10 लाख का ईनामी सहित पांच नक्सली ढेर

10 लाख का ईनामी सहित पांच नक्सली ढेर

लातेहार में भी भिड़े पुलिस-माओवादी  

डालटनगंज, 29 जनवरी : झारखंड में आज पुलिस-नक्सलियों पर भारी पड़ी। खूंटी-चाइबासा बार्डर पर हुई मुठभेड़ में जहां पीएलएफआई के कमांडर सहित पांच नक्सली मारे गए, वहीं मुठभेड़ पलामू-लातेहार के सीमावर्ती मनिका थाना क्षेत्र में पुलिस-माओवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली भाग निकले। 

खूंटी जिले के अड़की में मंगलवार सुबह नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में 10 लाख रुपए के इनामी पीएलएफआई के कमांडर प्रभु साहब बोदरा समेत पांच नक्सली मारे गए। इस दौरान दो नक्सली घायल भी हो गए, जिन्हें गिरफ्तार कर रिम्स में भर्ती कराया गया है। नक्सलियों के पास से दो एके-47, पिस्टल समेत अन्य हथियार बरामद हुए हैं। पुलिस के मुताबिक, अड़की थाना के तिरला पहाड़ी पर सुरक्षाबलों की एक टीम सर्च ऑपरेशन पर निकली थी। इसी दौरान नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई में पांच नक्सली मारे गए।

लातेहार जिले के छिपादोहर थाना अंतर्गत अति सुदूर कुरुम खेत ग्राम के जंगल में मंगलवार सुबह सात बजे सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन और माओवादियों की मुठभेड़ शुरु हुई। मिली जानकारी के मुताबिक, मुठभेड़ के बाद नक्सली कुछ सामान छोड़ कर जंगल का लाभ उठाते हुए भाग निकले। वही सुरक्षा बल अब भी मोर्चे पर डटकर इलाके को सर्च कर रहे हैं। मुठभेड़ की पुष्टि लातेहार एसपी प्रशांत आनंद ने की है, लेकिन विशेष जानकारी के लिए कुछ भी कहने से इनकार किया है। 

सूत्रों कि मानें तो लातेहार पुलिस को, बिहार-झारखंड स्पेशल एरिया कमिटी सदस्य बलराम एवं छोटू के इलाके में छिपे होने की जानकारी मिली थी। खबर थी कि अपने 25 सदस्यों के साथ वो इलाके में मोजूद है और अपनी सक्रियता बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं, जिसकी सूचना पर कोबरा के जवान कुरुम खेता पहुंचे, लेकिन माओवादियों की ओर से फायरिंग शुरु हो गई. जिसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी फायरिंग की.