पलामू: पलामू टाइगर रिजर्व में तीन वर्ष बाद दिखा बाघ, दो तस्वीरें ट्रैकिंग कैमरा में हुई कैद .एक नज़र में पलामू की महत्वपूर्ण खबरें।

पलामू: पलामू टाइगर रिजर्व में तीन वर्ष बाद दिखा बाघ, दो तस्वीरें ट्रैकिंग कैमरा में हुई कैद  


पलामू, 19 फरवरी: करीब तीन वर्ष के लंबे समय बाद पलामू टाइगर रिजर्व में बाध दिखा है. पीटीआर के छिपादोहर पूर्वी वन क्षेत्र में गत 17 फरवरी की शाम 6.25 बजे ट्रैकिंग कैमरे में दो बार बाघ नजर आया है. गत सोमवार को बाघ झाड़ियों से गुजर रहा था, इसी दौरान उसकी दो तस्वीरें कैमरे में कैद हो गयी. हालांकि वन विभाग के अधिकारी बाघ के देखे जाने के मामले में कुछ भी बताने को तैयार नहीं हो रहे हैं. 

तीन महीने पहले गिनती के दौरान नहीं दिखा था टाइगर 

तीन महीने पहले 2018 में पलामू टाइगर प्रोजेक्ट के इलाके में बाघों की गिनती हुई थी. इस दौरान 500 से अधिक ट्रैकिंग कैमरे लगाए गए थे. लेकिन बाघ का कहीं अता-पता नहीं था. लेकिन अचानक बाघ के दिख जाने के बाद वन विभाग के अधिकारी असमंजस की स्थिति में पड़ गए हैं.

फोटो को खंगालने में जुटा वन विभाग  

कैमरे में बाघ दिखने के बाद वन विभाग के अधिकारी बाघ की मौजूदगी के पुख्ता साक्ष्य जुटाने में लग गये हैं. फोटो में कैद बाघ के मुंह, पांव सहित अन्य हिस्सों को खंगाला जा रहा है, ताकि उसका जेनडर तय हो सके. बाघ के पग मार्क मिलने के बाद उसके स्कैट ढूंढने की कोशिश की जा रही है.   

2016 के बाद से कैमरे में बाघ नजर नहीं आया था, हालांकि बाघों की गिनती संबंधी आंकड़ा मई 2019 में जारी किया जाना है. पलामू टाइगर प्रोजेक्ट को करीब 47 वर्ष पहले शुरू किया गया था. इस दौरान करीब 22 बाघ बेतला नेशनल पार्क के इलाके में थे. 

1995 में बेतला नेशनल पार्क के बाघों की संख्या 71 पाई गई थी. लेकिन 2010 की गणना में 10 बाघ ही मिले थे. बेतला में बाघ नजर आने से पर्यटकों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है. बेतला में बाघ होने पर संशय के कारण पर्यटकों की संख्या में लगातार कमी हो रही थी. एक बार फिर बाघ दिखने के बाद पर्यटकों की संख्या बढ़ने की संभावना है.


पलामू: महिला की गला काटकर हत्या का प्रयास, भैंसुर पर घटना को अंजाम देने का आरोप


पलामू, 19 फरवरी: भवह और भसुर का रिश्ता भाई-बहन की तरह होता है. भसुर किसी महिला का गार्जियन के समान होता, लेकिन पलामू जिले में इससे उल्टा हो गया है. एक महिला के जान का दुश्मन उसका भसुर बन गया। महिला का गला काटकर हत्या की कोशिश की, लेकिन किसी तरह महिला ने खुद को बचाया. घटना के बाद से आरोपी फरार है.  

पलामू जिले के छत्तरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत मौनहा-तुतुका जंगल में मंगलवार को एक महिला की गला काटकर हत्या करने का प्रयास किया गया. इस घटना के बाद महिला मैनु देवी (40 वर्ष) बुरी तरह जख्मी हो गयी है और उसका इलाज छत्तरपुर अनुमंडलीय अस्पताल में चल रहा है. 

