जपला में होंगे मरम्मत कार्य, दिन में नहीं मिलेगी बिजली समेत पलामू की अन्य खबरें।

जपला में होंगे मरम्मत कार्य, दिन में नहीं मिलेगी बिजली 

हुसैनाबाद, 2 फरवरी: आईपीडीएस योजना के अंतर्गत 33 के.वी. फीडर का पचम्बा ग्रिड से जपला विद्युत् शक्ति उपकेंद्र तक लाइन को दुरुस्त करने के कारण जपला शहर, ग्रामीण, पंसा तथा दंगवार इलाके में विद्युत आपूर्ति दिन में बाधित रहेगी। आगामी चार फरवरी से 6 फरवरी तक सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक जपला शहर बिजली आपूर्ति बाधित रखने का निर्णय लिया गया है।  

सहायक विद्युत् अभियंता (विद्युत् आपूर्ति अवर प्रमंडल जपला) ने बताया कि इसी तरह 8 फरवरी को 33 के.वी. जपला और मोहम्मदगंज फीडर बंद रहेंगे, जिससे जपला, हैदरनगर एवं मोहम्मदगंज प्रखंड में विद्युत् आपूर्ति सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक बंद रहेगी। इस दौरान उन्होंने उपभोकताओं से सहयोग की उम्मीद जतायी है। 

पांकी में भगवान भरोसे चलते हैं सरकारी विद्यालय  

पांकी, 2 फरवरी: शिक्षा के क्षेत्र में सरकार करोड़ों रूपये खर्च कर रही है, लेकिन शिक्षकों और पदाधिकारियों की सुस्ती से इसकी जमीनी हकीकत काफी खराब है। बच्चे लगातार स्कूल से कटते जा रहे हैं और शिक्षक और संबंधित विभाग के पदाधिकारी अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं। इसकी रियलिटी जांचने के लिए पांकी के कुछ स्कूलों का जायजा लिया गया। 

प्रखंड मुख्यालय से महज दो किलोमीटर दूर स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय बसडीहा का अवलोकन किया गया तो वहां से चैकाने वाले मामले सामने आए। सुबह के 10.40 मिनट हो रहे थे। बच्चे स्कूल पहुंच गए थे, लेकिन शिक्षकों का कहीं कोई अता-पता नहीं था। 11 बजे तक बच्चे स्कूल परिसर मंे खेलते रहे, लेकिन तबतक ना तो किसी शिक्षक का आगमन हुआ और ना ही स्कूल के जिम्मेवार कर्मी ही वहां पहुंचे। 

प्रखंड मुख्यालय से कुछ ही दूरी पर विद्यालय का रहना और वहाँ पदस्थापित शिक्षक का आवास भी पांकी प्रखंड मुख्यालय में ही है। उसके बाद यह स्थिति है। पांकी-मेदिनीनगर मुख्य मार्ग में विद्यालय की यह स्थिति है तो दूरस्थ क्षेत्रांे के विद्यालय कितना समय पर खुलते होंगे, इसकी आप कल्पना कर सकते हैं?    

पांकी प्रखंड क्षेत्र में सरकारी विद्यालयों की कमोवेश ऐसी ही स्थिति है। शिक्षक अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं। इन्हें जब जी चाहा विद्यालय खोले और जब मन किया बन्द कर चलते बने। रसोईया को स्कूली बच्चों को एमडीएम खिलाकर विद्यालय बन्द करने का फरमान सुनाकर शिक्षक समय से पहले विद्यालय से गोल हो जाते हैं। कई मौकों पर देखा गया है कि प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी बीआरसी भवन में ही जमे नजर आते हैं। उन्हें नियमित विद्यालयों की स्थिति जांचने का निर्देश है, लेकिन उनका भी दायरा सिमट कर रह गया है। 

क्या कहते हैं बीईईओ? 

