सोमवार से काम पर लौटेंगे मनरेगाकर्मी समेत पलामू की अन्य खबरें भी।

सोमवार से काम पर लौटेंगे मनरेगाकर्मी 

डालटनगंज, 19 जनवरी : पिछले 64 दिनों से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर डटे मनरेगाकर्मियों द्वारा सोमवार से काम पर लौटने का निर्णय लिया गया है। भारतीय मजदूर संघ के नेतृत्व में मनरेगा कर्मियों के प्रतिनिधिमंडल और मुख्यमंत्री के बीच शुक्रवार को हुई साकारात्मक वार्ता के बाद मनरेगाकर्मियों की हड़ताल समाप्त हो गयी। हड़ताल खत्म होने के निर्णय के बाद शनिवार को झारखंड राज्य मनरेगा कर्मचारी महासंघ की पलामू इकाई से जुड़े सदस्यों ने स्थानीय जिला स्कूल के प्रशाल में बैठक की। बैठक के दौरान पूर्व की तरह सोमवार से काम पर लौटने का निर्णय लिया गया। 

पलामू इकाई के अध्यक्ष विकास कुमार पांडेय ने कहा कि झारखंड मंत्रालय में मुलाकात में मुख्यमंत्री ने मनरेगा कर्मचारियों की समस्याएं सुनीं। उन्होंने मनरेगा कर्मियों के मानदेय वृद्धि में समस्या आने पर राज्यांश से राशि देकर सम्मानजनक वृद्धि करने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने मनरेगा कर्मियों की सेवा 60 वर्ष करने, मृत्यु होने पर पांच लाख रुपये देने, पांच लाख तक चिकित्सा सुविधा का प्रीमियम राज्य सरकार द्वारा देने, इपीएफ कटौती करने समेत अन्य मांगों पर सकारात्मक निर्णय लेने का आश्वासन दिया। 

मुलाकात के दौरान कार्मिक विभाग के अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल, ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव  अविनाश कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील कुमार बर्णवाल, भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश महामंत्री बिंदेश्वरी प्रसाद, मनरेगा कर्मचारी संघ अध्यक्ष अनिरुद्ध पांडे, महामंत्री इम्तियाज, नीरज कुमार समेत अन्य उपस्थित थे।

संघ के प्रधान महासचिव आनन्द कुमार ने कहा कि कुछ अन्य मांगे बाकी रह गए हैं, जिसे पूरा करने के लिए भविष्य में बड़े आन्दोलन की रणनीति तैयार की जायेगी। उन्होंने कहा कि केवल हड़ताल खत्म हुई है, आन्दोलन जारी रहेगा जब तक कि मनरेगाकर्मियों की स्थायीकरण एवं समान काम के बदले समान वेतन की मांग पूरी नहीं हो जाती। 

वरीय उपाध्यक्ष रामाकांत तिवारी ने कहा कि सरकार ने जिन मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया है, उसे एक सप्ताह के भीतर मंत्रीपरिषद की बैठक में प्रस्ताव बनाकर पारित करे और अधिसूचना जारी करे, अन्यथा मनरेगाकर्मी पूर्व की तरह आन्दोलन की तैयारी में जुट जायेंगे। 

बैठक में अन्य लोगों के अलावा जगत प्रसाद मेहता, विकास कुमार तिवारी, दिलीप पांडेय, अभय दुबे, अविनाश कुमार, संजय कुमार, अजय कुमार, पुरूषोतम कुमार गुप्ता, दिनेश, कृष्णा राम, जनेश्वर राम, अभिमन्यु कुमार सिंह, ब्रजेश कुमार तिवारी, आरजू तमन्ना, रीता, अनीता, अनुपमा टोप्पो, अमरेन्द्र मेहता, दीपक कुमार, मणि शंकर, अब्दुल रहमान भी उपस्थित थे।


