पुलिस ने देशी शराब की 42 सौ पाउच की जब्त समेत पलामू की अन्य खबरें।

पुलिस ने देशी शराब की 42 सौ पाउच की जब्त 

डालटनगंज, 22 जनवरी : हरिहरगंज थाना पुलिस ने बीती रात गश्ती के दौरान वाहन चेकिंग अभियान  चलाकर अवैध रूप से खरीद-बिक्री के लिए ले जायी जा रही है स्कॉपियों से करीब 4200 पाउच देशी शराब (21 बोरा, प्रत्येक बोरा में 200 पीस पाउच) को बरामद किया है। 

थाना प्रभारी वंश नारायण सिंह ने बताया कि 21 जनवरी की रात पुलिस नियमित गश्त पर थी। इसी दौरान छत्तरपुर से औरंगाबाद की ओर जा रही स्कॉपियो को शक के आधार पर रोक कर तलाशी ली गयी। इस दौरान स्कॉपियो के अंदर भारी मात्रा में देशी शराब पाया गया। पुलिस ने उत्पाद अधिनियम के तहत स्कॉपियो मालिक अमित कुमार गुप्ता और चालक के विरूद्ध मामला दर्ज कर लिया है। 

छापामारी अभियान में सअनि संजय कुमार सिंह, आरक्षी विविक कुमार, रामबाबु कुमार पासवान, अरूण कुमार सिंह, शक्ति कुमार सिंह और रामचंद्र राम साथ थे। 

डाली के कौशल नगर में बनेगा संकट मोचन मंदिर 

धार्मिक अनुष्ठानों से दूर होगी समाजिक प्रदूषण : कौशल 

डालटनगंज, 22 जनवरी (थर्ड आई) : धार्मिक अनुष्ठानों से समाजिक प्रदूषण दूर हो सकती है। प्रदूषण किसी भी तरह का हो, खतरनाक होता है। आज प्रदूषण के कारण वातावरण का संतुलन बिगड़ा हुआ है। ठीक इसी तरह समाजिक प्रदूषण के कारण आपसी सौहार्द बिगड़ गया है। उक्त बातें विश्वव्यापी पर्यावरण संरक्षण अभियान के केंद्रीय अध्यक्ष सह पर्यावरणविद् कौशल किशोर जायसवाल ने कही। श्री जायसवाल जिले के छत्तरपुर प्रखंड अंतर्गत डाली बाजार के कौशल नगर में संकट मोचन मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन एवं शिलान्यास कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

श्री जायसवाल ने कहा कि बिना धर्म के किसी प्रकार का धन नहीं आता। यदि किसी प्रकार का धन आ भी गया तो उस उसकी आयु बहुत कम होती है। जिस तेजी से आता है, ठीक उसी प्रकार उसका पतन भी हो जाता है। उन्होंने कहा कि धर्म तो धर्म होता है, चाहे पर्यावरण धर्म हो या फिर सनातन धर्म। सिख धर्म हो या फिर इस्लाम धर्म। ईसाई धर्म, बौध धर्म या जैन धर्म। धन के रूप भी धर्म की तरह ही होते हैं। लक्ष्मी, ईंधन, भूमि, पुत्र-पुत्री या फिर संतोष सभी धन के ही रूप हैं, लेकिन यह तभी संभव है, जब पृथ्वी रहेगी। इसके लिए पर्यावरण धर्म के आठ मूल मंत्रों को अपनाना होगा। जब तक समाजिक प्रदूषण में रहेंगे, तबतक किसी प्रकार की सुख की कामना नहीं हो सकती।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से श्री श्री 108 नारायण आचार्य, डाली के मुखिया अमित जायसवाल, श्रवण प्रसाद, रामजी प्रसाद, सुजीत कुमार, रघुनाथ प्रसाद, रामजन्म यादव, योगेंद्र प्रसाद, कोमल, जाधव बिहारी सिंह, बृजकिशोर विश्वकर्मा, भूषण प्रसाद, रामप्रवेश प्रसाद, संजय कुमार, सुरेश पासवान छोटू सिंह, डॉक्टर राम लखन प्रसादभी उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता धर्मदेव जाधव ने की, जबकि संचालन दीनानाथ प्रसाद ने किया। 

ब्रेन हेमरेज से संतोष पाठक का निधन   

डालटनगंज, 22 जनवरी  : संस्कार भारती के पलामू जिला प्रमुख सह गुलाबचंद प्रसाद अग्रवाल इंटर कॉलेज के प्राचार्य प्रियरंजन पाठक के बड़े भाई संतोष पाठक का ब्रेन हेमरेज कर जाने से निधन हो गया। 21 जनवरी को ब्रेन हेमरेज होने पर संतोष पाठक को इलाज के लिए रांची के राज हास्पिटल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी। इसी दिन दोपहर में उनका शव डालटनगंज लाया गया। बाद में हरिश्चंद्र घाट पर दाह संस्कार किया गया। संतोष पाठक के निधन पर प्रियरंजन पाठक सहित उनका पूरा परिवार शोकाकुल है। 

शैक्षणिक समस्याओं के निदान को लेकर कुलपति को ज्ञापन  

डालटनगंज, 22 जनवरी  : नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय और उसके अधीन महाविद्यालयों में ब्याप्त कथित शैक्षणिक समस्याओं को लेकर मंगलवार को सर्वदलीय छात्र नेताओं ने कुलपति डा. एसएन सिंह को ज्ञापन सौंपा। छात्र नेताओं ने समस्याओं को दूर करने का आग्रह किया, ताकि शिक्षा का बेहतर माहौल तैयार किया जा सके। 

छात्र नेताओं ने कुलपति से फरवरी महीने में छात्र संघ चुनाव कराने, बीएड गबन मामले में जांच रिपोर्ट सार्वजनिक करने, फर्जी छात्रसंघ मामले में कार्रवाई सार्वजनिक करने, आउट सोर्सिंग द्वारा नियुक्तियों में 100 प्रतिशत स्थानीयता का लाभ मिले, छात्र आयोग का गठन करने, जीएलए कॉलेज और महिला कॉलेज को ओटोनोमस कॉलेज का दर्जा देने, गर्ल्स हॉस्टल (जीएलए कॉलेज) को चालू करने और सभी कॉलेजों में छात्राओं के लिए बस की व्यवस्था कराने की मांग की गयी है। 

छात्र नेताओं ने कहा कि उनकी मांगों पर 26 जनवरी तक उचित आश्वासन और कार्रवाई नहीं की गयी तो छात्रों के साथ आन्दोलन करने पर बाध्य होंगे। 

ज्ञापन देने वालों में आपसू के कमलेश कुमार पांडेय, कुंदन कुमार और राजीव रंजन, जेसीएम के रोहित कुमार सिंह और मुन्ना सिंह, एनएसयूआई के अभिषेक तिवारी और अमरनाथ तिवारी, वाईजेकेएसएफ के प्रवीण सिंह और अनमोल दुबे तथा शिव नारायण साव शामिल थे।