पलामू:- प्रथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैदरनगर और अनुमंडलीय अस्पताल हुसैनाबाद के कर्मी अक्सर कुछ न कुछ कामो को लेकर हमेशा चर्चे में रहते है।

पलामू:- प्रथमिक  स्वास्थ्य केंद्र हैदरनगर और अनुमंडलीय अस्पताल हुसैनाबाद के कर्मी अक्सर कुछ न कुछ कामो को लेकर हमेशा चर्चे में रहते है। अस्पताल मे कब चिकित्सक और चिकित्साकर्मियों से मुलकात होगी ये कोई नहीं जानते. अस्पताल मे असमाजिक तत्वो का जमावड़ा लगा रहता है . मजे की बात तो ये है की एएनएम के पति भी उनके साथ होते हैं. अस्पताल परिसर मे एक एएनएम के पति झाड़ फूँक का काम भी करते हैं .सरकार गर्भवती महिलाओ को कई सुविधाये देने की बात करती है . इसका लाभ उन गर्भवती को कम कर्मियो और अधिकरियो को ज्यादा मिल रहा है. गर्भवती महिला को अस्पताल से एक टिकिया तक नही दी जाती है. उनके भोजन पर कर्मी 150 रुपये सरकार से वसूल करते हैं .जबकि उन्हे एक अंडा और एक पाव रोटी दी जाती है. ऐसा ही मामला शनिवार को सामने आया प्रसव के लिए आई महिला  को जब कॉटन व इंजेक्शन की जरूरत पड़ी तो महिला के परिजन को एएनएम कंचन कुमारी ने कहा  कि  हॉस्पिटल में दवा या कोई भी औषधि उपलब्ध  नही है,उन्होंने साफ कह दिया कि वो कही से खरीद ले। परिजनों ने बतया की रात होने की वजह से उन्हें बाहर से भी दावा नही मिल पा रही थी। परिजनों ने बताया की प्रसव  कराने का भी पैसा लिया गया .नही देने पर एएनएम द्वारा उन्हें परेशान करने कि धमकी भी दी गई. अस्पताल के एक मात्र चिकित्सा पदाधिकरी अशोक कुमार से सम्पर्क करने का प्रयास किया गया. कर्मियो ने बताया कि चिकित्सक छुट्टी पर हैं. प्रथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैदरनगर तो बानगी है हुसैनाबाद अनुमंडलीय अस्पताल लूट के लिये हमेशा शुर्खीयो मे रहता है. अनुमंडलीय अस्पताल हुसैनाबाद में दवा से लेकर गर्भवती महिलाओ के भोजन और प्रोत्साहन राशि का घोटाला होता आरहा है. इस मामले की उच्चस्तरीय जांच हो तो सब कुछ सामने आजायेगा.