148 Views

पुलिस की कथित पिटायी से युवक की मौत, चार घंटे तक सड़क जाम

 

            पुलिस की कथित पिटायी से युवक की मौत, चार घंटे तक सड़क जाम

पलामू 28 फरवरी: पलामू जिले के नावाजयपुर में पुलिस की कथित पिटायी से हुई युवक की मौत पर जनाक्रोश भड़क गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने नावाजयपुर थाना के सामने पाटन-मनातू मुख्य सड़क को चार से पांच घंटे तक जाम रखा। इस दौरान जमकर पुलिस प्रशासन विरोधी नारे लगाये गये और न्याय की मांग की गयी।

विदित हो कि नावाजयपुर निवासी रोहित कुमार की मौत रांची रिम्स में गत 26 फरवरी को इलाज के दौरान हो गयी थी। परिजनों का आरोप है कि 22 फरवरी की शाम में नक्सल अभियान से लौट रहे पुलिस जवानों ने डालटनगंज रहे रोहित और उसके साथियों को वाहन चेकिंग के बहाने मोटरसाइकिल सहित रोक कर पिटायी की थी। बंदूक के बट से मार कर रोहित का सिर लहुलूहान कर दिया था। परिजनों को बताये बगैर पुलिस द्वारा रोहित को पहले डालटनगंज सदर अस्पताल में इलाज कराया गया था और फिर उसे रांची रिम्स रेफर करवा दिया गया था। दो तीन दिनों तक इलाज चलने के बाद रोहित की मौत हो गयी।

27 फरवरी की शाम रोहित का शव रांची से नावाजयपुर आते ही लोग भड़क गये और दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर शव के साथ सड़क जाम कर दिया। जाम सुबह सात बजे से दोपहर 12 बजे तक रहा। 

              डीएसपी और सीओ के आश्वासन सड़क हुआ जाम से मुक्त

जाम की सूचना मिलने पर लेस्लीगंज के एसडीपीओ अनुप बड़ाईक और पाटन सीओ मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझा-बुझाकर करीब पांच घंटे के बाद सड़क को जाम से मुक्त कराया। ग्रामीणांे ने घटना में शामिल दोषी पुलिसकर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज कराने, मामले की सीआईडी से जांच कराने और मृतक के परिजनों को नौकरी और मुआवजा की मांग की। डीएसपी श्री बड़ाईक ने ग्रामीणों की मांग पर दोषी पुलिसकर्मियांे के खिलाफ नावाजयपुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराने का आश्वासन दिलाया। वहीं पाटन के अंचलाधिकारी ने परिजनों को पीएम आवास, पारिवारिक लाभ योजना और मृतक की पत्नी को आंगनबाड़ी सेविका में बहाली कराने का आश्वासन दिया।

इधर, घटना की सूचना मिलने पर जिला मुख्यालय से पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष बिट्टू पाठक, जुगल किशोर, जेएमएम नेता नंदकुमार पासवान, आम आदमी पार्टी के कौशल किशोर बच्चन सहित कई लोग वहां पहुंचे और मृतक के परिजनों से मिले।  सभी ने घटना पर दुख जताया और प्रशासनिक अधिकारियों से ठोस कार्रवाई करने की मांग की, ताकि ऐसी घटना की पुनरावृति ना हो सके।

              पुलिस बता रही है मामले को दुर्घटना, दोषियों को क्लीन चिट

घटना के दिन से ही पुलिसकर्मी इस मामले को दुर्घटना बता रहे हैं। घटना के बाद 23 फरवरी को जब परिजनों ने मामले के विरोध में सड़क जाम किया था। हालांकि इसके बाद लेस्लीगंज डीएसपी ने मामले की जांच की थी। कथित तौर पर दोषी पाए गए पुलिस अवर निरीक्षक शमशेर सिंह को नावाजयपुर थाना से लाइन हाजिर कर दिया था। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर स्पष्ट हो पायेगा कि रोहित की मौत दुर्घटना से हुई है या पुलिस की पिटायी से। मृतक रोहित कुमार ने रिम्स में इलाज के दौरान बरियातु थाना की पुलिस को दिये बयान में पुलिस द्वारा मारपीट किये जाने की बात कही है।

 

                                                 जंगल से मिला महिला का जला शव, सनसनी

डालटनगंज, 28 फरवरी : पलामू जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत डाटम गांव के जंगल से पुलिस ने एक महिला का जला हुआ शव बरामद किया है। शव के अवशेष को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। इस संबंध में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। मामले की छानबीन में पुलिस जुट गयी है।

सदर अंचल के पुलिस निरीक्षक ने बताया कि गुरूवार को सूचना मिली थी कि डाटम गांव के जंगल में महिला का जला हुआ शव देखा गया है। सूचना पर रामगढ़ पुलिस के साथ जंगल में जाकर छानबीन की गयी। शव के अवशेष खोपड़ी और पेट के कुछ हिस्से को जब्त किया गया। अंचल पुलिस निरीक्षक ने बताया कि घटनास्थल से एक ताबिज, चुड़ी, सिम कार्ड एवं मुसाफिर गुटखा की पुड़िया बरामद की गयी है।

स्थानीय लोगों ने पूछताछ के दौरान बताया है कि गत 26 फरवरी को दोपहर 2.30 बजे एक उजले रंग की बोलेरो में सवार लोगों ने नावा में पेट्रोल लिया था। आशंका व्यक्त की जा रही है कि अज्ञात महिला की किसी अन्य जगह हत्या की गयी होगी और शव के हिस्से डाटम जंगल में फेका गया। महिला की पहचान और हत्या के कारणों का पता लगाने में पुलिस जुटी हुई है।

 

        नपं के वंचित मुहल्लों में शीघ्र बिछायी जाएगी पाइप, हर घर को मिलेगा शुद्ध पानी: अध्यक्ष

हुसैनाबाद, 28 फरवरी : हुसैन