हुसैनाबाद के विकास के लिए सभी वर्गों का साथ जरूरी: कमलेश 

हुसैनाबाद, 19 जनवरी: प्रखंड के कुर्मीपुर पंचायत अंतर्गत चैवाचट्टान गांव में आज राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के कार्यकर्ताओं की बैठक हुई। बैठक में मुख्य अतिथि के तौर पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व मंत्री कमलेश कुमार सिंह उपस्थित थे। ग्रामीणों और कार्यकर्ताओं द्वारा गर्मजोशी के साथ पूर्व मंत्री श्री सिंह का स्वागत किया।

मौके पर पूर्व मंत्री ने कहा कि हुसैनाबाद विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए सभी जाति, धर्म और समुदाय के लोगों का सहयोग चाहिए। उन्होंने कहा कि एनसीपी ने कभी भी जात-पात की राजनीति नहीं की है। हमेशा जमात की राजनीति करने की कोशिश हमारी पार्टी की रही है। इसी उद्देश्य पर आज भी हमारी पार्टी चल रही है। इसका सुखद परिणाम भी सामने आने वाला है। पूर्व मंत्री ने कहा कि अपना मत बहुत सोच समझ कर उसे दीजिये, जो क्षेत्र के विकास के लिए सदैव तत्पर हो।  

बैठक में एनसीपी के पलामू जिलाध्यक्ष अजीत सिंह, पार्षद सह प्रखंड अध्यक्ष मनदीप राम, जे.पी. सिंह, गुडु सिंह, शिवलाल राम, सत्येंद्र सिंह, अजय सिंह, प्रमोद पासवान, विजय राजवंशी, राजू सिंह, दीपू सिंह, सुरेश राजवंशी, हंसराज सिंह, युवा नेता नितेश सिंह उपस्थित थे।


बाल समागम में हुई कई प्रतियोगिताएं, सफल आने वाले हुए पुरस्कृत

सतबरवा, 19 जनवरी : स्थानीय बेसिक स्कूल परिसर मंे आज प्रखंडस्तरीय बाल समागम के आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर प्रमुख प्रमिला देवी और बीडीओ उज्जवल सोरेन उपस्थित थे। मौके पर स्कूली बच्चों के बीच कई तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।  

मौके पर प्रमुख ने कहा कि प्रतियोगिता परीक्षा होने से बच्चों की प्रतिभा में अप्रत्याशित निखार आता है। ऐसे कार्यक्रम होने से छात्र आत्मनिर्भर और सबल बनते हैं। बीडीओ ने कहा कि छात्र देश के भविष्य हैं। पढाई के साथ-साथ खेल प्रतियोगिताओं में अपनी प्रतिभा दिखाकर जिला सहित देश का नाम रौशन कर सकते हैं। 

इससे पूर्व प्रमुख, बीडीओ, बीईईओ पी.पी. शर्मा के साथ पलामू और चतरा के सतबरवा सांसद प्रतिनिधि मनीष कुमार, सोनू सिकंदर और बीपीओ मनोज कुमार ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इन अतिथियों के साथ अजाप्टा के जिला अध्यक्ष अमरेश सिंह, प्रखंड अध्यक्ष गोविंद प्रसाद, उपप्रमुख रानीलता, अर्पण गुप्ता, बिरेंद्र साहु ने बैलून के रस्सी के सहारे आसमान में उड़ाकर शांति और पढ़ाई मंे अव्वल लाने का संदेश दिया। मौके पर छात्राओं ने स्वागत गान के साथ नाटक आदि प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया।

इन प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन 

बाल समागम मंे छात्र-छात्राओं के बीच पेंटिंग, निबंध, क्वीज, वाद-विवाद, हैंड राईटिंग की प्रतियोगिताएं हुई। विज्ञान प्रदर्शनी लगायी गयी। छात्रों को आत्मरक्षा करने के गुर भी सिखाए गए। देशभक्ति गीत भी प्रस्तुत किए गए। मौके पर विजेता-उपविजेता के अलावा उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं के साथ शिक्षकों को भी सम्मानित किया गया। समागम में 400 के करीब छात्र-छात्राएं शामिल हुए।

