्पिक व्यवस्था शिक्षा विभाग के स्तर से किया जा रहा है। इसके लिए टेट पास शिक्षकों के प्रतिनियुक्ति कई विद्यालयों में की गयी है। हालांकि सदर प्रखण्ड के लगभग 50 प्रतिशत विद्यालय पारा शिक्षकों के हड़ताल से बाहर लौट आने के कारण चालू बताये जा रहे हैं लेकिन वैकल्पिक व्यवस्था के तहत कुछ विद्यालयों को चालू कराने में शिक्षा विभाग सफल होता नहीं दिख रहा है। क्योंकि कई विद्यालयों के लिए जब प्राधिकृत किये गए टेट पास पारा शिक्षक स्कूल गए तो उन्हें या तो हड़ताली पारा शिक्षकों ने स्कूल संचालित करने से रोक दिया या फिर स्कूल प्रबंध समिति के कारण वे स्कूल ने ज्वाईन नहीं कर सकें। इस संबंध में सदर प्रखण्ड प्रखण्ड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार पारा शिक्षकों से सदर प्रखण्ड में कुल 62 विद्यालय संचालित होते हैं। इनमें से 21 विद्यालय संबंधित पारा शिक्षक के हड़ताल से वापस लौट आने या फिर हड़ताल पर नहीं रहने के कारण संचालित हो रहे हैं। वहीं शेष बचे विद्यालयों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तहत टेट पास शिक्षकों की विभाग द्वारा संबंधित विद्यालयों में प्रतिनियुक्ति की गयी है। इस संबंध में कुछ प्रतिनियुक्त टेट पास शिक्षकों ने बताया कि वे जब स्कूल में गए थे उन्हें वापस लौटना पड़ा, क्योंकि संबंधित पारा शिक्षक उनका विरोध कर रहे थे। शिक्षिका पूनम टोप्पो ने बताया कि उनकी प्रतिनियुक्ति पुरनाडीह एनपीएस में की गयी है लेकिन वे जब स्कूल गयी तो स्कूल खुला था। स्कूल की शिक्षिका ने बताया कि वह हड़ताल पर नहीं हैं। एनपीएस जोरकट में पारा शिक्षकों ने टेट पास अमरेश गुप्ता को स्कूल संचालित नहीं करने दिया। अन्य कई और प्रतिनियुक्त शिक्षकों को भी पारा शिक्षकों के विरोध के कारण स्कूल संचालित करने में कइिनाइयां आयी हैं। हालांकि इसकी सूचना उनके द्वारा संबंधित बीइइओ के माध्यम से विभागीय अधिकारियों को दे दी गयी है।

युगल स्वर्णकार संघ के अध्यक्ष व रंजीत महासचिव बने 

मेदिनीनगर: पलामू जिला स्वर्णकार संघ की आम सभा स्थानीय दुर्गाबाड़ी में कृष्णा प्रसाद सोनी की अध्यक्षता में हुई। झारखण्ड प्रदेश स्वर्णकार संघ के उपाध्यक्ष सह पलामू के चुनाव प्रभारी मुरली श्याम सोनी आम सभा में मुख्य रूप से उपस्थित थे। इनके अलावे गढ़व के संरक्षक मोहनचंद सोनी, झारखण्ड प्रदेश स्वर्णकार संघ के अध्यक्ष दुर्गा प्रसाद जोहरी के साथ जिले के विभिन्न प्रखण्डों के प्रतिनिधि उपस्थित थे। इस दौरान संघ के पलामू जिला इकाई के लिए युगल किशोर शरण को अध्यक्ष चुना गया। इसके अलावे रंजीत सोनी महासचिव एवं रवीन्द्र सोनी कोषाध्यक्ष चुने गए। मौके पर दीपक कुमार, राजकुमार प्रसाद, सुरेन्द्र स्वर्णकार, जयराम वर्मन, पप्पू सोनी, राजकुमार वर्मा, उमाशंकर, सुनील जोहरी, रामेश्वर प्रसाद सोनी, राजू सोनी, सनोज सर्राफ, दीपू, धनु सोनी आदि उपस्थित थे।