लोकसभा चुनाव 2019 के स्वीप कार्यक्रम के तहत प्रखंड स्तरीय अधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षण

लोकसभा चुनाव 2019 के स्वीप कार्यक्रम के तहत प्रखंड स्तरीय अधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षण

मेदिनीनगर(पलामू): लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर स्वीप कार्यक्रम के तहत रविवार को पलामू समाहारणालय भवन के ब्लॉक सी में बीडीओ, सीओ तथा सीडीपीओ को बूथ लेवल अवेयर ग्रुप से संबंधित प्रशिक्षण दिया गया।

  प्रशिक्षण में उप विकास आयुक्त बिन्दु माधव सिंह ने बताया कि स्वीप कोषांग के द्वारा मतदाताओं को जागरूक करने हेतु कार्य योजना तैयार की गयी है जिसके अन्तर्गत बूथ लेवल अवेयर ग्रुप के माध्यम से मतदाताओं को जागरूक किया जाना है। इस ग्रुप में वैसे लोग शामिल होगें जो किसी राजनितिक दल से जुड़े न हों और न उनके परिवार का कोई सदस्य जुड़ा हो। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ नागरिक, नेहरू युवा केन्द्र, रिटायर्ड कर्मी, एनसीसी आदि से संबंधित लोगों को इस ग्रुप में जोड़ा जा सकता है। उन्होनें कहा कि सभी प्रखण्डों में 12 फरवरी को बूथ लेवल अवेयर ग्रुप का प्रशिक्षण निर्धारित है, जिन्हें प्रशिक्षित करना प्रखंड स्तरीय अधिकारीयों का दायित्व है।

  प्रशिक्षक सुधीर कुमार द्वारा बूथ लेवल अवेयर ग्रुप के कार्यों एवं दायित्वों को बताया गया। इस ग्रुप का मुख्य कार्य होगा कि नुक्कड़ सभाओं, रैलियों, सामूहिक विचार-विमर्श के माध्यम से चुनाव प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रलोभन जैसे नकदी, उपहार, मदिरा, सामूहिक भोज से दूर रहने के लिए मतदाताओं को जागरूक करें। साथ ही मतदाताओं के मध्य नीतिपरक मतदान का संदेश फैलायें क्योकि प्राप्तकर्ता भी भारतीय दण्ड संहिता की धारा 171(ख ) के अधीन एक वर्ष के कारावास के दण्ड का भागीदार है। उन्होनें सी-विजिल, सुविधा, सुगत तथा समाधान नामक ऐप के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस ऐप के माध्यम से मतदान से संबंधित आवेदन, शिकायत आदि दर्ज किया जा सकता है तथा चुनाव में होने वाले आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत भी दर्ज की जा सकती है,  जिसकी जानकारी मिलते ही आरोपी पर 100 मिनट के अंदर कानूनी कार्रवाई की जायेगी। अतः यह ग्रुप अपने क्षेत्र के मतदाताओं को इस ऐप के बारे में जानकारी देगें तथा उन्हें प्रशिक्षित करेंगें।

 बैठक में उप विकास आयुक्त बिन्दु माधव सिंह के अलावे कार्यपालक दण्डाधिकारी, उप निर्वाचन पदाधिकारी, समाज कल्याण पदाधिकारी, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचल पदाधिकारी तथा सीडीपीओ उपस्थित थे।