फोटो: समागम का उद्घाटन करते अतिथि


चैनपुर में बाल समागम, बच्चों ने दिखाए कला के जौहर 

चैनपुर/सतबरवा 19 जनवरी (थर्ड आई): जिले के चैनपुर और सतबरवा प्रखंड क्षेत्र में आयोजित बाल समागम में विभिन्न विद्यालयों के स्कूली छात्र-छात्राओं ने कला के जौहर दिखाए। विज्ञान प्रदर्शनी, नाटक, स्वागत गान के अलावा विभिन्न तरह की प्रतियोतिगाएं आयोजित की गयी।    

चैनपुर हाईस्कूल के मैदान में आयोजित बाल समागम का उद्घाटन बीडीओ अलका कुमारी, जिला पार्षद मीना गुप्ता, डीईओ रामदयाल राम, बीपीओ अनु सिंह व रोहित कुमार गुप्ता ने संयुक्त रूप से किया। बाल समागम में एक से बढ़कर एक कार्यक्रमों की प्रस्तुति ने सबका मन मोह लिया। रामगढ़ की छात्राओं के प्रदर्शन पर लोग झूम उठे। सुन्नत उच्च विद्यालय के छात्र छात्राओं द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के तहत नाटक का मंचन किया गया। 

मौके पर बीडीओ अलका कुमारी ने कहा कि बाल समागम से बच्चों में छिपी प्रतिभा निखर कर सामने आती है। बच्चों को अपने कला के जौहर दिखाने का मौका मिलता है। जिला पार्षद मीना गुप्ता ने कहा कि प्रतिभावान बच्चे कार्यक्रम में शिरकत कर अपनी प्रतिभा दिखाते हैं। 

मौके पर अन्य लोगों के अलावा सीआरपी मोहन दुबे, मनोज कुमार, चितरंजन गोस्वामी, प्रवीण ओझा, व्यास राम, मनोज कुमार, सोनी बच्चन पाठक, अमिताभ किशोर, चक्रधारी दुबे, शिक्षक संचार प्रशांत कुमार, राजेश कुमार, मनोज कुमार सर्राफ, अजय पांडे, रविंद्र प्रसाद, चितरंजन गोस्वामी, सुनील कुमार, अनिल कुमार गुप्ता भी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक राकेश कुमार ने किया। 


जंगली हाथियों का कहर, कई मकान क्षतिग्रस्त-ग्रामीणों पर हमला  

बेतला/कांडी, 19 जनवरी : पलामू टाइगर रिजर्व के अलावा गढ़वा जिले के कांडी क्षेत्र में पिछले 24 घंटे के दौरान जंगली हाथियों ने जमकर कहर बरपाया। कई मकान क्षतिग्रस्त कर दिए, जबकि ग्रामीणों पर हमला बोला। हाथियों के उत्पात की सूचना मिलने के बाद भी देर से आए वन विभाग के अधिकारियों पर ग्रामीणों का गुस्सा देखा गया। ग्रामीण ने वन अधिकारियों को देखकर उनपर कई आरोप लगाए। 

ेबेतला नेशनल पार्क के पास हाथियों का आतंक  

बरवाडीह प्रखंड अंतर्गत बेतला नेशनल पार्क के आसपास जंगली हाथियों का आतंक कई दिनों से जारी है। पलामू किला जाने वाले रास्ते में स्थित तुरी टोला निवासी इमामुद्दीन अंसारी का घर शुक्रवार की मध्य रात्रि में जंगली हाथियों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। जिस घर को हाथियों ने तोड़ा, उसमें कई लोग सो रहे थे। अचानक दीवार गिरने से लोग घबारा गए। हाथी को दीवार से टकराते देख किसी तरह लोग घरों से निकल कर भागे।

नहीं भागते हो चली जाती जान 

प्रभावित परिवार ने बताया कि रात को अगर घर छोड़कर नहीं भागते तो उनकी जान चली जाती। दीवार गिरने से जलालुद्दीन के साथ-साथ उसकी पत्नी तेतरी बीवी, लालून मसोमात, शोकरार अंसारी बाल-बाल बच गए। ग्रामीणों ने बताया कि दीवार तोड़ने के बाद हाथियों द्वारा घर में रखे एक क्विंटल चावल को भी तितर-बितर कर दिया गया।   

