छत्तरपुर के महाविद्यालय में धूमधाम से मनाई गई स्‍वामी विवेकानंद की जयंती....

छत्तरपुर के महाविद्यालय में धूमधाम से मनाई गई स्‍वामी विवेकानंद की जयंती....

 अरविंद अग्रवाल की रिपोर्ट:-

 छत्तरपुर( पलामू ) : स्थानीय गुलाबचंद प्रसाद अग्रवाल महाविद्यालय सड़मा, छतरपुर में राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत महाविद्यालय में स्वामी विवेकानंद की जयंती मनाई गई. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पलामू जिला के राष्ट्रीय स्वयंसेवक के प्रचारक अजय कुमार, विशिष्ट अतिथि महाविद्यालय के संस्थापक सचिव सत्यदेव प्रसाद अग्रवाल समाजसेवी विनोद गुप्ता पलामू जिला के वरिष्ठ अधिवक्ता रामदेव यादव अखिल भारतीय  विद्यार्थी परिषद के  सुरेंद्र विश्वकर्मा उपस्थित हुए. मौके पर संयुक्त रूप मैं  दीप प्रज्वलित  कर स्वामी विवेकानंद के प्रतिमा पर फूल माला अर्पित कर कार्यक्रम को शुभारंभ किया।

स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य पर विनोद गुप्ता ने कहा कि आज बहुत ही महत्वपूर्ण दिवस है. 1893 में स्वामी जी ने भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए शिकागो धर्म सम्मेलन में भारत की प्रतिष्ठा पुनः स्थापित की. अपनी सभ्यता और संस्कृति को कभी नहीं भूलना चाहिए. आज हम प्रण लें की हम शिक्षा प्राप्त कर अपनी शिक्षा को देश हित में लगाएं. उन्होंने बताया कि  महाविद्यालय में  सभी छात्र-छात्राओं  स्वामी  विवेकानंद के  मार्गदर्शन  पर  अपने आप  कुछ  अलग कार्स  करने की  जरूरत है  जो आप लोगों  मैं जज्बा होनी चाहिए वरिष्ठ अधिवक्ता रामदेव यादव ने बताया कि अपने देश के महान विभूतियों को हम उनके अच्छे कार्य और देशहित में किये गए अमूल्य कार्यों के लिए याद करते हैं और उन्हें नमन करते हैं. आप सभी को अपने लक्ष्य को निर्धारित करते हुए अपनी शिक्षा पूरी करनी है.महाविद्यालय के संस्थापक सह सचिव सत्यदेव प्रसाद अग्रवाल ने बताया कि संभव की सीमा असंभव मैं पार कर जाना स्वामी विवेकानंद जी ने बताया करते थे साथ ही उनके मार्गदर्शन पर उपस्थित सभी बच्चों से आह्वान किया कि स्वामीजी के बताए मार्ग पर चलें. उन्होंने बच्चों के शिक्षा हेतु बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य किया. उन्होंने देश के बच्चों से आह्वान किया कि‍ उठो, जागो और तब तक चलते रहो जब तक आप अपने लक्ष्य को प्राप्त ना कर लो. मौके पर मुख्य अतिथि जिला राष्ट्रीय स्वयंसेवक के प्रचारक अजय कुमार ने बताया की राष्ट्रीय युवा दिवस पर स्वामी विवेकानंद की 156 वी जयंती मनाई जा रही है इस अवसर पर हम सभी के बीच स्वामी विवेकानंद की ऊंचाइयों को छू लेने की सीख है और उनके आदर्शों का अनुकरण करते हुए उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प दिलाया साथ ही महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं के बीच अपने लक्ष्य को निर्धारित करते हुए अपनी शिक्षा पूर्ण करनी है उन्होंने बताया कि स्वामी जी ने भारत के नैतिक एवं जीवन मूल्यों के विश्व के कोने कोने में पहुंचाया उनका यह कथन उठो जागो और तब तक मत रुको जब तक कि मंजिल प्राप्त ना हो जाए उनके प्रासंगिक है उनके अर्थ जीवन काल में है उन्होंने विश्व को जो कुछ प्रदान किया विश्व हमेशा निकाह ऋणी रहेगा जो आज हम लोगों को सीख लेने की जरूरत है मौके पर महाविद्यालय के छात्राओं ने स्वामी जी के जन्म दिवस के अवसर पर अतिथियों का स्वागत गान के साथ स्पीच दिया। कार्यक्रम के संचालन प्रोफेसर राज किशोर लाल व अध्यक्षता महाविद्यालय के प्रभारी  प्राचार्य जितेंद्र कुमार ने किया मौके पर प्राचार्य जितेंद्र कुमार ने उपस्थित मुख्य अतिथियों को बुक देकर धन्यवाद ज्ञापन किया।कार्यक्रम में उपस्थित प्रोफेसर राजमोहन कुमार, अशोक कुमार अग्रवाल, शंभू नाथ अग्रवाल, कमलेश कुमार,सुर्यदेव कुमार, अर्चना कुजुर, इंदु कुमारी ,प्रधान सहायक योगेंद्र विश्वकर्मा, अरविंद कुमार, सफल मेहता, विद्यानंद कुमार, बालमुकुंद पाठक, विजय यादव, अंजीलूना खाखा,अविशेख कुमार, शिव कुमार मंजय कुमार आलोक कुमार समेत महाविद्यालय के छात्र-छात्राओंने उपस्थित थे।