उपायुक्त पलामू डॉ0 शान्तनु कुमार अग्रहरि के कार्यलय कक्ष में सप्ताहिक जनता दरबार में विभिन्न प्रखण्डों से कुल 50 मामले आए।

उपायुक्त पलामू डॉ0 शान्तनु कुमार अग्रहरि के कार्यलय कक्ष में सप्ताहिक जनता दरबार में विभिन्न प्रखण्डों से कुल 50 मामले आए। जिसमें से कई मामलों का निष्पादन किया गया तथा सम्बंधित पदाधिकारीयों को शिकायतों का जल्द निष्पादन करने का निदेश दिया गया। 

आज के जनता दरबार में पंडवा के कवलपति देवी ने स्वस्थ्य उपकेन्द्र काम करने के बाद बकाया मजदूरी के संबंध में शिकायत उपायुक्त के समक्ष रखी। उपायुक्त ने सिविल सर्जन, पलामू को जाँच कर अविलंब निष्पादन करने का निदेश दिया। नावाबाजार के दिव्यांग बलराम कुमार तथा पाटन के मिथलेश राम ने बैट्री चलित मोपेट(गाड़ी) दिलवाने हेतु आवेदन उपायुक्त को दिया। उपायुक्त महोदय ने समाजिक सुरक्षा पदाधिकारी को पन्द्रह दिनों के अन्दर जाँच कर मोपेट(गाड़ी) उपलब्ध कराने का निदेश दिया। हरिहरगंज के सुनैना देवी तथा अनुराधा देवी, मनातू के सीमा देवी और छत्तरपूर के कंचन कुमारी ने सेविका के रूप में योगदान दिलाने के संबंध में शिकायत की। उपायुक्त ने समाज कल्याण पदाधिकारी को अविलंब जाँच कर निष्पादन करने का निदेश दिया।

चैनपूर के असर्फी यादव ने राशन दूर मिलने तथा विश्रामपूर के विनय कुमार ने राशन नहीं मिलने के संबंध में शिकायत उपायुक्त  के समक्ष रखी। विश्रामपूर के कलावती देवी, भगमनिया देवी और श्रवण कुमार ने भी राशन से संबंधित शिकायत उपायुक्त से की। उपायुक्त ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को अविलंब निष्पादन करने का निदेश दिया। रेड़मा, मेदिनीनगर के जगदीश प्रसाद गुप्ता ने आवासीय क्षेत्र में चल रहे अवैध रूप से गेट ग्रील दुकान के संबंध में शिकायत की। उपायुक्त महोदय ने कार्यपालक पदाधिकारी को आवेदन अग्रसारित करते हुए जाँच कर शिकायत का जल्द निष्पादन करने का निदेश दिया। विश्रामपूर के बच्चु सिंह ने जमीन विवाद से संबंधित शिकायत उपायुक्त से की। उपायुक्त ने अंचल अधिकारी, विश्रामपूर को अविलंब जाँच कर कार्रवाई करने का निदेश दिया। पाँकी के कावो देवी ने राजस्व कर्मचारी के द्वारा मनमानी किए जाने के संबंध में शिकायत की। उपायुक्त महोदय ने अंचल अधिकारी, पाँकी को अविलंब जाँच कर कार्रवाई  करने का निदेश दिया। तरहसी के बिरेन्द्र सिंह ने मुखिया द्वारा 14वीं वित्त में गड़बड़ी करने के संबंध में शिकायत की। उपायुक्त ने तत्काल कारवाई करते हुए प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को जाँच करने का निदेश दिया। 

इन मामलों के अलावा उपायुक्त द्वारा फरियाद के लिए पहुँचे शिकायतकर्ताआेंं के अन्य मामले में भी संबंधित कई अन्य प्रखण्ड विकास पदाधिकारी तथा अंचल अधिकारी एवं जिले के पदाधिकारीयों को दुरभाष पर निर्देशित करते हुए शिकायतों को दुर करने के निदेश दिए गए।

उपायुक्त के जनता दरबार में उपायुक्त सहित, समाज कल्याण पदाधिकारी, डी0एस0डब्लू तथा जी0आर0सी0 उपस्थित थें।