वन विभाग क्षतिपूर्ति देने में करता है आनाकानी

पिछले वर्ष भी हाथी के द्वारा इसी परिवार के सदस्यों को घर को क्षतिग्रस्त किया था, लेकिन आज तक वन विभाग द्वारा प्रभावित परिवार को क्षतिपूर्ति की राशि नहीं दी गयी। इससे प्रभावितों में वन विभाग के अधिकारियों के प्रति आक्रोश व्याप्त है। पीड़ित परिवार काफी गरीब है। मकान क्षतिग्रस्त हो जाने के बाद ठंड के इस मौसम में पूरे परिवार का मकान में रहना मुश्किल हो गया है। 

जानकारी लेने के बजाए डीएफओ करने लगे सवाल-जवाब

हाथियों के उत्पाद और प्रभावित परिवार को मुआवजा दिए जाने के संबंध में जानकारी मांगने पर डीएफओ विनय कांत मिश्रा उल्टे इस संवाददाता से ही सवाल जवाब करने लगे। सारी जानकारी विभाग के रेंजर के लेने के बजाए यह पूछने लगे कि किसका घर टूटा है, कौन-कौन प्रभावित हुए हैं, कब हुई घटना? इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वन विभाग के अधिकारी अपने दायित्वों को निभाने में कितना सजग और तत्पर हैं।

कांडी में दहशत का माहौल 

इधर, कांडी के भंड़रिया गांव में अपने झंड से बिछड़कर घुसे एक जंगली हाथी के आंतक से ग्रामीण दहशत में हैं। भड़रिया निवासी अनूप सिंह को हाथी ने पैर से मारकर घायल कर दिया है। मोरबे निवासी मनोज राम के पुत्र अनूप कुमार को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया है। ग्रामीणों के मुताबिक शुक्रवार की देर रात से ही एक हाथी गांव में प्रवेश कर गया है। जंगली हाथी गांव में ही घुम रहा है। ग्रामीणों ने मशाल जला कर हाथी को भगाने की कोशिश की, लेकिन हर कोशिश बेकार हो गया। फिलहाल ग्रामीण दहशत में हैं। शनिवार की सुबह तक हाथी भड़रिया गांव में घुम रहा था, जिससे आसपास के कई गांवों के लोग दहशत में हैं। हाथी पलामू जिला के मोहम्मदगंज वन क्षेत्र से भटककर कोयल नदी पार करते हुए गढ़वा के कांडी प्रखंड में दाखिल हुआ है। 

वन विभाग पर फूटा गुस्सा 

इधर, हाथी के गांव में घुस जाने की सूचना मिलने पर शनिवार को भड़रिया पहुंची वन विभाग की टीम पर ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। रेंजर मुन्ना पासवान व उनके टीम के सदस्यों को भड़रिया गांव निवासी सह झामुमो नेता अंजनी सिंह सहित अन्य ग्रामीणों ने कई आरोप लगाए। कहा कि ग्रामीण नीलगाय और हाथी से परेशान हैं, लेकिन विभाग के अधिकारियों पर इसका कोई असर नहीं देखा जा रहा है। उनकी मेहनत नष्ट हो जा रही है। लोगों भय के माहौल में जीने को विवश हैं। 

झामुमो नेता ने कहा कि अगर गंभीर रुप से घायल बच्चे की जान नहीं बचती है, तो वन विभाग के खिलाफ उग्र आंदोलन किया जायेगा। वन विभाग की टीम भी हाथी को गांव से जंगल की ओर भगाने में लगी हुई है। भगाने के क्रम में वन विभाग के एक कर्मी व एक ग्रामीण भी आंशिक रूप से घायल हो गये हैं। 

क्या कहते हैं डीएफओ

डीएफओ ए.के. गुप्ता ने कहा कि वन विभाग की टीम ग्रामीणों के साथ हाथी को भगाने में लगी हुई है। ग्रामीण आक्रोशित न हो धैर्य से काम लें।