छत्तरपुर के थाना प्रभारी वासुदेव मुंडा ने बताया कि घायल मैनु देवी ने अपने फर्द बयान में कहा है कि वह आज सवेरे लकड़ी चुनने अपने भैंसुर ललन भुइयां के साथ जंगल में गयी थी. इसी दौरान ललन भुइयां ने उस पर हसुआ से हमला कर दिया. थाना प्रभारी ने बताया कि घटना के बाद ललन भुइयां फरार है. इस बीच मैनु देवी के पुत्र गोपी भुइयां ने बताया कि दिन के करीब 12.30 बजे कुछ चरवाहों ने उसे फोन कर बताया कि उसकी मां का किसी ने गला काट दिया है. सूचना मिलते ही वह जंगल पहुंचा और कुछ लोगांे की मदद से मैनु देवी को अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया.

लगातार झगड़े के कारण हुई हत्या की कोशिश  

गोपी भुइयां ने बताया कि उसकी मां और चाचा के बीच हमेशा लड़ाई-झगड़ा होता रहता था. गोपी ने बताया कि उनके पिता का पहले ही स्वर्गवास हो चुका है. घटनास्थल छत्तरपुर थाने से करीब 10 किलोमीटर दूर नवडीहा के पास है. घायल महिला छत्तरपुर के ही लोहराई गांव की रहने वाली है. पुलिस मामले की सुक्ष्मता से जांच कर रही है और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उसके संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है.  



पूर्वडीहा में सात दिवसीय श्रीमद्भागवत पुराण महायज्ञ का समापन 

धार्मिक आयोजनों से लोग बनते हैं संस्कारी: सांसद  

चैनपुर, 19 फरवरी : चैनपुर के पूर्वडीहा में पिछले सात दिनों से चला रहा श्रीमद्भागवत पुराण कथा महायज्ञ का कल देर शाम समापन हो गया। समापन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पलामू के सांसद वीडी राम, विशिष्ट अतिथि भाजपा के प्रदेश मंत्री मनोज सिंह, मेदिनीनगर के डिप्टी मेयर मंगल सिंह और मनोज तिवारी ने भाग लिया।  

मौके पर सांसद ने कहा कि श्रीमद्भागवत पुराण कथा हमेशा होते रहना चाहिए। कथा को सुनने से लोगों में धर्म-कर्म के प्रति भावना जागती है। लोग संस्कारी बनते है और माहौल धार्मिक बनता रहता है। भाजपा के प्रदेश मंत्री ने कहा कि पूर्वडीहा गांव के लोग धर्म कर्म के मामलों में हमेशा आगे रहते है। उनका यह उत्साह हमेशा बना रहे, इसकी हम कामना करते है। डिप्टी मेयर ने कहा ऐसे आयोजनों से हिन्दुत्व मजबूत होगा। आपसी जुड़ाव बना रहेगा। उन्होंने आयोजन समिति को कथा कराने पर शुुभकामनाएं दी। 

समापन कार्यक्रम में श्रीमद्भागवत कथा का रसपान करते हुवे अनुराग कृष्ण शास्त्री महाराज ने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा सुनने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। यह हमारे जीवन के पौराणिक घटनाओं से संबंधित है। अनुराग कृष्ण शास्त्री द्वारा सात दिनों तक श्रीमद्भागवत पुराण में वर्णित कथा कही गयी, जिससे सुनने के लिए गांव के सैकड़ों लोग शामिल रहे। 

महायज्ञ सह कथा का संपन्न कराने में आयोजन समिति के अध्यक्ष गुड्डू दुबे, कोषाध्यक्ष नित्यानंद दुबे, सचिव खमीर दुबे, संगठन मंत्री उज्जवल दुबे, अनीश दुबे, संकेत दुबे, समित दुबे, मनीेष दुबे, गौतम के अलावा अन्य युवाओं का सराहनीय योगदान रहा।


   

हिन्दुस्तान ओलिंपियाड में ऑक्सफोर्ड की शगुन गुप्ता बनीं पलामू टाॅपर 

चैनपुर, 19 फरवरी : न्यू टाउनशिप स्थित आक्सफोर्ड पब्लिक स्कूल की शगुन गुप्ता ने हिन्दुस्तान ओलिंपियाड में पलामू टाॅपर होकर स्कूल के साथ-साथ जिले का मान बढ़ाया है। शगुन ऑक्सफोर्ड स्कूल में कक्षा प्रथम में अध्यनरत है। 

