पलामू : अमरेश उरांव हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा-पत्नी ने करायी पति की हत्या, पांच गिरफ्तार

पलामू : अमरेश उरांव हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा-पत्नी ने करायी पति की हत्या, पांच गिरफ्तार

पलामू 22 जनवरी : पुलिस ने मनातू थाना क्षेत्र निवासी अमरेश उरांव की हत्या की गुत्थी सुलझा ली है. इस मामले में अमरेश की पत्नी राजो देवी समेत पांच अपराधकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पति-पत्नी के बीच पवित्र रिश्तों में आयी खटास के कारण इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया था.   

मारपीट से तंग आकर पत्नी ने बनायी हत्या की योजना 

जिले के पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत माहथा ने मंगलवार को बताया कि अमरेश उरांव अपनी पत्नी राजो देवी के साथ मारपीट और गाली-गलौज करता था. इसी से तंग आकर उसने अपने पति की हत्या की साजिश अपने परिचित ललन बैठा के साथ मिलकर रची.  

लापता पिता को ढूंढने के दौरान हुई अमरेश की हत्या  

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अमरेश उरांव के पिता सुदेश उरांव पिछले दो माह पूर्व से बालूमाथ थाना क्षेत्र से लापता थे. इसी दौरान 14 जनवरी को एक मोबाइल नम्बर 9801340489 से फोन आया और सुदेश उरांव के मिलने की सूचना दी गयी. इस सूचना पर अमरेश उरांव अपने पिता को ढूढ़ने निकल पड़ा. इसी क्रम में राजो देवी की मिलीभगत से अरमान खान, जुनैद खान उर्फ जोड़ी, नौशाद खान (तीनों ग्राम गुरहा-थाना तरहसी निवासी), गौतम महतो (परसावा गांव) ने पहले अमरेश उरांव को शराब पिलायी और बाद में लाठी-डंडों से पीटकर और गला काटकर उसकी हत्या कर दी.

हत्या के बालू में दफना दिया गया था शव 

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हत्या के बाद अमरेश उरांव के शव को आमानत नदी के मकनपुर घाट में छिपा दिया गया. उन्होंने बताया कि सबसे पहले मोबाईल नम्बर 9801340489 के प्रयोगकर्ता राजीव रंजन (ग्राम परसांवा) को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी. इस दौरान उसने अपराध स्वीकार करते हुए पूरे मामले पर से पर्दा हटा दिया. राजीव रंजन की निशानदेही पर ही अमरेश उरांव का शव बरामद किया गया. गिरफ्तार आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

पैसा विवाद को लेकर मारपीट, एक की मौत

डालटनगंज 22 जनवरी : जिले के पांकी थाना क्षेत्र के कुछ ग्रामीणों के बीच पैसों को लेकर हुए विवाद में जमकर मारपीट हुई। इस घटना में पीपरा टांड़ थाना क्षेत्र के गडगांव निवासी गुरमली भुइयां बुरी तरह जख्मी हो गये। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चिकित्सकों के उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत माहथा ने बताया कि गुरमली भुईयां 20 जनवरी को अन्य ग्रामीणों शंभू भुईयां, आफताब आलम और इजहार अली के साथ लातेहार जिले के हेरहंज बाजार गये हुए थे। वहां से लौटने के क्रम में  ब्रजेश यादव और ब्रजेन्द्र यादव के साथ उनका विवाद हो गया। इसी दौरान मारपीट में गुरमली भुईयां गंभीर रूप से घायल हुए जिनकी बाद में मौत हो गयी। श्री माहथा ने बताया कि कांड दर्ज कर मामले का अनुसंधान किया जा रहा है। इस मामले में हेरहंज थाना से भी सहयोग लिया जा रहा है। क्यांकि घटना स्थल पांकी-हेरहंज की सीमा पर अवस्थित है। उन्होंने कहा कि दोनों नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है।