199 Views

कुपोषण मुक्त बनेगा पलामू: उपायुक्त

कुपोषण मुक्त बनेगा पलामू: उपायुक्त

50 आंगनबाड़ी केंद्रों में नि:शुल्क एलपीजी गैस कनेक्शन का वितरण

पलामू सम्वाददाता

उपायुक्त डॉ. शांतनु  कुमार अग्रहरि के निर्देशानुसार जिला समाज कल्याण शाखा, जिला आपूर्ति शाखा और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड की ओर से पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति नगर भवन में निशुल्क गैस कनेक्शन वितरण समारोह का आयोजन किया गया. इसमें जिला अभिसरण कार्य योजना के तहत सीएसआर (कारपोरेट सामाजिक दायित्व) के माध्यम से 50 आंगनबाड़ी केंद्रों में नि:शुल्क एलपीजी गैस कनेक्शन का वितरण किया गया.  मुख्य अतिथि उपायुक्त शांतनु कुमार अग्रहरि ने आंगनबाड़ी केन्द्रों के लिए गैस कनेक्शन वितरित किया. 

मौके पर उपायुक्त ने कहा की आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका के सहयोग से पलामू जिला कुपोषण मुक्त जिला बनेगा. आंगनबाड़ी सेविका- सहायिकाओं को उनके उत्कृष्ट कार्यो के लिए सराहना करते हुए उपायुक्त ने प्रोत्साहित किया. साथ ही चेतावनी भी दी. कहा कि सुविधा दिया जा रहा है तो कार्य भी दिखनी चाहिए. अच्छे कार्य के लिए रिवार्ड है. कार्य में कोताही होने पर दंड का भी प्रावधान होता है. इसलिए सभी सकारात्मक सोच के साथ उन्नति के लिए कार्य करें.  उन्होंने कहा कि गैस कनेक्शन मिलने से आंगनबाड़ी केंद्र में सेविका-सहायिका को सुविधा होगी. भोजन पकाने में कोई दिक्कत नहीं होगी. उपायुक्त ने गैस का रेगुलर रिफलिंग सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया. कहा कि अन्य आंगनबाड़ी केंद्रों में भी निःशुल्क एलपीजी गैस कनेक्शन उपलब्ध कराए जाएंगे. इसके लिए बेहतर कार्य करने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि मां के बाद की जगह आंगनबाड़ी केंद्र है. जहां स्कूल के पहले बच्चे पढ़ाई करने पहुंचते हैं. आंगनवाड़ी केंद्र का संचालन कर रही सेविका और सहायिका अच्छे और ईमानदारी पूर्वक कार्य करें.  सुविधा दिया जा रहा है तो कार्य भी धरातल पर दिखनी चाहिए.  बच्चे और महिलाओं को लाभ मिले. उन्होंने पोषण अभियान को आगे बढ़ाने, आंगनबाड़ी केंद्र से मिलने वाली दलिया का उपयोग महिलाओं में सुनिश्चित कराने पर बल दिया. कहा कि दलिया से कई तरह के पकवान बन सकते हैं. इसके लिए सेविका, सहायिका महिलाओं को प्रेरित करें. उपायुक्त ने आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि पकवान बनाने के लिए उनमें इनोवेटिव आइडिया है.

कुपोषण मुक्त बनाने में सेविका,सहायिका की मुख्य भुमिका

डिप्टी मेयर मंगल सिंह ने कहा कि कुपोषण मुक्त  बनाने में आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका, सहायिका की मुख्य भूमिका होती है.  पूर्व में गैस नहीं होने से धुआं में महिलाओं को खाना बनानी पड़ती थी. जिससे कई तरह की बीमारियां होती थी.  लेकिन प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के प्रयास से अब लोगों को फायदा मिला है. 

गैस कनेक्शन से बच्चे और धातृ महिलाओं को मिलेगा लाभ

जिला परिषद उपाध्यक्ष संजय सिंह ने कहा कि सरकार  आंगनवाड़ी केंद्रों को विकसित कर रही है. गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने की सोच से बच्चे और धातृ महिलाओं को लाभ मिलेगा. पूर्व में चूल्हे पर खाना बनाने में कठिनाई होती थी. धुआं में रहना पड़ता था. इससे बीमारियां होती थी. गैस कनेक्शन मिलने से इन बीमारियों से निजात मिले


कार्यक्रम में  इनकी रही उपस्थिति


एलपीजी गैस कनेक्शन  वितरण कार्यक्रम में  जिला समाज कल्याण पदाधिकारी शत्रुंजय कुमार, जिला आपूर्ति पदाधिकारी नीरज कुमार सिंह अलावा

सीडीपीओ, सुपरवाइजर, आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका मौजूद थे.