हुसैनाबाद से गुजरेगी, लेकिन स्थानीय स्तर पर नहीं मिलेगा इस लाभः रविन्द्र

हुसैनाबाद से गुजरेगी, लेकिन स्थानीय स्तर पर नहीं मिलेगा इस लाभः रविन्द्र  

झारखंड विकास मोर्चा के केन्द्रीय सचिव रविन्द्र कुमार सिंह ने आरोप लगाया है कि हुसैनाबाद के दंगवार स्थित सोन नदी से किसानों के खेतों व आम अवाम को पानी देने के लिए बनायी गयी सोन-कोयल जलापूर्ति योजना उतरी कोयल परियोजना की तरह हुसैनाबाद के लिए छलावा साबित होगी. हैदरनगर में किसानों के साथ बैठक करने के बाद इस आशय का आरोप लगाया गया. उन्होंने कहा कि अच्छी उपज की सोच रखने वाले हुसैनाबाद के किसान सिंचाई के लिए आज हर स्तर पर मोहताज हैं.

हुसैनाबाद इलाके को पानी देने में विफल रही हैं सरकार 

इस इलाके के लोगों को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने में केन्द्र व राज्य सरकार अब तक विफल रही है. झाविमो नेता ने कहा कि अविभाजित बिहार सरकार के समय में झारखंड के मोहम्मदगंज की धरती से उत्तर कोयल नहर निकाली गई. हुसैनाबाद की धरती को चीरकर बिहार के मुंगेर तक नहर को ले जाया गया, बावजूद इस इलाके को मात्र 20 फीसदी, जबकि बिहार को 80 प्रतिशत पानी मिल पाता है.  

वहीं अब दूसरी ओर पांच जनवरी को पलामू आगमन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कोयल-सोन परियोजना का शिलान्यास किया जाना है. इस योजना से भी हुसैनाबाद के किसानों सहित आम लोगों को कोई फायदा नहीं पहुंचने वाला है. इस योजना से यहां के लोगों को एक बार फिर छलने की तैयारी की गयी है. इस योजना से पलामू जिले के छतरपुर व पाटन प्रखंड क्षेत्र की भूमि सिंचित होगी. इस इलाके को लाभ पहुंचाने के लिए इस वृहद योजना का प्रस्ताव सरकार ने बनाया है. 

हुसैनाबाद को पानी नहीं मिलने पर होगा जोरदार आन्दोलन  

उन्होंने कहा कि इसके लिये पाइप लाईन वाया हुसैनाबाद मुख्यालय होकर ही गुजरेगी, लेकिन हुसैनाबाद अनुमंडल क्षेत्र को एक बार पानी नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि पाइप लाईन से हुसैनाबाद को पानी नहीं मिला तो जेवीएम आंदोलन तेज करेगा। उन्होंने इसके लिए हुसैनाबाद के किसानों को तैयार रहने के लिए आह्वान किया। 

बैठक में पार्टी के प्रदेश नेता रणविजय सिंह व मोहन ठाकुर के अलावा किसान लल्लू सिंह, संतोष राम, शैलेन्द्र सिंह, गणेश पाल, रामनाथ बैठा, प्रखंड अध्यक्ष रविरंजन सिंह, शमीम खान व अन्य शामिल थे।