रांची: झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता डॉ एम. तौसीफ ने नरेंद्र मोदी और रघुवर सरकार पर बेरोजगार युवकों को रोजगार के नाम पर ठगने का आरोप लगाया है।

रांची: झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता डॉ एम. तौसीफ ने नरेंद्र मोदी और रघुवर सरकार पर बेरोजगार युवकों को रोजगार के नाम पर ठगने का आरोप लगाया है।

रांची: झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता डॉ एम. तौसीफ ने नरेंद्र मोदी और रघुवर सरकार पर बेरोजगार युवकों को रोजगार के नाम पर ठगने का आरोप लगाया है।उन्होंने कहा है कि विगत चार वर्षों में रघुवर सरकार ने स्किल डेवलपमेंट के नाम पर करोड़ों रुपये पानी की तरह बहाया है। जबकि हकीकत यह है कि कौशल विकास योजना से राज्य के बेरोजगार युवक अब तक न स्किल्ड हुए हैं, न ही उन्हें रोजगार नसीब हुआ है।उन्होंने कहा कि भाजपा जाहे जितना प्रयास कर ले, लेकिन देश और राज्य की जनता अब उसकी जुमलाबाजी में नहीं आनेवाली। कोलेबिरा उपचुनाव के परिणाम ने यह बता दिया कि भाजपा की गलत नीतियों से जनता में कितना आक्रोश है।

    डॉ एम तौसीफ ने कहा कि एक बार फिर राज्य की रघुवर सरकार करोड़ों रुपये खर्च कर रोजगार के नाम पर कार्यक्रम आयोजित करने जा रही है। कार्यक्रम में कई विदेशी डेलिगेशन भी हिस्सा लेंगे। इसी रघुवर सरकार ने रोजगार के नाम पर पूर्व में भी स्किल्ड डेवलपमेंट के नाम पर 25,000 युवकों को ठगने का काम किया है। पूर्व के रोजगार कार्यक्रम में सरकार ने पुणे,  मुम्बई, दिल्ली,  बंगलूरू जैसे महानगर में काम करने के लिए एमबीए, इंजीनियरिंग किये युवकों को नियुक्ति पत्र तो दे दिया। लेकिन 8 से 10 हजार रुपये प्रतिमाह वेतन के कारण युवकों ने नौकरियां ज्वाइन नहीं की।

   डॉ तौसीफ ने कहा कि सरकार दावा करती है कि उसने एक लाख तक रोजगार दिया।लेकिन वहीं सरकार पारा शिक्षकों की मांगों को पूरा करने के बजाय इनसे नौकरी छीनने का काम कर रही है। राज्य के 67,000 पारा शिक्षक पिछले 54 दिनों से अपनी मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं। आंदोलन के दौरान राज्य के 15 पारा शिक्षकों की मौत हो चुकी है। लेकिन सरकार उन मृत पारा शिक्षकों के परिजनों को न तो उचित मुआवजा दिया है, न ही उनके परिवार के सदस्यों को नौकरी।