उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी डॉ0 शान्तनु कुमार अग्रहरि द्वारा कार्यालय वेश्म में जनता दरबार का आयोजन किया गया। जनता दरबार में विभिन्न प्रखंडों से कुल 36 मामले आये।

उपायुक़त का जनता दरबार

पलामू सम्वाददाता

उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी डॉ0 शान्तनु कुमार अग्रहरि द्वारा कार्यालय वेश्म में जनता दरबार का आयोजन किया गया। जनता दरबार में विभिन्न प्रखंडों से कुल 36 मामले आये। उपायुक्त ने इन मामलां का त्वरित निष्पादन किया। साथ ही ऑन द स्पॉर्ट संबंधित विभाग के पदाधिकारियों को कार्रवाई का निर्देश दिया। 

जनता दरबार में पांडु प्रखंड से आये सुदेश यादव द्वारा छात्रवृति और साइकिल की राशि नहीं मिलने के संबंध में उपायुक्त के सामने शिकायत किया गया। उपायुक्त ने कल्याण विभाग के संबंधित पदाधिकारी को अविलंब इसका निष्पादन करने का निर्देश दिया। 

विश्रामपुर से विगनी देवी, चियांकी से ललिता वर्मा तथा सिंगरा की आरती देवी ने पारा शिक्षकों के मानदेय भुगतान को लेकर उपायुक्त से अनुरोध किया। उपायक्त ने तत्काल जिला शिक्षा अधीक्षक को पारा शिक्षकों के लंबित मानदेय भुगतान करने का निर्देश दिया। पांकी से आये सरफराज अंसारी ने आंगनबाडी में सेविका के चयन हेतु उपायुक्त के समक्ष आवेदन दिया, जिसे उपायुक्त ने जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को मामले का शीघ्र निष्पादन करने की बात कही।

नावाबाजार से आये महेंद्र महतो ने घर जलने के बाद मुआवजे की मांग को लेकर उपायुक्त के पास पहुंचे थे। उपायुक्त ने उनके आवेदन पर आपदा प्रबंधन के पदाधिकारी को मुआवजा से संबंधित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। वहीं पाटन से रीतेश तिवारी ने अपने जमीन का चौहद्दीकरण में आ रही समस्या को लेकर जनता दरबार में आवेदन दिया, जिसे उपायुक्त ने त्वरित कार्रवाई करते हुए अंचल अधिकारी, पाटन को उनकी उपस्थिति में जमीन का चौहद्दीकरण जल्द-से-जल्द करवाते हुए मामले का निष्पादन करने का निर्देश दिया। मेदिनीनगर सदर से पहुँची पूनम देवी ने रोजगार के लिए आवेदन किया, जिन्हें उपायुक्त ने नगर निगम में सफाई कर्मचारी के पद पर नियुक्त करने की बातें कही।

आज के जनता दरबार में मुख्यतः जमीन सीमांकन, प्रधानमंत्री आवास योजना, पारा शिक्षकों के लंबित मानदेय, छात्रवृति-साइकिल, पेंशन आदि से संबंधित शिकायत आये, जिसका निष्पादन उपायुक्त द्वारा तत्काल कर दिया गया।

जनता दरबार में कार्यपालक दण्डाधिकारी सुधीर कुमार, सहायक जिला जनसंपर्क पदाधिकारी बिजय कुमार ठाकुर, जिला शिकायत निवारण समन्वयक संदीप कुमार उपस्थित थे।