लालू के पेशाब में खून, बढ़ी डॉक्टरों की चिंता, 3rd फ्लोर पर शिफ्ट होंगे रांची,

लालू के पेशाब में खून, बढ़ी डॉक्टरों की चिंता, 3rd फ्लोर पर शिफ्ट होंगे

रांची,

रिम्स के पेइंगवार्ड में भर्ती लालू प्रसाद के यूरिन में संक्रमण (यूरिन ट्रैक्ट इनफेक्शन) का स्तर काफी बढ़ गया है। खासकर उनके पेशाब में खून आने से डॉक्टरों की चिंता बढ़ गई है। रिम्स में कराए गए यूरिन कल्चर जांच में कोलानी काउंट 80,000 पाया गया है। दुबारा जांच के लिए निजी लेबोरेटरी में यूरिन का सैंपल दिया गया है। वहां से पुष्टि होने के बाद उपचार की दिशा तय की जाएगी। उनका इलाज कर रहे रिम्स के प्रो. डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि यूटीआई इन्फेक्शन का स्तर काफी बढ़ा हुआ है। एंटीबायोटिक शुरू कर दी गई है। यूरिन कल्चर दुबारा कराया जा रहा है। रिपोर्ट आने के बाद दवा का डोज फिर से तय किया जाएगा। यही नहीं, लालू यादव की बीमारियों से लड़ने की क्षमता (इम्युनिटी) भी कम हुई है। प्रोस्टेट बढ़ा हुआ है। पहले से ही उनका किडनी लगभग 45 प्रतिशत काम कर रहा है। वह किडनी रोग के पुराने (सीकेडी स्टेज थ्री) मरीज हैं। लंबे समय से उन्हें डायबिटीज है। प्रतिदन इंसुलिन दिया जा रहा है। डॉ प्रसाद ने बताया कि बीमारियों के उतार चढ़ाव को देखते हुए उनकी सेहत की मॉनिटरिंग नियमित रूप से की जा रही है। जरा सी असावधानी भी नुकसानदेह हो सकती है