112 Views

उपायुक्त-सह-डिस्ट्रीक्ट एप्रोप्रियेट अथॉरीटी, पलामू के निदेश के आलोक में पी0सी0पी0एन0डी0टी एक्ट के तहत गठित जिला निरीक्षण एवं अनुश्रवण समिति के द्वारा शहर के चार अल्ट्रासाउण्ड सेंटरों का औचक निरीक्षण किया गया।

उपायुक्त-सह-डिस्ट्रीक्ट एप्रोप्रियेट अथॉरीटी, पलामू के निदेश के आलोक में पी0सी0पी0एन0डी0टी एक्ट के तहत गठित जिला निरीक्षण एवं अनुश्रवण समिति के द्वारा शहर के चार अल्ट्रासाउण्ड सेंटरों का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में सभी केन्द्रो में भारी अनियमितता पाया गया तथा इस अनियमितता के आलोक में इन सभी अल्ट्रासाउण्ड सेंटरों को समिति के द्वारा सील कर दिया गया।

पहला निरीक्षण न्यु जूनो अल्ट्रासाउण्ड सेंटर में किया गया, जिसमें पाया गया कि इस सेंटर में किसी भी तरीके का रिकॉर्ड नहीं पाया गया तथा इसका लाईसेंस 2017 में ही एक्सपायर हो चुका था और इसे बिना रिन्यु किये अभी तक चलाया जा रहा था। इसके अलावा एक अल्ट्रासाउण्ड मशीन के जगह दो अल्ट्रासाउण्ड मशीन संचालित किया जा रहा था, जिसके आलोक में न्यु जूनो अल्ट्रासाउण्ड सेंटर को सील कर दिया गया। वहीं पलामू अलट्रासाउण्ड सेंटर में 2015 से अल्ट्रसाउण्ड बंद होने के बावजूद जाँच समिति को एक अल्ट्रासाउण्ड मशीन चालू अवस्था में पाया गया जिसके आलोक में सेंटर को सील कर दिया गया। 

सेवा सेदन, मेदिनीनगर में जिस अल्ट्रासाउण्ड मशीन के लिए लाईसेंस निर्गत किया गया था, उससे भिन्न दूसरे मशीन का संचालन सेंटर द्वारा किया जा रहा था, जिसके कारण सेवा सदन के अल्ट्रासाउण्ड सेंटर को सील कर दिया गया। निरीक्षण दल को गुप्त रूप से जानकारी मिली थी कि साई स्कैन सेंटर में काफी ज्यादा अनियमितता है। विभिन्न सेंटरों में छापे मारी की खबर सुन कर दल के वहाँ पहुँचने के पूर्व सेंटर मालिक अपनी सेंटर बंद कर कहीं चला गया, जिसके आलोक में साई स्कैन सेंटर को भी समिति ने सील कर दिया।

इस निरीक्षण एवं अनुश्रवण समिति में कार्यपालक दण्डाधिकारी सुधीर कुमार, डॉ0 आर के रंजन, जिला आरसीएच पदाधिकारी डॉ0 अनिल कुमार, अधिवक्ता दिलीप कुमार तथा एन0जी0ओ0 फर्ज की स्वर्णलता रंजन शामिल थे।