इस संबंध में पूछे जाने पर प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी पांकी पश्चिमी बाबू राम मुर्मू ने कहा कि संबंधित शिक्षक से स्पस्टीकरण पूछा जायेगा। संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर कार्रवाई की जायेगी। 

शाहपुर-गढ़वा मार्ग पर सुरक्षा माहौल बनाने के लिए चार घंटे तक हुई चेकिंग

डालटनगंज 2 फरवरी : शाहपुर-गढ़वा मुख्य पथ पर से पिछले दिनों नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय के कंप्यूटर इंजीनियर का अपहरण किए जाने के बाद इस मार्ग पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है। आपराधिक घटनाओं के लिए कुख्यात मंगरदाहा घाटी से लेकर गांधीपुर तक सुरक्षा का माहौल बनाने के लिए शुक्रवार की रात चार घंटे तक पैदल पेट्रोलिंग कर चेकिंग अभियान चलाया गया। हर आने-जाने वाले वाहनों पर नजर रखी गयी। 

पैदल गश्त अभियान का नेतृत्व चैनपुर थाना प्रभारी सुनीत कुमार ने किया। श्री कुमार ने बताया कि पैदल गश्त अभियान रात 11 बजे से शनिवार की तड़के पर चलाया गया। इस दौरान लगभग तीन दर्जन वाहनों की जाचं की गयी। जांच के दौरान कोई उपलब्धि तो नहीं मिली, लेकिन आने-जाने वाले वाहन चालकों में सुरक्षा का माहौल देखने को मिला। उन्होंने बताया कि शाहपुर-गढ़वा रोड में पिछले दिनों हुई इंजीनियर के अपहरण के बाद इस सड़क पर रात्रि सुरक्षा को चुनौती के रूप में लिया गया। सुरक्षा की दृष्टिकोण से बांसडीह में स्थायी पुलिस पिकेट खोल दिया गया है। इस पिकेट के जवानों की मदद से गढ़वा बार्डर तक सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने की तैयारी है।  

यह चेकिंग अभियान समय समय पर लगातार जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन का उद्देश्य शाहपुर-गढ़वा सड़क मार्ग को सुरक्षित मार्ग के रूप में माहौल तैयार करना है। 

बिजली बिल माफ करवाने के लिए विधायक से गुहार

तरहसी, 2 फरवरी : प्रखंड के पाठक पगार में बिजली पहुंचे बगैर एक-एक उपभोक्ता को दस-दस हजार रूपये का बिजली बिल दिये जाने के बाद उपभोक्ता परेशान हैं। इस परेशानी से निजात पाने के लिए आज बड़ी संख्या में उपभोक्ता क्षेत्रीय विधायक देवेन्द्र सिंह से मिले और बिल माफ कराने की गुहार लगायी।  

क्षेत्र भ्रमण के दौरान पाठक पगार पहुंचे विधायक को अपना दुखड़ा सुनाते हुए ग्रामीणों ने 10-10 हजार का बिजली बिल दिखाया। ग्रामीणों ने विधायक को बताया कि उनके गांव में बिजली नहीं पहुंची, लेकिन विभाग उनके नाम पर हजारों रूपये का बिल भेज दिया है। उनकी आर्थिक स्थिति काफी खराब है। ऐसे में बिल माफ करा देने से उन्हें राहत मिलेगी। 

विधायक ने ग्रामीणों का आश्वस्त किया कि मामले में बिजली विभाग के अधिकारियों से बात की जायेगी और निदान का प्रयास किया जायेगा। मौके पर असहाय मातृ सेवा सोसाइटी राष्ट्रीय अध्यक्ष लल्लू सिंह, कयूम अंसारी, प्यार मोहम्मद, शौकत अंसारी, हारून रसीद, मनाजरूल हक, रियाज अंसारी, जैनुल मियां सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे।

विदित हो कि राजीव गांधी विद्युतीकरण के कनेक्शनधारियों (बीपीएल परिवार) को विभाग द्वारा पिछले दिनों बिल भेजा है। एक-एक उपभोक्ता के नाम पर दस-दस हजार का बिल थमाया गया, जबकि गांव में बिजली नहीं जलती। इससे ग्रामीणों में भारी रोष है। 

