बीईईओ ने गुरु गोष्ठी में शिक्षकों को दी नसीहत , हर स्कूल में गुरु को जाने परम्परा हो कायम



हैदरनगर-इटवां उमवि परिसर में स्थित बीआरसी में आयोजित मसिक गुरु गोष्ठी में बीईईओ राम नरेश राम ने हर स्कूल में गुरु को जाने परंपरा को कायम करने की नसीहत इसमें शामिल स्कूल प्रभारी शिक्षकों को दी।उन्होंने कहा कि विभागीय स्तर से हर स्कूल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि कार्यालय में शिक्षकों की पहचान के साथ उनकी फोटो लगाई जाए।जिससे बच्चों,अभिभावकों अथवा आगंतुकों को संबंधित विद्यालय के शिक्षकों को गुरु के रूप में पहचाना जा सके।सरकार के इस निर्देश का हर हाल में पालन किया जाए।इसके उल्लंघन को गंभीरता से लिया जाएगा।उन्होंने बैंक खाता से जुड़ने से वंचित रह गए करीब दो हजार व आधार सीडिंग के शत प्रतिशत लक्ष्य को चालू माह में प्राप्त कर लेने को कहा।इसके साथ ही बच्चों की नियमित 75 प्रतिशत उपस्थिति व एमडीएम का संचालन सुनिश्चित रखने पर बल दिया।उन्होंने कहा कि सभी पारा शिक्षकों के अलावा अन्य सभी को स्वयं की राशि से शौचालय निर्माण व उसके उपयोग का प्रमाण पत्र हर हाल में सचित्र समर्पित करना है।इसमें विलंब पर संबंधित शिक्षकों को कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है।गोष्ठी में बीपीओ नरेंद्र सिंह, सीआरपी प्रमोद सिंह, विनोद सिंह, वरीय शिक्षक मो इदरीश खा, चक्रवर्ती कुमार सिंह, लालमोहर राम,नंदू बैठा, अमरेन्द्र कुमार,अब्दुल रहीम, प्रेम चौधरी, अरुण चौधरी, सतेंद्र राम,रविन्द्र राम, अरुण सिंह,अनुप सिंह समेत कई प्रभारी शिक्षक शामिल थे। जबकि सीआरपी ब्रजेंद्र पांडेय, उमेश राम व जितेंद्र सिंह को अनुपस्थित पाया गया।