अखिलेश कुमार वर्मा की 79वीं जयंती मनायी गयी

डालटनगंज, 19 जनवरी: चैनपुर एसवीडी पब्लिक स्कूल में दायित्व ट्रस्ट की स्थापना और इसके संस्थापक स्व. अखिलेश कुमार वर्मा की 79वीं जयंती मनायी गयी। कार्यक्रम में मुख्य रूप से विद्यालय के निदेशक अविनाश कुमार वर्मा उपस्थित थे। कार्यक्रम में विद्यालय के प्रधानाचार्य देव आनंद प्रसाद, शिक्षक विश्वनाथ शर्मा, विशाल रंजन, मनोज श्रीवास्तव, शिक्षिका प्रतिमा गुप्ता, शशि कुजुर, अभिलाषा वर्मा, किरण पाठक, रति सहाय, श्वेता, सुहानी, सोनम, कामिनी, विशाखा वर्मा एवं सहकर्मी सुनील कुमार, विमला आदि मौजूद थे।



एक ही परिवार के दो बच्चों की मौत, पति-पत्नी गंभीर 

रांची, 19 जनवरी (एजेंसियां): बरियातू थाना क्षेत्र स्थित न्यू मोरहाबादी एरिया स्थित एक ही परिवार के दो बच्चों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। वहीं, उनके माता-पिता की स्थिति गंभीर है। पुलिस ने आशंका जाहिर की है कि इन्होंने विषाक्त भोजन खाया है। फिलहाल जांच और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही मामला स्पष्ट हो सकेगा। 

पुलिस के अनुसार सुभाष मोरहाबादी में समोसा बेच कर अपने परिवार का पोषण करता था। वो अपने दो बेटे विक्रम (7), पप्पू (13), दो बेटियां और पत्नी कमला देवी के साथ रहता था। इनके पड़ोस में ही कुछ और रिश्तेदार भी रहते हैं। रिश्तेदारों ने बताया कि शुक्रवार की रात कमला ने घर पर आलू और चीनी का पिठ्ठा बनाया था।

रिश्तेदारों के अनुसार, सुभाष ने चूड़ा, दूध और चीनी खाया जबकि कमला, दोनों बच्चे और सभी रिश्तेदारों ने पिठ्घ्ठा खाया। इसके बाद सभी सो गए। सुबह करीब चार बजे कमला ने सुभाष को जगाकर उल्टी होने की बात बताई। सुभाष ने भी तबियत खराब होने की बात कही। इसके बाद दोनों ने बेटे को जगाया तो उनका शरीर अकड़ा मिला।

सुभाष ने फौरन अपने रिश्तेदारों को इसकी सूचना दी और सभी रिम्स पहुंचे। यहां डॉक्टर्स ने दोनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। जबकि सुभाष और कमला की स्थिति नाजुक बताई जा रही है। माना जा रहा है कि बच्चों की मौत रात में ही हो गई थी। वहीं, पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।


डालटनगंज, 19 जनवरी : उपायुक्त डॉ. शान्तनु कुमार अग्रहरि के कार्यालय कक्ष में स्वच्छ भारत मिशन योजना (ग्रामीण) गोबरधन योजना से संबंधित जिला जल एवं स्वच्छ समिति की बैठक की गई। बैठक में बताया गया कि जिले के विभिन्न प्रखण्डों से स्वच्छ भारत मिशन योजना (ग्रामीण) गोबरधन योजना के तहत कुल छः प्रस्ताव आए है। पांकी की सिन्डी तथा करार पंचायत, सदर की चियांकी, नावाबाजार की बसना, चैनपुर की मझीगांवा तथा जिला जल स्वच्छता समिति की अनुशंसा पर हरिनंद पाठक और दुबियाखांड़ हेतु प्रस्ताव स्वीकार हुए हैं। 

