165 Views

मंत्री सरयू राय ने राज्यपाल से की मुलाकात, इस्तीफा देने का विचार बदला, अन्य महत्वपूर्ण खबरें भी देखें।

    मंत्री सरयू राय ने राज्यपाल से की मुलाकात, इस्तीफा देने का विचार बदला, अन्य महत्वपूर्ण खबरें भी देखें।

रांची, 1 मार्च (एजेंसियां): खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने शुक्रवार दोपहर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की। राज्यपाल से मिलने के बाद उन्होंने कैबिनेट मंत्री के पद से इस्तीफा देने का अपना विचार बदल दिया है। झारखंड के लोकसभा चुनाव प्रभारी मंगल पांडेय से हुई बात के बाद उन्होंने ये फैसला लिया है। पार्टी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री रामलाल ने मंगल पांडेय को सरयू राय-रघुवर दास विवाद सुलझाने की जिम्मेवारी दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 3 फरवरी को पटना दौरे के बाद मंगल पांडेय रांची आकर इस बारे में बैठक करेंगे।

मंत्री सरयू राय ने राज्य सरकार की कार्यशैली पर गंभीर आपत्ति व्यक्त करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से 28 फरवरी तक त्यागपत्र देने की अनुमति मांगी थी। ऐसा नहीं होने पर उन्होंने स्वयं इस्तीफा देने की बात कही थी।

पत्रकारों से बात करते हुए सरयू राय ने कहा था कि इस सरकार में रहना शर्मनाक। शाह से इस्तीफे की अनुमति मांगूंगा। बर्दाश्त करने की भी एक सीमा होती है... अब पानी नाक के ऊपर बहने लगा है। मंत्री नहीं रह कर भी पार्टी और समाज का काम कर सकता हूं। 

9 फरवरी को अमित शाह को भेजे पत्र में मंत्री ने लिखा था कि यदि सीएम की कार्यशैली, बात-व्यवहार, प्राथमिकताओं में बदलाव संभव नहीं, तो उनके अनुरूप ढलना मेरे लिए भी असंभव। फरवरी के अंत तक मंत्री पद से त्यागपत्र देने की अनुमति मांगी थी।

 

 दिव्यांग अपने अंदर के आत्मबल को बनाये रखे: सांसद ,241 दिव्यांगों को ट्राई साइकिल अन्य यंत्र मिले

डालटनगंज 01 मार्च : जिला प्रशासन के तत्वावधान में स्थानीय पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति हाॅल मेें आज जिले के चयनित 241 दिव्यांगों को ट्राई साइकिल, श्रवण यंत्र सहित अन्य उपकरण उपलब्ध कराये गये। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि सांसद विष्णु दयाल राम ने कहा कि सरकार दिव्यांगों को हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध करा रही है। सरकार का प्रयास है कि दिव्यांगों को आगे बढ़ाते हुए उन्हें मुख्य धारा में लाया जाये। 

उन्होंने कहा कि दिव्यांग अपने आप को कभी भी कमजोर समझने का प्रयास नहीं करंे। दिव्यांग भी हर वह काम कर सकते हैं जो एक सामान्य व्यक्ति कर सकता है। जरूरत है अपने अंदर के आत्मबल को बनाये रखने का। समाज के अंदर बुहत सारे दिव्यांग ऐसे है जो आज अपने परिश्रम के बल पर एक अच्छा मुकाम हासिल कर चुके है। वैसे सफल लोगों की जीवनी से प्ररेणा लेकर आगे बढ़ने का प्रयास करना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि जब वे सांसद बने थे तब क्षेत्र भ्रमण के दौरान गरीब और सहायक दिव्यांगों को देख कर केंद्र सरकार के पास प्रस्ताव भेजा था कि संसदीय क्षेत्र के गरीब और असहाय तबके दिव्यांगों का सर्वेक्षण करा कर उन्हें निशुल्क ट्राई साईकिल सहित अन्य यंत्र दिया जाये। इसके बाद जिले में कमजोर तबके के दिव्यांगों का सर्वेक्षण कराया गया था। आज खुशी की बात है कि उनका प्रयास सफल रहा। मेयर अरूणा शंकर ने कहा कि सरकार और नगर विकास विभाग के प्रयास से नगर निगम भी अपने क्षेत्र के दिव्यांगों को हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास करेगा। निगम का प्रयास होगा कि दिव्यांगों को कौशल विकास के तहत प्रशिक्षित कर उन्हें स्वरोजगार से जोड़ा जाये। मौके पर उपविकास आयुक्त बिंदुमाधव सिंह, जिला परिषद उपाध्यक्ष संजय कुमार सिंह, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी शत्रुजंय कुमार, डिप्टी मेयर राकेश कुमार सिंह (मंगल सिंह), मेदिनीनगर ग्रामीण सीडीपीओ नीता चैहान, महिला पर्यवेक्षिकाओं में जागृति शर्मा, शिल्पी कुमारी, अमीता कुमारी सहित काफी संख्या में दिव्यांग लाभुक उपस्थित थे। 

डाकघर के दो कर्मचारियों को उत्कृष्ट सेवा के लिए केंद्रीय मंत्री ने सम्मानित किया

डालटनगंज 01 मार्च : पलामू जिले के डाकघर के दो कर्मचारियों को उत्कृष्ट सेवा के लिए केंद्रीय संचार मंत्री पियूष गोयल और ग्रामीण विकास पंचायती राज मंत्री नरेश सिंह तोमर ने दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में ट्राॅफी और प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया दोनों कर्मचारियों को सम्मान मिलने से डाक विभाग में काफी खुशी है। 

डाक अधीक्षक एन.के तिवारी ने बताया कि चिंयाकी उप डाकघर में संचालित इंडियत पोस्ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) की शाखा में डाकपाल अरूण कुमार ने तीन माह के काफी कम अंतराल में 7400 खाता खोला था। अधिक खाता खोलने के मामले में यह ब्रांच पूरे झारखंड में पहले स्थान पर था। अरूण कुमार को संचार मंत्री पियूष गोयल ने ट्राॅफी प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया। 

इसी तरह मनरेगा के मजदूरों का भुगतान करने के मामले में भी पांकी प्रखंड के कोनवाई उप डाकघर के बीपीएम धनुष देव कुमार को कंेद्रीय ग्रामीण विकास पंचायती राज मंत्री नरेश सिंह तोमर ने मेडल और प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित