बरवाडीह प्रखंड क्षेत्र में हाथियों के आतंक जारी ग्रामीणों में दहशत का माहौल

बरवाडीह प्रखंड क्षेत्र में हाथियों के आतंक जारी ग्रामीणों में दहशत का माहौल 

पीड़ित परिवार को वन विभाग क्षतिपूर्ति देने में करती है आनाकानी

बेतला   बरवाडीह  प्रखंड अंतर्गत बेतला नेशनल पार्क के आसपास जंगली हाथी का आतंक कई दिनों से जारी है    पलामू किला जाने वाले रास्ते में स्थित तुरी टोला निवासी इमामुद्दीन अंसारी की घर शुक्रवार की मध्यरात्रि में जंगली हाथी ने क्षतिग्रस्त कर दिया है जिस घर को क्षतिग्रस्त जंगली हाथी ने किया उस घर में करीब दर्जनों लोग सो रहे थे अचानक दीवार गिरने से घर बार आए लोगों ने  देखा कि हाथी दीवार से टकरा रहा है आनन-फानन में लोग भागने में कामयाब हुए नहीं तो कई लोगों को जान जा सकती थी  शुक्रवार को मध्यरात्रि में पूरे परिवार के साथ जलालुद्दीन अंसारी जेना बीवी  तेतरी बीवी लालून नसोमात शोकरार अंसारी 2 वर्ष दीवाल गिरने से बाल-बाल बच गए  साथ में रखें घर में करीब 1 क्विंटल चावल को भी हाथी तितर-बितर कर दीया  


बताते चलें कि पिछले वर्ष भी हाथी के द्वारा इसी परिवार के सदस्यों को घर क्षतिग्रस्त किया था पर आज तक वन विभाग के द्वारा छति पूर्ति नहीं दी गई है जिससे ग्रामीणों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है  पीड़ित परिवार काफी गरीब है अब इस ठंड भरी मौसम में पूरे परिवार को  जीवन यापन करने में भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा 


इस संबंध में दूरभाष से पूछे जाने पर डीएफओ विनय कांत मिश्रा ने कहा कि हमें इसकी सूचना नहीं है यदि आप हमें इसकी सूचना दे रहे हैं तो कब और कैसे हुआ कौन सा माह में हुआ  घर का मालिक का क्या नाम है आप ही बताएं  इसकी सारी जानकारी विभाग के रेंजर से लेने के बजाय पत्रकार से ही सवाल करने लगे।   ऐसे में  वन विभाग के पदाधिकारी से पीड़ित परिवार को क्या मदद होगा उम्मीद करना भी  शायद गलत होगा