बल्ली बिगहा से बभनदेवरी तक निजी खर्च से हुआ सड़क निर्माण

बल्ली बिगहा से बभनदेवरी तक निजी खर्च से हुआ सड़क निर्माण  

हैदरनगर, 10 जनवरी: .समाजसेवी लव मेहता ने प्रखंड के बल्ली बिगहा से हुसैनाबाद प्रखंड के बभनदेवरी तक जर्जर पथ की मरम्मत कराकर दस गांवों के ग्रामीणों के लिए आवागमन की समस्या को दूर कर दिया है। बल्ली बिगहा गांव के ग्रामीणों ने बताया कि वे दस वर्षों से इस समस्या से जूझ रहे थे। जपला सीमेट फैक्ट्ी या हैदरनगर की ओर से चार पहिया वाहन आस पास के गांवों तक नहीं पहुंच पाते थे। किसी के बीमार होने या शादी ब्याह के मौके पर बड़ी समस्या उत्पन्न हो जाती थी। 

ग्रामीणों ने बताया कि उन्होंने जनप्रतिनिधियों का दरवाजा भी खटखटाया, मगर किसी ने एक नहीं सुनी। उन्होंने कहा कि वोट लेने के समय सभी नेता वादा करते हैं, बाद में वे मौज मस्ती में डूब जाते हैं। उन्होंने समाजसेवी लव मेहता को विधानसभा का चुनाव हुसैनाबाद से लड़ने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि गांव के लोग उनके लिए पूरे क्षेत्र में प्रचार करने को तैयार है।

लव मेहता ने ग्रामीणों को बताया कि जनता की यह समस्या उनसे देखी नहीं गई। उन्होंने अपने खर्च पर सड़क की मरम्मत कराने का फैसला लिया। उन्होंने कहा कि फिल्हाल चुनाव के विषय में उनका कोई इरादा नहीं है। वक्त आने पर निर्णय लिया जायेगा। उन्होंने उक्त सड़क के अलावा हैदरनगर प्रखंड कार्यालय के समीन उत्तर कोयल मुख्य नहर पर पुल निर्माण कराने को लेकर जिले के उपायुक्त व मुख्य सचिव से मिलेंगे। 




छोटे कारोबारियों के लिए मोदी सरकार ने खोला राहत का पिटारा 

नयी दिल्ली, 10 जनवरी (एजेंसियां): जीएसटी काउंसिल की 32वीं बैठक वित्तमंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में हुई। बैठक छोटे कारोबारियों के लिए बड़ी राहत भरी खबर लेकर आयी है। सूत्रों के अनुसार जीएसटी काउंसिल की बैठक में जीएसटी रजिस्ट्रेशन का दायरा बढ़ाने पर सहमति बन गयी है। जैसी कि जानकारी आ रही है, अब 40 लाख रुपये तक के सालाना टर्नओवर पर रजिस्ट्रेशन नहीं कराना होगा। पहले यह सीमा 20 लाख रुपए थी। अब इन छोटे कारोबारियों को जीएसटी रजिस्ट्रेशन का झंझट नहीं रहेगा।

साथ ही जीएसटी काउंसिल ने कंपोजिशन स्कीम की सीमा बढ़ाने की औपचारिक मंजूरी दे दी है। कंपोजिशन स्कीम की सीमा 1.5 करोड़ रुपये करने को मंजूरी मिली है। अभी तक सीमा एक करोड़ रुपए थी। स्कीम पर बदलाव एक अप्रैल 2019 से लागू होगा। बता दें कि वित्त राज्य मंत्री शिवप्रताप शुक्ल की अध्यक्षता में पिछले सप्ताह हुई समिति की बेठक में सहमति बनी थी। इसके अलावा जीएसटी काउंसिल ने एसएमई को वार्षिक रिटर्न फाइल करने की छूट दे दी। हालांकि इन छोटे कारोबारियों को हर तिमाही टैक्स भरना होगा। पहले इनको हर तिमाही में रिटर्न भी भरना होता था।

हालांकि जीएसटी काउंसिल की बैठक से जुड़े फैसलों का एलान होना बाकी है। यह सभी खबरें सूत्रों के हवाले से है। बता दें कि जीएसटी से जुड़े हुए सभी मामलों पर फैसला जीएसटी काउंसिल ही लेती है। पिछली बैठक में 26 चीजों पर टैक्स की दर को कम किया गया था। इसके अलावा अंडर कंस्ट्रक्शन फ्लैट और मकान पर जीएसटी को घटाकर 5 फीसदी किया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार दिसंबर में सरकार को जीएसटी के जरिए 94,726 करोड़ रुपए का कलेक्शन मिला है। 