उपायुक्त ने बताया की इसे जिला से स्वीकृत किया जाएगा तथा राज्य के टेक्नीकल टीम स्थल की जांच करेगी और तकनीकी पहलु की जानकारी प्राप्त करेगी। इस योजना के छः प्रस्ताव में से किन्ही दो प्रस्ताव को राज्य की टेक्नीकल टीम चयन करेगी, जहाँ गोवर्धन योजना कार्यक्रम शुरू की जाएगी। प्रोजेक्ट के तौर पर जिला से योजना शुरूआत होगी तथा उसके बाद सभी गाँवों में योजना को लागू किया जाएगा।

आज की इस बैठक में उपायुक्त सहित उप विकास आयुक्त, जिला पंचायती राज्य पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई विभाग, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, शिक्षा पदाधिकारी, जिला शिक्षा अधीक्षक, सहायक जिला समन्वयक, तथा असैनिक शैल्य चिकित्सक उपस्थित थे।


1622 गांवों से पहुंची पवित्र माटी

डालटनगंज 19 जनवरी: हर गांव के पावन स्थल की मिट्टी को संग्रहित करने का यह प्रशंसनीय प्रयास है। पलामू के सभी प्रखंड व गांवों का अपना इतिहास है। पलामू में इतिहास पुरूष राजा मेदिनीराय व नीलाम्बर-पीताम्बर की आत्मा का नमन करते हुए कहना चाहता हूं कि किसी भी जगह का अपना इतिहास होता है। पलामू का भी अपना इतिहास है। इस इतिहास को संजोने के लिए संग्रहालय जरूरी है। झारखंड सरकार ने संग्रहालय स्थापित कर प्रदेश के सभी गांवों का मिट्टी एकत्र कर व इस मिट्टी से वीर शहीदों की प्रतिमा स्थापित करने का निर्णय लिया है। यह सरकार का प्रशंसनीय कदम है। उक्त बातें उपायुक्त डा. शांतनु कुमार अग्रहरि ने शनिवार को टाउन हाॅल परिसर में गांवों से इकट्ठी की गई पावन मिट्टी के ‘एक पात्र में संग्रहण’ समारोह में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि राजकीय संग्रहालय में पलामू की मिट्टी रहने से यहां का मान-सम्मान बढे़ेगा।

 मौके पर पुलिस कप्तान इन्द्रजीत माहथा ने कहा कि यह अदभूत व अविस्मरणीय क्षण है। झारखंड में गांव-गांव के मिट्टी को जमा कर शहीदों के कुर्बानियों को याद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज का दिन शहीदों के प्रति कृतज्ञता जाहिर करने का है। 

जिला परिषद की अध्यक्ष प्रभा देवी ने पलामू सहित झारखंड के वीर शहीदों को नमन किया। उन्होंने कहा कि इस पवित्र मिट्टी से शहीदों की प्रतिमा का निर्माण किया जाना प्रशंसनीय एवं अनुकरणीय है। उपाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने कहा कि सरकार का यह अति सराहनीय प्रयास हैं। 

इस अवसर पर सभी आगत अतिथियों की उपस्थिति में सभी प्रखंडों के 1622 गांवों से आई मिट्टी को एक बड़े पात्र में संग्रहित किया गया। इस मिट्टी को रांची के मोरहाबादी मैदान पर बिरसा मंडप में संग्रहित किया जायेगा। यहां मुख्यमंत्री रघुवर दास इस पावन मिट्टी को लेकर पदयात्रा करते हुए बिरसा मुंडा जेल परिसर पहुंचेंगे, जहंा पावन मिट्टी को वीर शहीदों की प्रतिमा के अधिष्ठापन में इस्तेमाल किया जायेगा।

इस अवसर पर कार्यक्रम में उपस्थित सभी टाना भगतों को उपायुक्त एवं अन्य आगत अतिथियों ने शाॅल ओढ़ाकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में पर्यटन, कलासंस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग द्वारा आयोजित शनि पर्व के कलाकारों द्वारा गीत-संगीत व भजन प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम का संचालन हाजी अशफाक अहमद व स्वागत भाषण जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार ने किया। कार्यक्रम में कई पंचायत प्रतिनिधि, पाटन के प्रखंड विकास पदाधिकारी सोमनाथ बनर्जी सहित कई गणमान्य उपस्थित थे।