शगुन की इस उपलब्धि पर गत 13 फरवरी को रांची स्थित रिम्स ऑडिटोरियम में आयोजित सम्मान समारोह में उसे प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह एवं नगद 2100 रूपये देकर सम्मानित किया गया।विद्यालय के प्राचार्य डॉ. ए.के सिंह एवं विद्यालय के शिक्षक-शिक्षकों ने शगुन की सफलता पर बधाई एवं शुभकामनायें दी हैं।


आतंकवाद के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे केंद्र सरकार: डॉक्टर मेहता 

पांकी, 19 फरवरी : पुुलवामा में हुए सैनिकों की शहादत को लेकर झारखंड मुक्ति मोर्चा की ओर से केंद्रीय सचिव डॉ शशिभूषण मेहता के नेतृत्व में सोमवार की देर शाम पांकी में कैंडल मार्च निकाला गया। मार्च कर्पूरी चैक से अम्बेडकर चैक होते हुए पांकी बस्ती, जरही मोड़, थाना परिसर होते हुए पुनः कर्पूरी चैक तक आया। इसके बाद दो मिनट का मौन रख कर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए। 

इस दौरान पाकिस्तान मुर्दाबाद, इमरान खान मुर्दाबाद, वीर शहीद अमर रहे के नारे के साथ वन्दे मातरम, हिंदुस्तान जिन्दाबाद के नारे लगाए गए। मार्च में शैलेन्द्र सिंह, लाला यादव, चंदन सिंह, सुनील गुप्ता, बचन ठाकुर, ईश्वरी सिंह, राजदेव मेहता, कार्तिक सिंह, अमलेश ठाकुर, उमेश चनद्रवंशी, गोपाल भुइयां, नईम साहब, इमरोज अंसारी, अंजनी गुप्ता, पंकज यादव, राधिका भुइयां, बजरंगी प्रसाद सोनी, सुधीर आजाद के साथ साथ दर्जनों लोग शामिल थे।


परिसदन में होगी आजसू की बैठक 

डालटनगंज 19 फरवरी : आजसू पार्टी की बैठक 20 फरवरी को परिसदन में पूर्वाहन 11 बजे से होगी। जिला प्रवक्ता वसीम खान ने बताया कि बैठक में जिला के साथ-साथ केन्द्रीय एवं प्रखंड के पदाधिकारियों से भाग लेने की अपील की गयी है।


रांची में आयोजित एक समारोह के दौरान अखिल झारखंड पिछड़ा वर्ग महासभा के नवनियुक्त पलामू जिलाध्यक्ष दीपू चैरसिया ने आजसू पार्टी के केन्द्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो से शिष्टाचार मुलाकात की। पुष्प गुच्छ देकर उनका अभिनंदन किया और राज्य में पिछड़ों की स्थिति से उन्हें अवगत कराया। श्री चैरसिया ने कहा कि झारखंड में पिछड़ों की आबादी के अनुसार 27 प्रतिशत आरक्षण का हक बनता है, मगर केवल 14 प्रतिशत ही मिल पा रहा है। ऐसे में खासकर पलामू जिले में पिछड़ों की स्थिति काफी चिंताजनक बनी हुई है।


अटल सेना ने फूंका आतंकवाद का पुतला  

डालटनगंज 19 फरवरी: पुलवामा आतंकी हमले के खिलाफ राष्ट्रीय अटल सेना की पलामू इकाई द्वारा कल देर शाम जवानों को श्रद्धांजलि देने लिए कैंडल मार्च निकाला गया। मार्च जिला स्कूल चैक से प्रारंभ होकर छह मुहान की परिक्रमा करते हुए सदर हास्पिटल चैक से गुजरकर पुलिस लाइन पहुंचा। यहां शहीद स्मारक पर एक साथ कैंडल जलाकर जवानों को श्रद्धांजलि दी गयी। इस दौरान दो मिनट का मौन रखा गया।  

मार्च के दौरान अब निंदा-निंदा ना करो, जिंदा-जिंदा दफन करो के नारे लगाते हुए आतंकवाद के पुतले को फांसी दी और पाकिस्तान के राष्ट्रीय ध्वज को पुतले के साथ दहन किया गया। मौके पर पलामू जिला अध्यक्ष रवि सिंह ने कहा कि उन सभी जवानों के प्रति मेरी हृदयपूर्वक श्रद्धांजलि हैं। मीडिया प्रभारी अंकित कुमार दुबे ने भावुक होते हुए कहा ऐसा लगा ‘मैंने व्यक्तिगत कुछ खो दिया हो,’ आतंकवाद को कड़ा जवाब दिया जाना चाहिए।