सखी संवाद कार्यक्रम का आयोजन 

सतबरवा, 10 जनवरी : गुरुवार को प्रखंड कार्यालय परिसर में सखी संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन जिला प्रबंधक, भाजपा नेता अवधेश चेरो सांसद प्रतिनिधि बीस सूत्री के अध्यक्ष रवि प्रसाद, मनीष प्रसाद, विधायक प्रतिनिधि राणा प्रताप कुशवाहा ने सामूहिक रुप से दीप प्रज्वलित कर किया।

कार्यक्रम में पूरे प्रखंड की सभी महिला समूहों की सैकड़ों महिलाएं उपस्थित थी। महिलाओं को आत्मनिर्भर होने के लिए और उनके लिए चलाए जा रही सभी योजनाओं में बढ़-चढ़कर भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया गया। साथ ही योजनाओं से उन्हें अवगत कराया गया। मौके पर वक्ताओं ने कहा कि भाजपा महिलाओं के विकास के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। आप सभी इसका भरपूर फायदा उठाएं।


बिजली करंट से युवक की मौत 

पांकी, 10 जनवरी: पिपराटांड़ थाना क्षेत्र के अंबाबार पंचायत अंतर्गत बिदरा टोला निवासी राजेन्द्र यादव (38वर्ष) की करंट लगने से मौत हो गयी। कल देर शाम राजेन्द्र अपने घर में मोबाइल चार्ज कर रहा था। इसी दौरान गांव के ट्रांसफर्मर में जोरदार स्पार्क हुआ, जिससे उसे जोरदार करंट लगा। आनन-फानन में उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गुरूवार की सुबह शव का पोस्टमार्टम किया गया और उसके परिजनों को सौंप दिया गया। राजेन्द्र कृषि कार्य पर ही निर्भर था। फसल के सीजन नहीं होने पर वह बाहर रहकर मजदूर करके किसी तरह परिवार का भरण-पोषण करता था। राजेन्द्र की मौत के बाद उसके परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। 



कव्वल मध्य विद्यालय की एसडीओ ने की जांच, कई अनियमितता हुई उजागर  

छत्तरपुर, 10 जनवरी : पिछले दो माह से बंद पड़ी कव्वल मध्य विद्यालय की जांच शुरू कर दी गयी है। विद्यालय बंद रहने की खबर समाचार पत्रों में प्रमुखता से छपने के बाद अनुमंडल प्रशासन हरकत में आया। गुरूवार की पूर्वाहन में एसडीओ भोगेन्द्र ठाकुर ने विद्यालय की स्थिति की जांच की। उन्होंने पाया कि लगभग दो साल से विद्यालय बंद पड़ी है। 

एसडीओ ने बताया कि जांच के दौरान कई गड़बड़ियां सामने आयी है। मध्याहन भोजन योजना से लेकर विद्यालय में पठन-पाठन का कार्य नियमित नहीं हो रहा था। लेकिन इसमें भारी गड़बड़ी की गयी। एसडीओ ने कहा कि जांच के दौरान प्रभारी प्रधानाध्यापक मो. सलाम अंसारी भी गायब पाए गए। उन्हें सभी तरह के कागजात और मध्याहन भोजन के लिए विद्यालय आने वाले चावल की जानकारी देने का निर्देश दिया गया है। उन्होंन कहा कि शुरूआती जांच में ही भारी गड़बड़ी सामने आयी है। ऐसे में प्रभारी प्रधानाध्यापक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जायेगी।   



अब 29 जनवरी से होगी अयोध्या मामले में सुनवाई 

नयी दिल्ली, 10 जनवरी (एजेंसियां): सुप्रीम कोर्ट की पांच न्यायाधीशों की संवैधानिक पीठ अयोध्या में राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मसले की सुनवाई शुरू हुई, लेकिन मामले ने करवट बदली और सुनवाई टल गयी। खबरों के अनुसार अब 29 जनवरी को नयी बेंच बैठेगी। बता दें कि पांच न्यायाधीशों की संवैधानिक पीठ में शामिल जस्टिस यूयू ललित ने खुद को संवैधानिक पीठ से अलग कर लिया है। इस पीठ का नेतृत्व सीजेआई रंजन गोगोई कर रहे थे। उनके अलावा पीठ में अन्य जज जस्टिस एसए बोब्डे, जस्टिस एनवी. रमन्ना, और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ शामिल थे। बदली हुई परिस्घ्थिति में 29 जनवरी को नयी बैंच इस मामले में सुनवाई करेगी। बता दें कि सुनवाई शुरू होने पर मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन के द्वारा संविधान पीठ और जस्टिस यूयू ललित पर सवाल खड़े करने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने 29 जनवरी तक मामले को टाल दिया। अब पांच जजों की पीठ में जस्टिस यूयू ललित शामिल नहीं होंगे और नयी बेंच का गठन किया जायेगा।