डालटनगंज: पलामू जिले का स्वास्थ्य महकमा एक बार फिर विवादों में है। आउट सोर्सिंग के जरिये मैन पावर उपलब्ध कराने में भारी गड़बड़ी की आशंका व्यक्त की जा रही है। अन्य खबरें भी देखें।

डालटनगंज: पलामू जिले का स्वास्थ्य महकमा एक बार फिर विवादों में है। आउट सोर्सिंग के जरिये मैन पावर उपलब्ध कराने में भारी गड़बड़ी की आशंका व्यक्त की जा रही है। यह आशंका तब और बलबती हो गयी जब जिला परिषद अध्यक्ष प्रभा देवी की अध्यक्षता में आयोजित कल अस्पताल प्रबंधन समिति की बैठक में आउट सोर्सिंग के आधार पर 400 स्वास्थ्यकर्मियों के जिले में कार्यरत होने की बात कही गयी। बैठक में स्वास्थ्य महकमा द्वारा बालाजी एजेंसी द्वारा जिले को उपलब्ध कराये गये 400 कर्मियों की सूची प्रस्तुत की गयी है। इस सूची में कर्मियों के नाम, उनके पदस्थापित रहने की जगह और उनके पदों का तो ब्यौरा है, लेकिन उन्हें भुगतान की जा रही राशि का विवरण नहीं है। 

इस सूची को देखकर जिला परिषद के  उपाध्यक्ष संजय कुमार सिंह को कुछ शंका हुई और आज वे चैनपुर स्थित अस्पताल और सदर अस्पताल में कर्मियों के पदस्थापित होने की जांच की। श्री सिंह ने दावा किया कि दोनों अस्पतालों में उन्हें सूची के अनुरूप कर्मी नहीं मिले। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि मैन पावर उपलब्ध कराने के नाम पर जिले में भारी गड़बड़ी है। हालांकि श्री सिंह ने यह भी कहा कि सभी प्रखंडांे के अस्पतालों की जांच के बाद ही वे निष्कर्ष पर पहुंचेंगे। 

जिला परिषद उपाध्यक्ष ने कहा कि जांच के दौरान यह भी पता चला है कि जो भी आउट सोर्स कर्मी अस्पतालांे में पदस्थापित हैं, उन्हें श्रम कानून के तहत निर्धारित न्यूनतम वेतन भी नहीं दिया जा रहा है। कर्मी चाहे हाई स्कील्ड हो या स्कील्ड, सेमी स्कील्ड हो या अनस्कील्ड सभी के मामले में श्रम कानून को ताक पर रखकर भुगतान निर्धारित किया गया है। श्री सिंह ने कहा कि काम कर रहे कर्मियों को डेढ़-दो साल से भुगतान भी नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वे इस मामले की परतें खोल कर रहेंगे, क्योंकि मैन पावर के नाम पर सरकारी राशि का दुरूपयोग किये जाने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। इतना ही नहीं कर्मियों का शोषण और दोहन भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।  

गौरतलब है कि कल आयोजित अस्पताल प्रबंध समिति की बैठक में यह भी मामला प्रकाश में आया है कि सरकार द्वारा अस्पतालांे को 148 दवाइयां उपलब्ध करायी गयी हैं, लेकिन यहां छह दवाइयां ही उपलब्ध है। बैठक में समिति द्वारा आय-व्यय का ब्यौरा पेश नहीं किये जाने पर भी नाराजगी व्यक्त की गयी। बैठक में अन्य लोगों के अलावा सिविल सर्जन डा. कलानंद मिश्र, प्रशिक्षु आइएएस अधिकारी डा. ताराचंद और जिला परिषद सदस्य प्रमोद सिंह भी मौजूद थे। बैठक में आयुष्मान भारत योजना के तहत अस्पतालों के पंजीकरण का भी मामला उठा। इस मामले में चयन समिति पर कई गंभीर आरोप हैं। 


