पलामू: जेजेएमपी के नाम पर रंगदारी वसूल रहा पूर्व माओवादी चार साथियों के साथ गिरफ्तार, चार हथियार और गोलियां बरामद

पलामू: जेजेएमपी के नाम पर रंगदारी वसूल रहा पूर्व माओवादी चार साथियों के साथ गिरफ्तार, चार हथियार और गोलियां बरामद 

पलामू 13 जनवरी: नक्सलियों और अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में एक बार फिर पलामू पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. जिले की हुसैनाबाद पुलिस ने नक्सली संगठन जेजेएमपी के नाम पर रंगदारी और लेवी वसूलने में लगे पूर्व माओवादी को उसके चार साथियों के साथ गिरफ्तार किया है. उनके पास से पुलिस ने चार हथियार और गोलियां बरामद की है. पुलिस इसे बड़ी सफलता मान रही है. विदित हो कि हुसैनाबाद क्षेत्र से ही गत आठ जनवरी को भी जेजेएमपी के नाम पर रंगदारी वसूलने वाले तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया था. उनके पास से भी कई हथियार और गोलियां बरामद की गयी थी.

अपराध की योजना बनाते हुए गिरफ्तार

हुसैनाबाद के एसडीपीओ मनोज कुमार महतो ने रविवार की दोपहर हुसैनाबाद में पत्रकारों को बताया कि 12-13 जनवरी की रात करीब गुप्त सूचना मिली कि जेजेएमपी के नक्सली सोनू पासवान के नेतृत्व में कुछ नक्सली हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के हीरा सिकनी और जूझार सिकनी के बीच पखरोड़िया नाला के पास अपराध करने वाले हैं. सूचना पर हुसैनाबाद एसडीपीओ के दिशा-निर्देश में और थाना प्रभारी रास बिहारी लाल के नेतृत्व मंें टीम बनायी गयी. टीम रात करीब 2.30 बजे उक्त नाला के पास पहुंची तो वहां कुछ संदिग्ध नजर आए. पुलिस को वहां देखते हुए वे भागने लगे. पुलिस बल के सहयोग से चार को पकड़ा गया, जबकि एक अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकला.

कौन-कौन हुए गिरफ्तार?

एसडीपीओ ने बताया कि गिरफ्तार किए गए नक्सलियों में सोनू पासवान, छोटन रजवार, रामजीत पासवान उर्फ दारोगा और मुन्नु पासवान हैं. इसमें रामजीत पासवान उर्फ दारोगा माओवादी संगठन में रह चुका है. सभी मिलकर जेजेएमपी नक्सली संगठन तैयार किए थे और उसे विस्तार देने का प्रयास कर रहे थे. फरार पांचवा नक्सली की पहचान हीरा सिकनी निवासी बबलू प्रजापति के रूप में हुई है. 

किसके पास क्या-क्या मिला?

एसडीपीओ ने बताया कि तलाशी के क्रम में सोनू पासवान के पास से एक भरठूआ बंदूक, छोटन रजवार के पास से 315 बोर से एक देसी लोडेड कट्टा और एक गोली, रामजीत पासवान के पास से 315 बोर का लोडेड रायफल और मुन्नु पासवान के पास से एक 315 बोर का देसी रायफल एवं कारतूस बरामद की गयी है.

जेजेएमपी और माओवादियों के नाम पर मांगते थे रंगदारी

गिरफ्तार अपराधियों के अलावा चिन्हित किये गये अन्य अपराधकर्मी नक्सली संगठन जेजेएमपी और भाकपा माओवादी के नाम पर इलाके में दहशत फैला रखे थे. कुछ दिनों से क्षेत्र में हथियार का भय दिखाकर विभिन्न योजनाओं में बाधा डालने और संवेदकों से रंगदारी मांगने की घटनाएं इनके द्वारा की जा रही थी. ईट भट्ठों में जाकर मजदूरों को धमकाना और भट्ठा मालिकों को फोन कर धमकी देना, इनका मुख्य क्रियाकलाप रहा है. रंगदारी वसूलने के लिए कभी जेजेएमपी तो कभी माओवादी के नाम पर पर्चा भी देते थे.