मार्च में जिला महामंत्री रिकी कश्यप, अटल सेना युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष आकाश सहाय, उपाध्यक्ष रजत सिंह, नगर  मंडल अध्यक्ष मनीष शुक्ला, जिला मंत्री अश्विनी सिंह, नगर उपाध्यक्ष महाराजा पंडित नगर सजल सिंह, मीडिया प्रभारी तनु नागरे, गौतम, प्रिंस, अप्पु, रोहित, राजा मिश्र, मंटु, नीलेश, बीटू, अंकुर शुक्ला, रजत कुमार, रोहित कुमार, सोनू  शुक्ला शामिल थे। 


...इस तरह कसी जायेगी चुनावी भ्रष्टाचार का नकेल

पलामू जिले में फ्लांइग स्कायड टीम को दिया गया ‘सी-विजिल’ एप का प्रशिक्षण 

डालटनगंज 19 फरवरी: आगामी लोकसभा चुनाव में ‘सी-विजिल’ नामक एप के जरिये चुनावी भ्रष्टाचार पर नकेल लगाने की तैयारी है। भारतीय चुनाव आयोग ने यह विशेष एप बनाया है। इसके माध्यम से कोई भी आम और खास चुनाव से संबंधित शिकायत कर पायेगा। इसके जरिये चुनाव के दौरान राशि, मादक पदार्थ या उपहार बांटने, बिना अनुमति लगे पोस्टर सहित अन्य प्रकार की कई शिकायतें आसानी से की जा सकेंगी।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त डा. शांतनु कुमार अग्रहरि के निर्देश पर आज पलामू जिला मुख्यालय डालटनगंज स्थित समाहरणालय भवन में फ्लांइग स्कायड टीम को सी-विजिल एप का प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रशिक्षु आईएएस अधिकारी डा. ताराचंद ने की। इस मौके पर अन्य लोगों के अलावा जिले के पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत माहथा और आईपीएस प्रोबेशनर विनीत कुमार, सभी फ्लांइग स्कायड टीम के पदाधिकारी तथा अन्य जिलास्तरीय पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

प्रक्षिक्षु आईएएस ने बताया कि सी-विजिल एंड्राइड एप के द्वारा लोग अपनी शिकायतों का निवारण 100 मिनट के अन्तर्गत करवा सकते हैं। जहां पर भी आदर्श अचार संहिता का उल्लंघन हो रहा होगा, वहां से लोग इस एप के द्वारा फोटो या वीडिया बना कर इसमें डाल सकते हंै। ऐसी शिकायतों को 100 मिनट के अंदर फ्लांइग स्कायड द्वारा निवारण कर दिया जाएगा।

जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी रणवीर सिंह द्वारा सभी फ्लांइग स्कायड टीम के पदाधिकारियांे को प्रक्षिक्षण दिया गया। बताया कि इस एप को कैसे उपयोग करें तथा शिकायतकर्ता के पास जल्द से जल्द कैसे पहुंचा जाए। उन्होंने कहा कि एप से शिकायत दर्ज कराने के लिए लोगों को कहीं जाना नहीं पड़ेगा। लोग अपनी शिकायतो को सी-विजिल एप के द्वारा जहां पर भी आदर्श आचारसंहिता का उल्लंघन, लोगांे को बरगलाने, धमकाना या किसी तरह का उपद्रव हो रहा हो, वहीं से ही विडियो या फोटो क्लिक कर डाल सकते हैं। सौ मिनट के भीतर टीम द्वारा इसका निष्पादन कर दिया जायेगा। 

सी-विजिल एप कोई भी एंड्राइड मोबाइल में आसानी से उपयोग किया जा सकता है। ये आपके मोबाइल में साइट सी-विजिल डाॅट ईसीआई डाॅट गाॅफ डाॅट ईन पर सिटिजन के लिए सी-विजिल सिजिटन एप के नाम से ट्रेनिंग के लिए उपलब्ध है। आचारसंहित लागू होने के बाद यह एप प्ले स्टोर पर उपलब्ध हो जायेगा। जिसे आसानी से डाउनलोड कर सकते हंै।

