106 Views

कंपनी में महिला कर्मचारियों की हिस्सेदारी बढ़ाएं, उन्हें बराबर का सम्मान दें: चंद्रशेखरन

कंपनी में महिला कर्मचारियों की हिस्सेदारी बढ़ाएं, उन्हें बराबर का सम्मान दें: चंद्रशेखरन

100 साल का हुआ जमशेदपुर, टाटा ग्रुप के चेयरमैन ने कहा- ये सफर आपसी तालमेल से तय हुआ 

जमशेदपुर : टाटा ग्रुप के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन ने कहा कि सौ साल का सफर आपसी तालमेल और प्रोग्रेसिव सोच से तय हुआ है। यह आगे भी जारी रहेगा। वे शनिवार शाम संस्थापक दिवस समारोह के लिए सजाई गई जुबिली पार्क की लाइटिंग व संस्थापक को श्रद्धांजलि देने के बाद मीडिया को संबोधित करते कहा कि इस गौरवपूर्ण क्षण के लिए कंपनी के अलावा शहरवासियों को बधाई। इस डेवलपमेंट प्रोसेस में सभी हिस्सा बने वर्ना यह संभव नहीं हो पाता। चेयरमैन शाम 4.33 बजे सोनारी एयरपोर्ट पहुंचे। मौके पर कंपनी के ग्लोबल सीईओ सह एमडी टीवी नरेंद्रन पत्नी रुचि नरेंद्रन के साथ शाम 3.55 बजे से ही मौजूद थे। 

100 साल की जर्नी के पीछे संस्थापक की सोच

एन. चंद्रशेखरन ने कंपनी के ग्लोबल सीईओ सह एमडी के अलावा कंपनी के वीपी के साथ बोर्ड रूम में मीटिंग की। उन्होंने कंपनी में महिला कर्मचारियों की हिस्सेदारी बढ़ाने को कहा। साथ जो महिला कर्मचारी हैं, उन्हें बराबर का सम्मान के साथ फ्रेंडली वर्क कल्चर में काम करने लिए और बेहतर माहौल बनाने को कहा। साथ ही इनोवेशन पर जोर दिया। हम जो सौ साल की जर्नी पूरा किए हैं, उसके पीछे हमारे संस्थापक की सोच दिखती है। 

क्वालिटी मेंटेन रखना सबसे बड़ी चुनौती

टाटा के एग्जिक्यूटिव डॉयरेक्टर एवं चीफ फाइनेंस ऑफिसर कौशिक चटर्जी ने कहा कि दुनिया के स्टील इंडस्ट्री में तेजी से बदलाव हो रहा है। ऐसे में टाटा ग्रुप में भी बदलाव होगा। प्रोडक्शन काॅस्ट कम करने के साथ क्वालिटी मेंटेन रखना सबसे बड़ी चुनौती है। ग्रुप हमेशा उद्योग के साथ पर्यावरण से लेकर अन्य सामाजिक सरोकार का भी ध्यान रखता है। कंपनी का लाइम प्लांट देश के लिए बेंचमार्क है। 

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

शहरवासियों को मेटल डिटेक्टर से होकर गुजरना पड़ेगा। महिलाओं की जांच के लिए अलग से केबिन बनाई गई है। 

यहां होगी पार्किंग :* सेक्रेट हार्ट स्कूल के सामने, सर दोराब जी पार्क के सामने, आहूजा स्टेडियम के सामने व रवींद्र भवन के सामने 

पार्क में बनाए गए सेल्फी पाइंट पर ही सेल्फी लें, सिगरेट और तंबाकू के अलावा सिक्का भी ले जाने पर मनाही

3-5 मार्च तक जुबिली पार्क में होने वाले इस विशेष लाइटिंग को देखने के लिए आम लोगों को साकची व सीएफई गेट से ही इन-आउट करने की सुविधा रहेगी। पार्क में घुसने से पहले लोगों को लाइन में लगकर अपनी तलाशी देनी होगी। शराब, सिगरेट, तंबाकू के अलावा सिक्का भी ले जाने पर मनाही रहेगी। जहां-तहां सेल्फी लेने वाले को गेट पर ही सावधान कर दिया जाएगा कि पार्क में बनाए गए सेल्फी प्वाइंट पर ही सेल्फी लें, नहीं तो इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। 