वाईजेके ने सतबरवा में चलाया स्वच्छता अभियान 

डालटनगंज, 7 फरवरी : युवा जागृति केंद्र की सतबरवा प्रखंड इकाई द्वारा सतबरवा में मुख्य मार्ग पर स्वच्छता अभियान चलाया गया। कार्यक्रम का नेतृत्व युवा जागृति केंद्र के सतबरवा प्रखंड अध्यक्ष नवीन कुमार सिंह ने किया। कार्यकर्ताओं ने स्वच्छता को सभ्य समाज का प्रथम सोपान बताया एवं नागरिकों से अपील की कि वे सतबरवा को स्वच्छ रखने में सहायता करें। जहां-तहां कचरा ना फेंके। केवल चिन्हित एवं निश्चित स्थान पर ही कूड़ा फेंके। प्रखंड अध्यक्ष ने कहा युवा जागृति केंद्र शीघ्र ही सकारात्मक कार्यों की नई श्रृंखला प्रस्तुत करेगा। 

सफाई अभियान में प्रखंड सचिव ब्रजेंद्र कुमार, उपाध्यक्ष ओमप्रकाश, सह सचिव साबिर आलम, शुभम कुमार, गुलशन कुमार, विवेक कुमार, अजीत कुमार सोनी, आशुतोष कुमार देव, विकास कुमार कुशवाहा, विवेक कुमार, रवि कुमार, चंदू कुमार देव अनिल कुमार, किशोर कुमार कुशवाहा शामिल थे।


झारखंड ओलंपिक 10 से, पलामू की आठ टीमों में 41 खिलाड़ी दिखायेंगे अपना दमखम  

डालटनगंज, 7 फरवरी : रांची में 10 से 12 फरवरी तक खेल गांव में आयोजित होने वाले झारखंड ओलंपिक 2019 में पलामू की आठ टीमें भाग लेंगी। आठ टीमों में 41 खिलाड़ी शामिल किए गए हैं। एथलेटिक्स, वुशु, बोलिंग, योगा, स्क्वाश, चेस, साइकिलिंग और कबड्डी प्रतियोगिताओं में खिलाड़ियों को भाग लेना है। झारखंड ओलंपिक को लेकर पलामू जिला ओलंपिक संघ पूरी तैयारी कर रहा है। सारे खिलाड़ियों की सूची टीम प्रशिक्षक और प्रबंधक के साथ तैयारी की गयी है। चिफ डी मिशन संजय कुमार त्रिपाठी होंगे, जबकि डिप्टी चिफ डी मिशन की जिम्मेवारी कमला नन्द दूबे को सौंपी गयी है। 

पलामू ओलंपिक संघ के सचिव संजय कुमार त्रिपाठी ने जानकारी दी कि एथलेटिक्स (पुरूष) में नितेश ठाकुर, दिनेश कुमार और मनीष कुमार रजक भाग लेंगे। इसी तरह महिला वर्ग में प्रीति कुमारी, सोनी कुमारी व शीला कुजूर अपना दमखम दिखायेंगी। इस टीम के प्रशिक्षक एडलिन कुजूर को बनाया गया है, जबकि टीम प्रबंधक कौशल किशोर हैं। 

उन्होंने बताया कि इसी तरह कबड्डी (महिला) टीम में अफशा परवीन, प्रिया राज, वीना कुमारी, नेहा कुमारी, मानित कुमारी, प्रशिक्षा रंजन राज, गंगा कुमारी, सरस्वती रंजन, सिमरन पाण्डेय, पुष्पम कुमारी शामिल की गयी हैं। टीम के प्रशिक्षक उपेन्द्र कुमार हैं। योग (बालक) सचिन कुमार मिश्रा और नैतिक कुमार (बालिका) में अनामिका कुमारी और प्रीति कुमारी, जबकि टीम प्रशिक्षक सुशील कुमार तिवारी हैं। 

वुशु (पुरूष) टीम में सुनील कुमार यादव, (महिला) टीम में सुशांति टोपनो, बिमला टोप्पो और ज्योति हंस शामिल हैं।       स्क्वाश (पुरूष) टीम में वीएएस दुर्गेश और कार्तिके शामिल हैं। चेस (पुरूष) में प्रेम दत्त शुभंकर, बोलिंग (पुरूष) में  कपिल महतो और सुरेश चंद्र महतो, महिला वर्ग में अनवरी, आरजू और माही शामिल को शामिल किया गया है। 

साइकिलिंग (पुरूष) प्रतियोगिता में जितेन्द्र यादव, भीम राव दीपक और शेख मोहम्मद, जबकि टीम प्रबंधक प्रदीप मेहता हैं। 