ऐसे काम करता है एप

एप को डाउनलोड करने के बाद मोबाइल की स्क्रीन पर स्टिल और वीडियो कैमरा का लोगो दिखायी देगा। शिकायतकर्ता वीडियो और फोटो दोनों ही डाल सकते हैं। वीडियो और फोटो बनाने के साथ ही एप जिला और शिकायत के प्रकार को चुनने के बारे में विकल्प देगा। शिकायत का विवरण दर्ज करने का आप्शन भी है। शिकायत करने के बाद एक मैसेज आयेगा, जिसमें शिकायत का आइडी नंबर भी आयेेगा। 


भाकपा नेताओं ने की मारपीट की निंदा 

डालटनगंज, 19 फरवरी : भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी के राज्य कमिटी के सदस्य सूर्यपत सिंह एवं पलामू जिला सचिव रुचिर तिवारी ने एक प्रेस बयान जारी कर कल दिनदहाड़े भाकपा के राज्य सचिव एवं हजारीबाग के पूर्व सांसद भुनेश्वर मेहता के घर में घुसकर तीन अपराधियों द्वारा उनकी पत्नी के साथ मारपीट करने की घटना की घोर निंदा की है। नेता द्वय ने कहा है कि इससे साफ साबित होता है कि राज्य में विधि व्यवस्था काफी चरमरा गयी है। इस कारण दिन में भी लोग अपने घर में सुरक्षित नहीं हैं। भाकपा नेताओं ने मांग की है कि तत्काल सभी अपराधियों को गिरफ्तार कर इसके पीछे षड्यंत्र का पर्दाफाश किया जाये। इस घटना को करवाने वाले को दण्डित किया जाये। नेताओं ने अपराधियों के हमले से घायल पूर्व सांसद की पत्नी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है।


भरतमुनि का योगदान अभूतपूर्व: प्रियरंजन

डालटनगंज, 19 फरवरी : नाट्î शास्त्र के प्रणेता भरमुनि का योगदान नाटक के क्षेत्र में अभूतपूर्व है। उन्होंने ही पंचमवेद की रचना की है। पंचमवेद के कारण ही नाटक का प्रभाव धरा धाम पर आया है। उक्त बातें संस्कार जिला प्रमुख प्रियरंजन पाठक ने की। वे पंडवा में आयोजित भरतमुनि जयंती के अवसर पर लोगों को संबोधित कर रहे थे। कार्यकारी अध्यक्ष रमेश सिंह ने कहा कि संस्कार भारती का उद्देश्य संस्कारवान समाज का निर्माण करना है, जिसको संस्कार भारती बखूबी कर रही है।

विश्वकर्मा समाज के जिलाध्यक्ष मनोज विश्कर्मा ने कहा कि संस्कार भारती का कार्य सरहनीय है। आज पंडवा जैसे क्षेत्रों में संस्कार भारती अभूतपूर्व कार्य कर रही है। श्रीकांत पांडये ने कहा कि जीवन के हर क्षेत्र में संस्कार का होना आवश्यक है। संस्कार भारती के कार्य से समाज मंे अच्छे कार्यो का सुगंध फैल रहा है।

इससे पहले जयंती कार्यक्रम का उद्घाटन अतिथियों द्वारा भारत माता की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर किया गया। मौके पर  ने सन्युक्त रूप से किया। संचालन रविन्द्र ठाकुर तथा धन्यवाद ज्ञापन श्रीकांत पांडेय ने किया। मौके पर अंशु कुमारी, निक्की, सिमरन, श्रीकांत पांडेय, आंचल, प्रियंका, काजल, कविता, विवेक, राज, चांदनी सहित कई छात्र छात्रा उपस्थित थे।


जनकपुरी में बह रही भक्ति की धारा

संस्कारी परिवार ही सुखी परिवार होता है: विनोद 

डालटनगंज, 19 फरवरी: स्थानीय बारालोटा जनकपुरी मंदिर में श्री रामचरित मानस नवाह्न परायण पाठ महायज्ञ के 43वें अधिवेशन के आठवें दिन सुविख्यात वक्ता संकीर्तन सम्राट विनोद पाठक, मानस माधुरी राजकुमारी, श्री रागनी पराशर, अरुण शास्त्री के मुखारविंद से पूरा जनकपुरी भक्ति हो गया। 

