कचरे में हर दिन लग रही आग, कई पेड़ जलकर सूखे

कचरे में हर दिन लग रही आग, कई पेड़ जलकर सूखे  

डालटनगंज, 19 जनवरी: मेदिनीनगर नगर निगम क्षेत्र में जहां-तहां कचरा गिराये जाने से इसका मानव के साथ-साथ प्रकृति पर बुरा असर पड़ रहा है। कचरा गिराने के बाद उसमें आग लगा दिए जाने से कई पेड़ सूख जा रहे हैं, जबकि कचरों के जलने से निकलनेवाला विषैला धुंआ मानव की सेहद पर बुरा प्रभाव डाल रहा है। 

सद्वीक चैक से आगे कोयल पुल की ओर जाने वाली सड़क और गिरिवर स्कूल की चाहरदीवारी के बीच बने बड़े गड्ढे में इन दिनों सूखा कचरा डंप किया जा रहा है। इन कचरों में हर दिन आग लगा दी जा रही है। आग से आस-पास के कई पेड़ जल गए हैं और सूखने लगे हैं। 

इस इलाके से इन दिनों गढ़वा जिले के लिए वाहन खुलते हैं। छोटी-छोटी दूरी के टेम्पो का भी ठहराव यहां होता है।  हर दिन बड़ी संख्या में यहां लोगों का आना-जाना लगा रहता है। ऐसे में पेड़ों के रहने से लोगों को भारी राहत पहुंचती है। गर्मी के दिनों में तो इन पेड़ों की एहमियत और बढ़ जाती है। लेकिन जिस तरह से कचरा गिराकर आग लगा दी जा रही है, उससे पेड़ों के नष्ट होने की संभावना ज्यादा बढ़ गयी है। 

स्थानीय दुकानदारों का कहना है कि शाम ढ़लने के बाद यहां कचरा गिराया जाता है। नगर निगम के कचरा ढोने वाले वाहनों के अलावा होटलों और ठेलों के सूखे कचरे यहां डंप किए जाते हैं। यह सिलसिला लंबे समय से चलता आ रहा है। बाद में कचरा चुनने वाले इसमें आग लगा देते हैं। आस-पास मुआयना करने पर पता चला कि आग से अबतक आधा दर्जन पेड़ों को नुकसान पहुंचा है। इसी तरह से कचरा गिराकर आग लगती रही तो आस-पास के कई अन्य पेड़ भी जलकर सूख सकते हैं।