 

देवी मंडप के प्राण प्रतिष्ठा को लेकर निकली कलश यात्रा 

सतबरवा, 7 फरवरी : लोहरी पोखरी में निर्माणाधीन देवी मंडप के निर्माण और प्राण प्रतिष्ठा को लेकर आज कलश यात्रा निकाली गयी। ट्रेनिंग कॉलेज स्थित झरना में जल भर कर कलश यात्रा नौरंगा, सतबरवा, एनएच 39 होते हुए पुनः लोहरा पोखरी गांव में पहुंची, जहां वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ कलशों को स्थापित किया गया। बाद में देवी मंडप मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम हुआ। कलश यात्रा में दर्जनों महिला-पुरुष और बच्चे, जय माता दी और जय श्रीराम के नारे लगाते हुए शामिल हुए। मौके पर गणेश साव, सुनील विश्वकर्मा, पंकज साहू समेत कई लोग मुख्य रूप से उपस्थित थे। 


पलामू: सौ प्रतिशत मतदान के लक्ष्य को लेकर कैंपस अम्बेस्डरों को मिला प्रशिक्षण 

डालटनगंज, 7 फरवरी: लोकसभा, विधानसभा के साथ-साथ पंचायत स्तर के चुनावों में मतदान प्रतिशत बढ़ाना प्रशासन के लिए चुनौती रहा है। इस समस्या को देखते हुए मतदान का प्रतिशत बढ़ाकर सौ प्रतिशत करने के लिए गुरूवार को समाहरणालय के सी ब्लाॅक में पलामू जिला के विभिन्न महाविद्यालयों से चयनित कैंपस अम्बेस्डरों को प्रशिक्षण दिया गया। 

उप विकास आयुक्त बिन्दू माधव सिंह ने प्रशिक्षणार्थियों को मतदान प्रतिशत बढ़ाने को लेकर जागरूक किया और आमजन व विद्यालयी छात्रों की भूमिका पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि जिले में मतदान का प्रतिशत बढ़ाकर 100 प्रतिशत पहुंचाना है। लोकतांत्रिक प्रणाली में मतदान का अपना महत्व है। कॉलेजों में छात्रों के माध्यम से घरवालों को अनिवार्य मतदान करने के लिए आग्रह व प्रेरित करने की गतिविधि शुरू की जरूरत पर बल दिया। 

प्रशिक्षु आई.ए.एस. डा. ताराचंद ने कहा कि मतदाताओं को जागरूक करने में छात्र अहम भूमिका निभा सकते है। कॉलेज के अधिकतर छात्र 18 वर्ष पूरे कर लेते है, जो लोकतांत्रिक प्रक्रिया में स्वयं मतदाता के रूप में भाग ले सकते हैं तथा अपने परिवार तथा गांव मुहल्ले के लोगों को मतदान करने हेतु प्रेरित कर सकते हैं।

प्रशिक्षण स्वीप कोषांग के प्रभारी शत्रुंजय कुमार तथा सुधीर कुमार ने स्वीप अम्बेस्डर के कार्य और दायित्व को बताया। बताया गया कि अम्बेस्डर अपने कॉलेज तथा आस-पास पड़ोस के वैसे छात्र, शिक्षक, आदि को चिन्हित करें, जिनका नाम मतदाता सूची में नहीं है या अगर है तो वह त्रुटिपूर्ण है। 

बी.एल.ओ. से समन्वय स्थापित कर नाम जोड़ने तथा त्रुटि निवारण का कार्य कर सकते है। ऑनलाईन आवेदन की प्रक्रिया को बताया गया। इसके उपरांत फार्म 6, 7, 8 तथा 8 ए ई.वी.एम तथा वी.वी. पैट के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी गयी। मतदाताओं को शिक्षित करने हेतु आवश्यक सहयोग देने हेतु कहा गया।

प्रशिक्षण में 16 कैम्प अम्बेस्डर सहायक निदेशक समाजिक सुरक्षा शत्रुंजय कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी सुधीर कुमार भी उपस्थित थे।  


