198 Views

नहीं सुधरेगा पलामू जिले का आपूर्ति विभाग, सौ दिन चले अढ़ाई कोस

नहीं सुधरेगा पलामू जिले का आपूर्ति विभाग, सौ दिन चले अढ़ाई कोस

पलामू, 21 फरवरी: मुख्यमंत्री रघुवर दास राज्य में विकास का चाहे लाख ढिंढ़ोरा पीट लें, किन्त बेलगाम अधिकारी इस सरकार की लुटिया डूबो कर ही रहेंगे. इसमें खाद्य एवं आपूर्ति विभाग पहले नंबर पर है। 

उक्त आशय का आरोप भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव रुचिर तिवारी ने लगाया है। श्री तिवारी ने एक प्रेस बयान में कहा है कि जिले के खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में अधिकारी भले ही बदल जाएं, परंतु उनकी कार्यशैली नहीं बदल रही है। कथित कड़े तेवर वाले विभागीय मंत्री सरयु राय इस विभाग को सुधारने में नाकाम रहे और जब चुनाव निकट आ गया तो इस्तीफा देने का नाटक कर रहे हैं। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की स्थिति इतनी खराब है कि बिना नाजायज रकम दिए कोई भी कार्य नहीं होता है। इस संबंध में कई बार पलामू के उपायुक्त को भाकपा द्वारा शिकायत पत्र दिया गया। किन्तु इस मलाईदार विभाग के कर्मियों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की गयी।

भाकपा नेता ने कहा कि इसका एक प्रत्यक्ष प्रमाण हुसैनाबाद की एक अल्पसंख्यक भुक्तभोगी महिला है। उन्होंने कहा कि हुसैनाबाद प्रखंड के कठौन्धा कला गांव की एक महिला कुलशुम बीबी ने नये राशन कार्ड के लिये 22 अक्टूबर 2017 को ऑनलाइन आवेदन दी। इसका प्राप्ति रसीद नंबर 3580111037 है। इस आवेदन को एक साल के बाद प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी (बीएसओ) ने 11 अक्टूबर 2018 को अनुमोदित किया। अब चार माह बीत जाने के बावजूद जिला आपूर्ति पदाधिकारी द्वारा इसे स्वीकृत नहीं किया गया है। इस तरह के अनेकों उदाहरण जांच में सामने आ सकते हैं। श्री तिवारी ने सवालिया लहजे में कहा कि आखिर क्या कारण है कि ऑनलाइन प्रक्रिया में भी एक-दो साल एक राशन कार्ड बनाने में लग जा रहा है। फिर ऑनलाइन से आम जनता को क्या फायदा हो रहा है। इससे तो ज्यादा अच्छा ऑफलाइन ही व्यवस्था थी।