मैच फिक्सिंग में हारने के बाद किया सुसाइड 

चैनपुर, 2 फरवरी : चैनपुर बाजार मुहल्ला निवासी सुलेमान खलीफा के 20 वर्षीय पुत्र तामिलरज्जा का शव शुक्रवार के देर शाम थाना क्षेत्र के डुमरी गांव के एक कुआं से बरामद किया गया। चैनपुर पुलिस ने शव को अपने कब्जे में कर सदर अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। थाना प्रभारी सुनीत कुमार ने बताया कि मृतक के पिता सुलेमान खलीफा द्वारा हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई गई है पर मैच में सट्टा मे हारने के बाद सुसाइड करने की बात भी सामने आई है। पुलिस द्वारा अनुसंधान किया जा रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद हत्या या आत्महत्या के बारे में कुछ कहा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि यदि हत्या के बाद सामने आई तो जल्द अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। परिजनों ने बताया कि गुरुवार के शाम मे मृतक घर से निकला था। उसके बाद से घर वापस नहीं आया। गुरुवार के देर रात्रि से ही उसकी खोजबीन जारी थी। शुक्रवार देर शाम मे डुमरी गांव के एक कुआं में शव पाये जाने की सूचना मिली। इसकी सूचना तुरंत चैनपुर पुलिस को दी गयी। पुलिस ने शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए शनिवार की सुबह भेज दिया। परिजनों ने बताया कि उसके चेहरे पर चोट के निशान देखे गए हैं। पुलिस दोनों पहलू पर जांच कर रही है। उसकी मौत से बाजार क्षेत्र में मातम छा गया है। 

पलामू: लूट के मोबाइल का इएमआइइ नंबर बदल कर इस्तेमाल कर रहे तीन सड़क लुटेरे गिरफ्तार 

 पलामू 2 फरवरी: पलामू जिले की चैनपुर पुलिस ने तकनीक के सहारे एक लूटकांड का उद्भेदन करते हुए तीन सड़क लुटेरों को गिरफ्तार किया है. उनके पास से लूटे गए मोबाइल फोन बरामद हुए हैं. इन मोबाइलों के इएमआइइ नंबर बदलकर उसका इस्तेमाल किया जा रहा था. मोबाइल लोकेशन सामने आने के बाद कार्रवाई की गयी और तीनों को धर दबोचा गया.  

चैनपुर थाना प्रभारी सुनीत कुमार ने बताया कि चैनपुर के कल्याणपुर से अशोक चैधरी के पुत्र उपेन्द्र चैधरी और मेदिनीनगर के पहाड़ी से निजामुद्दीन सिद्दीकी के पुत्र समीर अहमद और रामलाल उरांव के पुत्र सुखदेव कुमार को गिरफ्तार किया गया है. उनके पास से लूटे गए मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं. पूछताछ के दौरान तीनों ने लूट में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. उन्होंने कहा कि उनके अन्य साथियों के साथ पूर्व की घटनाओं में उनकी संलिप्तता का पता लगाया जा रहा है.

थाना प्रभारी ने बताया कि मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र के बारालोटा निवासी देवेन्द्र कुमार के साथ चैनपुर-रमकंडा (गढ़वा) मार्ग पर दिसम्बर महीने में लूटपाट हुई थी. रमकंडा से परिवार के साथ मेदिनीनगर लौटने के दौरान लुटेरों ने देवेन्द्र कुमार को रोका था और उनके और परिवार के सदस्यों से आधा दर्जन मोबाइल के अलावा 16 हजार रूपये नगद लूट लिए थे. इस संबंध में गत 30 दिसम्बर 2018 को देवेन्द्र कुमार ने चैनपुर थाना में कांड संख्या 256/18 के तहत मामला दर्ज कराया था.

थाना प्रभारी ने बताया कि लुटेरों की पहचान के लिए कई स्तरों पर कार्रवाई तेज की गयी थी. साइबर एक्सपर्ट को इसमें लगाया गया था. इसी बीच लूटे गए मोबाइल के इएमआइई नंबर बदलकर उसके इस्तेमाल करने की जानकारी हुई. मोबाइल लोकेशन को खंगाला गया और एक-एक करके तीन लुटेरों को पकड़ा गया.

 पलामू: ईवीएम और वीवीपैट मशीनों का प्रमुख सरकारी कार्यालयों में प्रदर्शन, मतदाताओं का दी गयी जानकारी

पलामू, 2 फरवरी: आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग के निर्देश पर पलामू जिले के सभी प्रमुख सरकारी कार्यालयों और प्रखंड मुख्यालयों में वीवीपैट युक्त ईवीएम मशीन से मतदान करने संबंधी आम लोगों को जागरूक किया जा रहा है। आम मतदाताओं को वीवीपैट युक्त ईवीएम मशीन के बारे में पूरी तौर पर तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराना चुनाव आयोग का उद्देश्य है। 