स्वास्थ्य कारणों के चलते नहीं आए रतन टाटा

रतन टाटा इस बार संस्थापक दिवस पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा समेत विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत नहीं कर पाएंगे क्योंकि वे इस बार जमशेदपुर नहीं आ रहे हैं। इसकी पुष्टि टाटा स्टील कारपोरेट कम्यूनिकेशन के वरीय अधिकारियों ने की है। हालांकि अधिकारियों की ओर से नहीं आने के कारण की जानकारी नहीं दी गई है। लेकिन वरीय अधिकारियों का कहना है कि वे शहर आना चाहते थे लेकिन डाॅक्टरों के मना करने पर स्वास्थ्य कारणों से वे शहर नहीं आ रहे हैं। 

दोपहर 3 बजे से रात 12 बजे तक नहीं चलेंगे भारी वाहन

मंगलवार तक दोपहर 3 बजे से रात 12 बजे तक भारी वाहन (बस को छोड़कर) नहीं चलेंगे। शहर में इन तीन दिनों के दौरान जुबिली पार्क समेत अन्य स्थानों में लाइटिंग देखने को लेकर होने वाले भीड़ को लेकर ऐसा आदेश जारी किया है। 

सुबह साढ़े सात बजे टाटा मोटर्स उसके बाद टाटा स्टील जाएंगे चंद्रशेखरन

टाटा समूह के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन शनिवार को शहर पहुंचे। रविवार को संस्थापक दिवस पर वे सबसे पहले सुबह साढ़े सात बजे टाटा मोटर्स जाएंगे, जहां जेएन टाटा की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। इसके बाद वे टाटा स्टील पहुंचेंगे। टाटा स्टील मेन वर्क्स गेट पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में भाग लेंगे। वे यहां साढ़े आठ बजे पहुंचेंगे। यहां से वे बिष्टुपुर पोस्टल पार्क जाएंगे। पोस्टल पार्क में सुबह दस बजे विभिन्न संस्थानों द्वारा निकाली जानेवाली झांकियों को झंडा दिखाकर रवाना करेंगे। इसके बाद वे टाटा वर्कर्स यूनियन जाएंगे। टाटा वर्कर्स यूनियन में यूनियन पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। टाटा वर्कर्स यूनियन से वे सीधे डायरेक्टर बंगलाें पहुंचेंगे। यहां लंच के बाद 12 बजे के बाद सीधे सोनारी एयरपोर्ट के लिए रवाना होंगे, जहां से निजी विमान से मुंबई जाएंगे। 

आज से 5 मार्च तक देख सकेंगे जुबिली पार्क की लाइटिंग

टाटा समूह के संस्थापक जेएन टाटा की 180वीं जयंती की पूर्व संध्या पर जुबिली पार्क में लगी आकर्षक लाइटिंग की शनिवार को शुभारंभ हो गया। जमशेदपुर के नामकरण के सौ साल पूरा होने की थीम पर की गई तैयारी में शहर के 100 वर्ष को दिखाया गया है। इस वर्ष टाटा वर्कर्स यूनियन अपनी स्थापना का शताब्दी वर्ष मना रहा है। लाइटिंग के जरिए सफर को दिखाया गया है। 

यह है लाइटिंग की खासियत

 जुबिली पार्क के अंदर लेजर बिंब शो, लघु फिल्म, जमशेदपुर, ए-क्वालिटी ऑफ लाइफ सहित बच्चों के पसंदीदा कार्टून कैरेक्टर 

    चारमीनार से लेकर बच्चों के लिए चिल्ड्रन व‌र्ल्ड, डिज्नी व‌र्ल्ड, टाटा वर्कर्स यूनियन के सौ वर्षों का इतिहास आदि पेड़ों पर दिख रहा है 

    मुगल गार्डेन से बिम्ब लाइटें दूधिया रोशनी से जगमगा रही हैं 

    जयंती सरोवर के बीच में स्थित टापू को सजाया गया है 

    पार्क में हर तरह के जानवरों को लाइटिंग से जरिए जीवंत दिखाया गया है 

    निक्को पार्क में वाटर पार्क, लेजर शो के जरिए सौ साल के सफर को दिखाया गया है 

यहां भी हुई आकर्षक लाइटिंग : कंपनी के मुख्य गेट, एमडी आॅफिस, जुस्को, कदमा भाटिया पार्क, सर दोराबजी पार्क, पोस्टल पार्क, नीलडीह पार्क व गोलमुरी आकाशदीप प्लाजा पार्क।