उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी डॉ0 शान्तनु कुमार अग्रहरि के अध्यक्षता में पलामू समाहरणालय के सभागार कक्ष में ‘‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि‘‘ विषय पर प्रेस वार्ता किया गया। ‘‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि‘‘ से संबंधित कई जानकारी उपायुक्त द्वारा दिया गया।

उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी डॉ0 शान्तनु कुमार अग्रहरि के अध्यक्षता में पलामू समाहरणालय के सभागार कक्ष में ‘‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि‘‘ विषय पर प्रेस वार्ता किया गया। ‘‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि‘‘ से संबंधित कई जानकारी उपायुक्त द्वारा दिया गया।

 इस योजना के तहत, 2 हेक्टेयर तक की कुल खेती योग्य भूमिधारक किसान परिवारों को हर चार महीने में तीन बराबर किस्तों में देय 6000 रू प्रति परिवार प्रति वर्ष प्रदान किया जाएगा, यह योजना 01.12.2018 से प्रभावी है। इस वित्तीय वर्ष 2018-19 के दौरान पात्र लाभार्थियों को पहली किस्त 01.12.2018 से 31.03.2019 तक की अवधि के लिए होगी।

योजना के तहत लाभ पाने वालो की पात्रता्

2 हेक्टेयर तक खेती योग्य खेती करने वाले सभी किसान परिवार, जिनके नाम 01.02.2019 तक राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों के भूमि रिकॉर्ड में दिखाई देते है, योजना के तहत लाभ्ज्ञ प्राप्त करने के पात्र है। उन्होनें बताया कि गलत घोषणा के मामले में लाभार्थी हस्तांतरित लाभ और कानून के अनुसार अन्य दंड की वसूली के लिए उत्तरदायी होगा।

लाभार्थियों की पात्रता के निर्धारण के लिए कटऑफ तिथि

योजना के तहत लाभार्थियों की पात्रता के निर्धारण के लिए कटऑफ 01.02.2019 होगी और इसके बाद किसी भी वर्ष में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा।

लाभार्थी की पहचान तथा लाभ के भुगतान के लिए शॉर्टलिस्ट

प्रदेशों में प्रचलित भूमि स्वामित्व प्रणाली/भूमि का रिकॉर्ड लाभ वितरण के लिए इच्छित लाभार्थियों की पहचान करने के लिए उपयोग किया जाएगा।


परिवार के सदस्यों के स्वामित्व वाले विभिन्न पार्सल में 2 हेक्टेयर भूमि के मामले में, एक ही या अलग-अलग राजस्व रिकॉर्ड में फैले हुए हैं चाहे वे ऐसी सभी जमीनों पर किसान परिवार द्वारा रखी गई पूरी जमीन को एक साथ जमा किया जाएगा और अधिकतम 6000 रू का लाभ केवल प्रति वर्ष प्रदान किया जाएगा।

आज के इस प्रेस वार्ता बैठक में उपायुक्त डॉ0 शान्तनु कुमार अग्रहरि सहित डी0आर0डी0ए0 नेप हैदर अली, जिला कृषि पदाधिकारी जुबैर अली तथा अन्य पत्रकार उपस्थित थे।