नवजवान संघर्ष मोर्चा के राकेश तिवारी ने श्री पाठक को माल्यार्पण कर आशीर्वाद लिया। कहा कि जनकपुरी का यह 43वां अधिवेशन है, जोकि समस्त ग्रामीणों के सहयोग से संपन्न होता है। यज्ञ समिति के अध्यक्ष सुधीर तिवारी ने कहा कि श्रीरामचरितमानस कथा से संस्कारों की गंगा बहायी जा रही है। आज के इस युग में संस्कार ही मात्र एक ऐसा रास्ता है, जिससे पूरा देश फिर से विश्व गुरु बनेगा।

संकीर्तन सम्राट श्री पाठक ने कहा छोटा परिवार सुखी परिवार नहीं, बल्कि संस्कारी परिवार सुखी परिवार होता है। रावण उत्तम खानदान पुलस ऋषि का नाती है शिव और ब्रह्मा जिसकी पूजा करते हैं, लेकिन रावण के खानदान में संस्कार नहीं  था। मानस कोकिला रागनी पराशर ने कहा वैसे तो आज हमारे समाज में यह देखा जा रहा है कि आजकल हम लोग कथा तो बहुत सुनते हैं और कथा को सुनने के साथ साथ हमारे गोस्वामी जी कहते है कि उस कथा का मनन चिंतन विचार अवश्य करना चाहिए। क्योंकि जब तक हम इसका अध्ययन करने के साथ-साथ अपने जीवन में नहीं उतारेंगे तब तक समाज आगे नही बढ़ेगा 

मानस माधुरी राजकुमारी ने जवानों की शहादत से संत समाज दुखी है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद का पूर्ण रोक जरूरी है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद पर पूर्ण नियंत्रयण के बाद ही शांति संभव है।


पलामू: संत शिरोमणि की 642वीं जयंती पर शोभायात्रा, विचार गोष्ठी, जयंती समारोह आयोजित     

पलामू, 19 फरवरी: संत शिरोमणि रविदास की 642 वीं जयंती पर पलामू जिले में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए. कई जगहों पर प्रतिमा रखकर उनकी पूजा अर्चना की गयी तो कुछ जगहों पर गोष्ठी का आयोजन कर संत रविदास के जीवन और समाज सुधार की दिशा में उनके द्वारा किए गए कार्यों पर प्रकाश डाला गया. शोभा यात्रा भी निकाली गयी.

जिला मुख्यालय मेदिनीनगर में झारखंड प्रांतीय रविदास महासभा के तत्वावधान में स्थानीय अंबेडकर पार्क से शोभायात्रा निकाली गयी. शहर के छहमुहान, उपायुक्त आवास, सद्वीक चैक, नामधारी गुरूद्वारा रोड, नवकेतन रोड, बेलवाटिका चैक, गुरूतेग बहादूर मेमोरियल रोड होते हुए पंपूकल स्थित रविदास आश्रम पहुंची. यहां गोष्ठी का आयोजन किया गया. 

शोभा यात्रा में रविदास समाज के लोगों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया. शोभा यात्रा में आगे-आगे पंजाबी ढोल के साथ हाथों में पीला झंडा लिए रविदास समाज के लोग चल रहे थे. शोभा यात्रा के पीछे फुलों से सजे वाहन पर संत रविदास की तस्वीर लगी हुई थी. जगह-जगह पर रविदास समाज के लोगों ने संत रविदास की तस्वीर पर फूल माला चढ़ाकर नमन किया.  

शोभा यात्रा में अन्य लोगों के अलावा अध्यक्ष कन्हाई राम, सचिव संजय कुमार, संरक्षक भिखारी राम, मुनी राम, संयुक्त सचिव सुदेश्व राम, प्रोफेसर अजय राम, रामस्वरूप राम, नागं्रेद्र प्रसाद, कृष्णा राम, संतोष कुमार, सत्येंद्र कुमार, सुमंत कुमार, शत्रुघ्न कुमार शत्रु भी शामिल थे. 