एसवीडी में कृमि मुक्ति के लिए बच्चों को दी गयी कई जानकारियां 

चैनपुर, 7 फरवरी : दायित्व ट्रस्ट द्वारा संचालित एसबीडी पब्लिक स्कूल में कृमि मुक्ति दिवस के पूर्व विद्यालय के बच्चों को कई अहम जानकारियां दी गयी। विद्यालय के निदेशक सह ट्रस्क के चेयरमैन अविनाश वर्मा ने बच्चों को कृमि से होने वाली बीमारियों एवं उसके प्रभाव के बारे में विस्तार से जानकारी दी। साथ ही बचने के उपाय भी बताएं। 

कृमि मुक्ति को लेकर सफाई पर विशेष जोर दिया गया। बच्चों की हाथ धुलायी की गयी। 

श्री वर्मा ने अभिभावकों से भी आग्रह किया कि सरकार द्वारा चलाए जा रहे कृमि मुक्ति दिवस को सफल बनाने में अपना योगदान दें। अपने बच्चों को दवा खिलाए, ताकि सरकार और प्रशासन का प्रयास सफल हो सके।

जागरूकता कार्यक्रम में विद्यालय के प्राचार्य देवानंद प्रसाद, विशाल रंजन, शशि, प्रतिमा गुप्ता, रति सहाय, किरण पाठक, विश्वनाथ शर्मा, अभिलाषा वर्मा, श्वेता सिंह, कामिनी गुप्ता, सुहानी कुमारी, सोनम कुमारी, सुनील कुमार, विमला कुमारी, छोटन कुमार, प्रेम कुमार सहित विद्यालय के सभी शिक्षक-शिक्षिका एवं सहकर्मी उपस्थित थे। 


मुठभेड़ में 10 नक्सली मारे गए, 11 हथियार बरामद

बीजापुर (छतीसगढ़) 7 फरवरी (एजेंसियां): छत्तीसगढ़ के अतिसंवेदनशील नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले के माढ़ क्षेत्र में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में 10 नक्सलियों के मारे जाने की खबर है। इस इलाके में नक्सलियों का ट्रेनिंग कैंप चल रहा था। सुरक्षाबलों ने सुनियोजित रणनीति के साथ दुर्गम इलाके में इस कार्रवाई को अंजाम दिया। शवों के साथ एक इंसास, एक 303 रायफल और 9 भरमार हथियार बरामद किए जाने की बात सामने आ रही है। कैंप से इतने आईईडी भी मिले हैं, जिनसे 100 जगह बड़े धमाके किए जा सकते थे। नक्सलियों के एरिया कमेटी का डीआरजी की टीम ने एक झटके में सफाया कर दिया। भैरमगढ़ के माढ़ थाना क्षेत्र के जंगल में यह मुठभेड़ हुई है। माना जा रहा है कि घटनास्थल पर सर्चिंग के बाद और भी नक्सलियों के शव मिल सकते हैं।

एसपी मोहित गर्ग ने घटना की पुष्टि करते बताया कि गुरूवार की पूर्वाहन सुबह 11 बजे के आस-पास माढ़ के जंगल में जिला बल, डीआरजी और एसटीएफ की संयुक्त टीम की माढ़ के जंगल में मुठभेड़ हुई। 10 नक्सलियों के शव घटना स्थल से मिले हैं। सभी नक्सली वर्दी में हैं। हमें इस बात की सूचना मिली थी कि इस जगह पर नक्सलियों की ट्रेनिंग चल रही है। हम उन्हें लगातार ट्रैक कर रहे थे। सही मौका देखकर टीम वहां पहुंची और नक्सलियों की घेराबंदी कर ली।

घटनास्थल पर काफी देर तक रुक-रुककर फायरिंग भी होती रही। अंदाजा लगाया जा रहा है कि घटना में और भी कई नक्सली मारे गए हैं। सर्चिंग के दौरान और भी नक्सलियों के शव मिलने की उम्मीद है। माढ़ क्षेत्र बीजापुर और सुकमा जिले के बीच स्थित है और अबूझमाढ़ से लगा हुआ है। इस इलाके को छत्तीसगढ़ का सबसे संवेदनशील नक्सल इलाका माना जाता है। यह एक दुर्गम क्षेत्र है, जो पहाड़ों से घिरा है और इंद्रावती नदी को पार कर यहां पहुंचना पड़ता है। 


