195 Views

सेविका चयन में पांकी बीडीओ एवं ग्रामीण भिड़े, मामला दर्ज

सेविका चयन में पांकी बीडीओ एवं ग्रामीण भिड़े, मामला दर्ज

 पलामू- जिले में चल रहे सेविका चयन अभियान के तहत पांकी बाल विकास परियोजना के सरईडीह गांव में आंगनबाड़ी सेविका चयन को लेकर शुक्रवार को आमसभा बुलाई गई थी। आमसभा में बीडीओ सह प्रभारी सीडीपीओ इंद्रलाल ओहदार चयन समिति के अध्यक्ष के रूप में आमसभा में पहुंचे थे। जबकि संयोजिका के तौर पर महिला पर्यवेक्षिका  रंजना उपस्थित थी। 

चयन की कारवाई प्रारम्भ हुई तो कई आवेदिकाओं ने सेविका पद के लिए आवेदन दिया। आमसभा के निर्णय के विरुद्ध बीडीओ अपनी मर्जी के अनुसार सेविका का चयन करना चाह रहे थे। इसका ग्रामीणों ने जमकर विरोध किया और आमसभा रद्द करने की मांग करने लगे।किन्तु बीडीओ श्री ओहदार ग्रामीणों को झूठा केस में फंसाने की धमकी देने लगे और कार्यवाही पुस्तिका लेकर भागना चाहे।तब क्रोधित ग्रामीणों और बीडीओ के बीच झड़प होने लगी।इस बीच ग्रामीणों ने कार्यवाही पुस्तिका फाड़ दी। आश्चर्य की बात तो यह है कि आम सभा में बीडीओ परियोजना कार्यालय के बड़ा बाबू को भी साथ ले गए थे। जबकि चयन समिति में महिला पर्यवेक्षिका संयोजिका के रूप में रहती है तथा कार्यवाही पुस्तिका की सारी जिम्मेवारी उसी के अधीन रहती है।किन्तु बीडीओ की मनमानी के आगे कार्यालय सहायक की एक न चली।बताया जाता है कि सभी आमसभा में बीडीओ कार्यालय के बड़ा बाबू को लेकर ही जाते हैं जो नियमविरुद्ध है।

बीडीओ ने बड़ा बाबू गोपाल चौधरी के माध्यम से सरकारी कार्य में बाधा डालने, दुर्व्यवहार करने एवं सरकारी कागजात फाड़ने के आरोप में पांकी थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पांकी थाना प्रभारी पीके यादव ने इसकी पुष्टि की है और कहा कि पूरे मामले की जांच की जायेगी।