संतों को जातिगत सीमाओं में बांधा नहीं जा सकता: उदय 

बेरोजगार संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में स्थानीय जिला कार्यालय बारालोटा में संत शिरोमणि रविदास की जयंती मनायी गयी. कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मोर्चा अध्यक्ष उदय राम ने कहा कि संत रविदास समाजिक क्रांति के अग्रदूत थे. उन्होंने समाज को हमेशा सदाचारयुक्त जीवन जीने का संदेश दिया. उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में संत रविदास के विचारों और आर्दशों को आत्मसात कर ही समाज को आगे ले जाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि संतों को जातिगत सीमाओं में नहीं बांधा जा सकता है. मौके पर दीपक कुमार, प्रभात कुमार, जीत राम, प्रेम राम, अनिल राम, संजय कुमार, अक्षय कुमार, अनुज कुमार, रवि रंजन, सतीश कुमार सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे. 

कर्म और परोपकार ही संत रविदास की पूजा थी: जिप उपाध्यक्ष  

कर्म और परोपकार ही संत रविदास की पूजा थी. संत रविदास दार्शनिक कवि, समाज सुधारक थे. उक्त बातें पलामू जिला परिषद के उपाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने कही. वे सतबरवा प्रखंड की बारी पंचायत में संत रविदास जयंती के अवसर पर बोल रहे थे. उन्होंने कहा संत रविदास की रचनाओं में प्रेम की झलक दिखती है. संत रविदास निम्न जाति में जन्म लेकर भी अपने कर्म से महान बने. उन्होंने कहा कि व्यक्ति कर्म से ही महान बनता है. उन्होंने कहा कि संत रविदास मानते थे कि इस धरती पर सभी को भगवान ने बनाया है. सभी के अधिकार समान है. उन्होंने वैश्विक भाईचारा और सहिष्णुता का ज्ञान दिया. उन्होंने कहा कि संत रविदास जयंती मनाने का उद्देश्य तभी पूरा होगा जब हम समाज के सबसे नीचे तपके के लोगों को सम्मान रूप से देखेंगे. उन्होंने कहा कि हमें जाति, धर्म, संप्रदाय से ऊपर उठकर संत रविदास के बताए मार्ग पर चलना होगा. तभी हम विकसित भारत की कल्पना कर सकते हैं. 

मौके पर जिप सदस्य प्रमोद कुमार सिंह ने कहा कि संत रविदास की जयंती से हम सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए. संत रविदास समाज सुधारक के साथ साथ अपने आंदोलन का उत्तरी भारत में नेतृत्व किया. मौके पर अन्य लोगों के अलावा अवधेश सिंह चेरो, महेश्वर सिंह, बिजय पाठक, प्रमोद राम, संजय राम, नंदकिशोर राम, राजकुमार राम और झाविमो के सतबरवा प्रखंड अध्यक्ष आशीष सिन्हा भ उपस्थित थे. 

भगवान की तरह पूजे जाते हैं संत रविदास: विधायक

पांकी विस क्षेत्र में रविदास जयंती धूमधाम से मनायी गयी. कई कार्यक्रमों मंें बतौर मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक देवेन्द्र कुमार सिंह ने भाग लिया. मौके पर विधायक ने कहा कि संत रविदास इतने महान थे कि आज भी उन्हें देवता की तरह पूजा जाता है. समाज सुधारक के रूप में उन्होंने अमित छाप छोड़ी है. आज से लगभग 500 साल पहले कबीर और तुलसी के समकालीन संत रविदास, जिन्हें लोग रैदास के नाम पुकारते थे. 

एक दलित परिवार में जन्में पैतृक काम मोची का करते हुए ऊंचे संत हुए और भक्ति मार्ग की परंपरा को एक कर उसे नई ऊंचाई दिया. रैदास ने ऊंच-नीच के बंधन पर खूब कटाक्ष किया. आम लोग उन्हें मसीहा मानते थे, क्योंकि उन्होंने सामाजिक और आध्यात्मिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए बड़े से बड़े कार्य किए थे. 

जयंती के मौके पर विधायक लकड़ाही, भालोगाड़ी, गोगदा, सेवती, सुग्गी, भड़री, तरहसी, काट, टोला धूमा सहित कई जगहों पर पंडाल में पहुंचे और पूजा अर्चना की. 

सगालीम में पंसस प्रमेद्र प्रजापति, धनंजय सिंह, कमेश यादव, अजीत सिंह, विनोद तिवारी, तुलसी तिवारी, वचन देव कुमार, बलराम राम, बेलास राम, बिरजू राम, नीरज राम, अमृत राम, गुड्ड कुमार, अशोक कुमार सहित अन्य लोग उपस्थित थे.