*कड़ाके की ठंड से कंपकंपा रहा झारखंड, मैक्लुस्कीगंज में 2 डिग्री पर पहुंचा पारा, घास-पुआल पर जमी ओस*

*कड़ाके की ठंड से कंपकंपा रहा झारखंड, मैक्लुस्कीगंज में 2 डिग्री पर पहुंचा पारा, घास-पुआल पर जमी ओस*

रांची से कटे कांके और मैकलुस्‍कीगंज इलाके में ठंड के कारण खेत-खलिहानों में जगह-जगह बर्फ जम गया है। .

रांची:-

पूरा झारखंड कंपकंपाती ठंड की चपेट में है। मैक्लुस्कीगंज में रविवार को न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। हालत यह है कि सुबह में ओस भी जमकर बर्फ बन गई। कांके का न्यूनतम पारा 2.2 डिग्री सेल्सियस को छू गया। पिछले तीन दिनों में यहां न्यूनतम तापमान में 2.2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई है। कांके और लोहरदगा के ग्रामीण इलाकों में शनिवार की सुबह घास और पुआल पर ओस की बूंदें जमी हुई मिलीं। ठंड का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। शनिवार को मैक्लुस्कीगंज का न्यूनतम तापमान 3 डिग्री और कांके का 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

बीएयू के मौसम वैज्ञानिक डॉ. ए बदूद ने बताया है कि झारखंड में विंटर की सीबीडीटी उत्तर-पश्चिम की बर्फबारी और हवा की दिशा पर निर्भर करती है। उत्तर-पश्चिम से दक्षिण-पूर्वी की ओर हवा तिरछी बहती है। चिल्ड एयर के कारण इन इलाकों में ठंड ज्यादा पड़ता है। गांव में शहर की अपेक्षा तापमान कम देखने को मिलता है, इसलिए गांव में ठंड ज्यादा पड़ती है। वहीं आने वाले दिनों में दिसंबर के आखिरी सप्ताह से लेकर 15 जनवरी तक तापमान में और गिरावट होने की संभावनाएं हैं।

रांची का तापमान रहा 5 डिग्री सेल्सियस :

वहीं रांची का न्यूनतम तापमान रविवार को 5 डिग्र्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। मौसम वैज्ञानिक आरएस शर्मा ने बताया कि फिलहाल पूर्वी उत्तरप्रदेश व आसपास के क्षेत्रों में समुद्रतल से ऊपर 1.5 किलोमीटर क्षेत्र में साइक्लोनिक सर्कुलेशन का असर है। मौसम पूर्वानुमान के तहत रांची व आसपास के क्षेत्रों में चार दिनों तक सुबह के समय कुहासा व बाद में आकाश साफ रहने की संभावना है।

पिछले दो दिन में मैक्लुस्कीगंज का न्यूनतम तापमान : 22 दिसंबर -  3.0, 23 दिसंबर -  2.0

ठंड से गई दो जानें :

हाड़ कंपाती ठंड ने राज्य में शनिवार को दो की जान भी ले ली। शुक्रवार को भी तीन लोगों की मौत हुई थी। प्रशासन की ओर से अभी तक गरीबों के लिए कंबल और अलाव की व्यवस्था नहीं की गई है। वहीं मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अभी ठंड और बढ़ेगी। दिसंबर के आखिरी सप्ताह से लेकर 15 जनवरी तक न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री तक भी पहुंचने की संभावना है।

चार दिनों तक छाया रहेगा कोहरा :

मौसम वैज्ञानिक आरएस शर्मा ने बताया कि फिलहाल पूर्वी उत्तरप्रदेश व आसपास के क्षेत्रों में समुद्रतल से ऊपर 1.5 किलोमीटर क्षेत्र में साइक्लोनिक सर्कुलेशन का असर है। मौसम पूर्वानुमान के तहत रांची व आसपास के क्षेत्रों में आगामी चार दिनों तक सुबह के समय कुहासा व बाद में आकाश साफ रहने की संभावना है।

पलामू में एक, धनबाद में एक की मौत :

 पलामू जिले के पांकी थाना क्षेत्र के आसेहार गांव निवासी एवं निजी विद्यालय में शिक्षक प्रमोद कुमार चंद्रवंशी की ठंड लगने से मौत हो गई। मौत पांकी थाना के रतनुर पंचायत क्षेत्र के इरगु गांव में हुई है। चंद्रवंशी इरगु गांव में निजी स्कूल चलाते थे। वे वहीं रहकर बच्चों को पढ़ाते थे। बताया जाता है कि वे शौच करने के लिए उठे और वे ठंड लगने से गिर गए। वहीं उनकी मौत हो गई। कड़ाके की ठंड के कारण शनिवार को निरसा प्रखंड की हरियाजाम पंचायत के कुंहका निवासी 70 वर्षीय राजू बाउरी की मौत हो गई। शुक्रवार की रात ही वे ठंड व शीतलहर के चपेट में आ गए थे। उसके पास ओढऩे के लिए पर्याप्त कंबल नहीं था। 

पिछले चार दिन में कांके का तापमान : 19 दिसंबर 4.4, 20 दिसंबर 4.2, 21 दिसंबर 3.3, 22 दिसंबर  2.2*