महिला शसक्तीकरण पर जोर देने की जरुरत

राष्ट्रीय महिला हेल्पलाइन क्लब का सफल अधिवेशन

 महिला शसक्तीकरण पर जोर देने की जरुरत

पुलिस पब्लिक रिपोर्टर की महिला विंग, राष्ट्रीय महिलाहेल्पलाइन क्लब की अधिवेशन आज झारखण्ड विधानसभा अतिथि सभागार में महिला शसक्तीकरण के विषय पर आयोजित हुआ जिसमें राज्य के अलग अलग जिले की महिलाओं ने भाग ली।

कार्यक्रम की शुरुवात पुलवामा में शहीद हुए हमारे जवानों को श्रद्धांजलि स्वरुप 2 मिनट का मौन धारण किया गया और उनके बलिदान को श्रधांजलि अर्पित किया गया।

फिर विधिवत कार्यक्रम की शुरुवात हुई, जिसमे राष्ट्रीय महिला हेल्पलाइन क्लब के निर्माण और उसके उद्देश्यों की जानकारी दी गयी।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित पूर्व आई पी एस श्री सुबोध प्रसाद ने महिलाओ के शसक्तीकरण पर बाते करते हुए कहा कि आज महिलाओ को शसक्त होने की जरुरत है, उन्होंने अपने दो बेटियों का उदाहरण देते हुए कहा कि मेरी बेटी आई पी एस और कमांडेंट है वैसे ही सभी बेटियों को शसक्त करने की जरूरत है जिसके लिए राष्ट्रीय महिला हेल्पलाइन क्लब का निर्माण किया गया है।

पूर्व पुलिस अधिकारी श्री राम नाथ सिंह ने कहा कि इस मंच पर आयी हुई महिलाये अपने क्षेत्रों में जाकर महिलाओ के शसक्तीकरण के लिए काम करे और अपने को अपने बचचो को नैतिक शिक्षा की जानकारी दे।

सरफराज कुरैशी ने राष्ट्रीय हेल्पलाइन की तरफ से इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां दी।

गुमला, सिमडेगा, राँची, तोरपा, तपकरा, खूंटी, बुंडू, लोहरदगा आदि जगह से आयी हुई महिलाओ ने अपनी अपनी बातों को रखा। महिला शशक्तिकर्ण के लिए देश भर में महिलाओं को सदस्य्ता अभियान चलाकार जोड़ा जाएगा और देश में महिलाओं के विरुद्ध हो रहे शोषण, उत्पीड़न, अपराध आदि को खत्म करने के लिए कार्य किया जायेगा।  महिलाओ को रोजगार, स्वरोजगार और स्वालंबी बनाने के प्रयास किया जाने का प्रयास किया जायेगा।

कार्यक्रम में शाहिद खान, विकास राजगरिया, संदीप मिश्रा, इरशाद कुरैशी, शाहिद आलम, रमाशंकर प्रसाद उपस्थित रहे...

सभी ने एक स्वर में कहा कि महिलाओं को शसक्त करने के लिए आज से ही वे सब काम करेंगी। इन महिलाओं में प्रमुख रूप से नीलाम प्रसाद, जयंती तिर्की, सुखमनी मिंज, ज्योत्सना मिश्रा, सुषमा तिर्की, कुमकुम देमता, अनु कुमारी, प्रियंका कुमारी, रागिनी कुमारी आदि उपस्थित रही।