आजसू पार्टी पिछड़ा वर्ग के पलामू जिला अध्यक्ष बनाए जाने पर दीपू चैरसिया को मुख्य बाजार में सम्मानित किया गया। बाजार क्षेत्र के घड़ा पट्टी में व्यवसायी नंदु मुरारका, अशोक अग्रवाल, राजकुमार जायसवाल, सुनील गोस्वामी, छोटे लाल गुप्ता, राजेश गोस्वामी, हसन, अनवर, नन्हें खां और कमल जायसवाल ने श्री चैरसिया को फूल माला पहनाकर अभिनंदन किया।


डा. अरूण शुक्ला को मिला लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड 

डालटनगंज, 7 फरवरी: झारखंड ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के ओर पलामू प्रमंडल के प्रसिद्ध हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ अरुण शुक्ला को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया। पिछले दिनों एसोसिएशन की ओर से राजधानी रांची में आयोजित 11वां सालाना कॉन्फ्रेंस में डॉ शुक्ला को यह सम्मान प्रदान किया गया। एसोसिएशन के अध्यक्ष सह रिम्स रांची के ऑर्थोपेडिक विभागाध्यक्ष डॉ एलबी मांझी ने शॉल ओढ़ाकर व प्रशस्ति पत्र देकर डॉ शुक्ला को सम्मानित किया।

गौरतलब है कि डॉ शुक्ला ऑर्थोपेडिक सर्जरी, जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी, ट्रोमा ऑर्थोपेडिक समेत अन्य हड्डी संबंधित रोगों का इलाज 1981 से निरंतर कर रहे हैं। ऑर्थोपेडिक क्षेत्र में इतने लंबे समय से दी जा रही बेहतर सेवा को देखते हुए डॉ शुक्ला को सम्मानित किया गया। अवार्ड मिलने के बाद डॉ शुक्ला ने कहा कि यह सम्मान उनके द्वारा किए गए कार्यों व जनता की दुआओं का परिणाम है। उन्होंने कहा कि यह सम्मान पलामू प्रमंडल की जनता को समर्पित है। डॉ शुक्ला को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड अचीवमेंट अवार्ड मिलने के बाद पलामू इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से जुड़े चिकित्सकों ने भी बधाई दी है। 


टयूशन पढ़कर लौट रही छात्रा के साथ दुष्कर्म, आरोपी को ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस को सौंपा 

पांकी, 7 फरवरी : पलामू-चतरा के सीमावर्ती पिपराटांड़ थाना क्षेत्र अंतर्गत लोहरसी-गेंदरा मार्ग पर टयूशन पढ़कर लौट रही एक नाबालिग आदिवासी छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। घटना के बाद फरार चल रहे आरोपी को ग्रामीणों ने पकड़ा और उसकी पिटायी कर पुलिस को सौंप दिया गया है। पिपराटांड़ पुलिस ने नाबालिग लड़की की मेडिकल जांच करायी है। आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजने की कार्रवाई की जा रही है। 

जानकारी के अनुसार चतरा के लावालौंग थाना क्षेत्र की रहने वाली एक छात्रा मंगलवार की शाम पिपराटांड़ थाना क्षेत्र के लोहरसी चट्टी से टयूशन पढ़कर साइकिल से अपने घर लौट रही थी। लोहरसी चट्टी के निवासी अमजद खां ने कमांडर जीप से पीछा किया और लोहरसी-गेंदरा मुख्य सड़क के जंगली क्षेत्र में रोक लिया। बाद में उसे जंगल में लेकर उसके साथ अनैतिक कार्य किया। बाद में छात्रा को जंगल में ही छोड़कर आरोपी फरार हो गया। 

बुधवार को पीड़िता ने इसकी जानकारी अपने परिजनों को दी। बाद में इसकी सूचना ग्रामीणों को भी मिली। बुधवार को अमजद मियां गेंदरा बाजार में था। जब ग्रामीणों ने उसे देखा तो उसे खदेड़ कर पकड़ लिया। बाद में उसकी पिटायी कर पिपराटांड़ पुलिस के हवाले कर दिया।

पिपराटांड़ थाना प्रभारी गुलशन भेंगरा ने बताया कि आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है। पीड़िता की मेडिकल जांच करा दी गयी है। आरोपी चार बच्चों का पिता है।