आज समाहरणायल परिसर, सदर एसडीओ कार्यालय, मेदिनीनगर नगर निगम कार्यालय, सदर प्रखंड कार्यालय सहित प्रमुख कार्यालयों में मतदाताओं और जन समान्य को ईवीएम एवं वीवीपैट के लिए जागरूक करने के सिलसिले में मशीनों का प्रदर्शन किया गया। समाहरणालय परिसर में शिक्षक परशुराम तिवारी और जीपीएस मनु प्रसाद तिवारी ने ईवीएम और वीवीपैट मशीन के विषय में विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान कई लोगों ने वीवीपैट युक्त ईवीएम के जरिये मतदान का डेमो भी किया। इससे लोगों में काफी संतुष्टि दिखी।

उधर, सदर एसडीओ कार्यालय में भी वीपीपैट युक्त इवीएम मशीन का प्रदर्शन किया गया। यहां सदर एसडीओ एन.के गुप्ता ने बताया कि मतदाताओं की सभी शंकाओं के समाधान के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा वीवीपैट नामक मशीन को इवीएम के साथ जोड़ा गया है। इससे मतदान के दौरान मतदाता द्वारा डाले गए वोट की एक पर्ची सात सेकेंड के लिए मतदाता को वीवीपैट मशीन की स्क्रीन पर दिखाई देगी। इसमें मतदाता का क्रमांक, उसका नाम, एवं चुनाव चिन्ह दिखाई देगा। मतदाता उस पर्ची को देख कर संतुष्ट हो सकेगा कि उसके द्वारा किया गया वोट सही व्यक्ति के पक्ष में गया है। 

इधर, नगर निगम कार्यालय में वीवीपैट युक्त मशीन का प्रदर्शन किया गया। मौके पर नीरज कुमार और अनुप कुमार ने लोगों को वीवीपैट युक्त इवीएम मशीन के बारे में विस्तार से जानकारी दी। सदर प्रखंड कार्यालय में लगाये गये वीवीपैट युक्त इवीएम मशीन के बारे में बीडीओ जयकुमार राम ने प्रखंड में आये आम लोगों को जानकारी दी। 

छत्तरपुर में मीडिया संवाद का आयोजन, सरकारी कार्यो की दी गयी जानकारी 

छत्तरपुर, 2 फरवरी : छत्तरपुर के किसान सभागार में आज उपायुक्त पलामू के आदेशानुसार प्रखंड स्तरीय मीडिया संवाद का आयोजन किया गया। अध्यक्षता प्रखंड विकास पदाधिकारी राकेश कुमार तिवारी ने की। मौके अनुमंडलीय अस्पताल कर्मी शंकर प्रसाद ने मीडिया को बताया कि अनुमंडलीय अस्पताल में 18 स्वीकृत पद में तीन डाक्टर कार्यरत हैं। शेष पद रिक्त है। रिक्त चिकित्सकों के वजह से रोगियों को चिकित्सा का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

पशुपालन विभाग के कर्मी चंद्रेश्वर प्रसाद ने बताया कि छत्तरपुर में गत 1 जनवरी से पशुओं की गणना की जा रही है। मीडिया प्रतिनिधियांे द्वारा पूछेे जाने पर बताया कि विभाग में एफएमडी और पीपीआर टीका उपलब्ध है। अन्य दवा की मांग मुख्यालय से की गयी है। बाल विकास परियोजना पदाधिकारी ने बताया कि सुकन्या योजना के अंतर्गत महिलाओं को लाभान्वित किया जा रहा।  

विजली विभाग के अधिकारी ने बताया कि प्रखंड के 77 गांवों में बिजली बहाल कर दी गई है। अंचलाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी राजेश कुमार तिवारी ने बताया कि प्रखंड में प्रधानमंत्री आवास योजना का कार्य चल रहा है। मनरेगा से भी कार्य लिया गया है। सुखाड़ के लिए जल संचय संबंधी कार्य भी चल रहा है। मनरेगा के माध्यम से रोजगार सृजन का प्रयास किया जा रहा है। मीडिया संवाद कार्यक्रम में प्रखण्ड बाल विकास परियोजना पदाधिकारी अनिता कुमारी, प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी स्वीटी सिन्हा, प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी धर्मेंद्र कुमार, बिजली विभाग के कनीय अभियंता कुलदीप कुमार, अनुमंडलीय अस्पताल के डॉक्टर शंकर प्रसाद, प्रखण्ड के बड़ा बाबू नवाब खान समेत कई पदाधिकारी उपस्थित थे।