शव आते ही मातम में डूबा गांव

शव आते ही मातम में डूबा गांव

प्रतिनिधि हरिहरगंज. घर से गरीबी को दूर करने व घर की माली हालत को ठीक करने के लिए बाहर कमाने के लिए गया था. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में 27 दिसम्बर को सड़क दुर्घटना में मौके पर ही उसकी मौत हो गयी. मृतक युवक का शव जब शनिवार को धूसरुआ गांव पहुंचा तो गांव में कोहराम मच गया और परिजन दहाड़े मार कर रोने लगे.

मालूम हो कि पीपरा थाना क्षेत्र के धूसरुआ गांव निवासी 35 वर्षिय वशिष्ठ कुमार सिंह की मौत हो गयी. वे अपने पीछे दो लड़की एक लड़का छोड़ गए.  शव गांव पहुंचते ही गांव में मातम छा गया और परिजन दहाड़े मार कर रोने लगे. घटना की सूचना पाकर हुसैनाबाद पूर्व विधायक संजय कुमार सिंह यादव, जिप प्रतिनिधि संदीप पासवान, राजद जिला उपाध्यक्ष कमलेश कुमार यादव, पूर्व मुखिया राजेंद्र यादव, राजद युवा जिला उपाध्यक्ष संजय  यादव, सुदामा यादव, प्रभु यादव, विजय यादव, बिंदेश्वरी यादव, अर्जुन यादव, उपेंद्र यादव, शोक संतप्त परिवार के घर पहुंच कर शोक संवेदना व्यक्त की और हर संभव मदद का आश्वासन दिया. वहीं पूर्व विधायक संजय सिंह यादव ने कंपनी के मैनेजर से बात कर दस लाख मुआवजा व मृतक की पत्नी को तनखा दिलाने की बात की.